Home /News /nation /

अमित शाह ने जम्मू के इस शख्स को दिया अपना फोन नंबर, कहा- जब भी जरूरत हो कॉल करना

अमित शाह ने जम्मू के इस शख्स को दिया अपना फोन नंबर, कहा- जब भी जरूरत हो कॉल करना

जम्मू के स्थानीय निवासी के फोन में अपना नंबर शेयर करते गृह मंत्री अमित शाह (ANI)

जम्मू के स्थानीय निवासी के फोन में अपना नंबर शेयर करते गृह मंत्री अमित शाह (ANI)

समाचार एजेंसी ANI द्वारा जारी किए गए एक वीडियो में एक शख्स को केंद्रीय गृह मंत्री के बगल में बैठे देखा जा सकता है. अमित शाह ने उस शख्स से फोन नंबर लेने के साथ ही अपना नंबर भी दिया और कहा- 'जब भी जरूरत हो आप मुझे कॉल कर सकते हैं.'

    नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रविवार को जम्मू (Jammu Kashmir) स्थित मकलव सीमा का दौरा किया. इस दौरान उन्होंने कई स्थानीय निवासियों से संवाद किया. ऐसे ही एक निवासी से संवाद के दौरान अमित शाह ने उस शख्स से फोन नंबर लेने के साथ ही अपना नंबर भी दिया. उन्होंने उस शख्स से कहा- ‘जब भी जरूरत हो वह उन्हें कॉल कर सकते हैं.’ समाचार एजेंसी ANI द्वारा जारी किए गए एक वीडियो में एक शख्स को केंद्रीय गृह मंत्री के बगल में बैठे देखा जा सकता है. इस दौरान जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी मौजूद हैं. वीडियो में देखा जा सकता है कि शाह, उस शख्स के मोबाइल फोन में अपना नंबर साझा कर रहे हैं. पूर्ववर्ती राज्य जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किये जाने और इसे दो केंद्रशासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के बाद शाह का यह पहला जम्मू कश्मीर दौरा है.

    इससे पहले अपने तीन दिवसीय जम्मू कश्मीर दौरे के दूसरे दिन गृह मंत्री ने एक अनुसंधान केंद्र का उद्घाटन किया. साथ ही उन्होंने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जम्मू स्थित केंद्र के तीसरे चरण के कार्य की आधारशिला भी रखी. शाह ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में शुरू हुए विकास के दौर को कोई भी रोक नहीं सकता है.उन्होंने कहा, ‘यह माता वैष्णो देवी के मंदिर और प्रेम नाथ डोगरा की धरती है. यह श्यामा प्रसाद मुखर्जी के संघर्षों की धरती है. हम जम्मू-कश्मीर में शांति को बाधित नहीं होने देंगे.’

    370 हटाकर विकास का रास्ता बनाया- शाह
    अगस्त, 2019 में राज्य का विशेष दर्जा समाप्त किये जाने के बाद जम्मू कश्मीर में अपनी पहली जनसभा में शाह ने कहा कि मोदी ने जम्मू कश्मीर में जमीनी लोकतंत्र बहाल किया और विकास का नया चरण शुरू किया, जहां लाखों लोगों ने अनुच्छेद 370 के तहत अन्याय का सामना किया था. गृह मंत्री ने कहा, ‘लंबे अंतराल के बाद मैं जम्मू के भाइयों और बहनों से मिलने आया हूं. मैं खराब मौसम के कारण थोड़े तनाव में था और आपसे मिलने को लेकर असमंजस था. लेकिन माता वैष्णो देवी के आशीर्वाद से सूरज बाहर आया और हम मिले.’

    उन्होंने कहा, ‘मोदी सरकार ने पांच अगस्त, 2019 को ऐतिहासिक फैसला लिया और भेदभाव वाले अनुच्छेद 370 को हटाकर जम्मू कश्मीर के लाखों लोगों के विकास का रास्ता साफ किया, जिन्होंने वर्षों तक अन्याय का सामना किया.’ शाह ने कहा, ‘अब जम्मू कश्मीर में कोई भी मंत्री बन सकता है और मुख्यमंत्री बन सकता है. पहाड़ियों का इस्तेमाल वोट बैंक के रूप में किया जा रहा है, लेकिन उन्हें उचित प्रतिनिधित्व नहीं दिया जाता.’ (भाषा इनपुट के साथ)

    Tags: Amit shah, Article 370, BJP, Jammu kashmir, Narendra modi

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर