Home /News /nation /

अमित शाह ने पुलवामा के CRPF कैंप में बिताई रात, आतंकी हमले में शहीद 40 जवानों को दी श्रद्धांजलि

अमित शाह ने पुलवामा के CRPF कैंप में बिताई रात, आतंकी हमले में शहीद 40 जवानों को दी श्रद्धांजलि

अमित शाह ने मंगलवार सुबह 2019 के पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि दी.

अमित शाह ने मंगलवार सुबह 2019 के पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि दी.

अमित शाह ने सोमवार को पुलवामा जिले में शहीद स्मारक पर सीआरपीएफ जवानों के साथ रात बिताने के लिए जम्मू-कश्मीर के अपने तीन दिवसीय दौरे को आगे बढ़ाने का फैसला किया था.

    श्रीनगर. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने मंगलवार सुबह 2019 के पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) में शहीद हुए 40 सीआरपीएफ जवानों (CRPF) को श्रद्धांजलि दी. शाह ने सोमवार को पुलवामा जिले में शहीद स्मारक पर सीआरपीएफ जवानों के साथ रात बिताने के लिए जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के अपने तीन दिवसीय दौरे को आगे बढ़ाने का फैसला किया था.  सूत्रों ने News18 को बताया कि अमित शाह इंटेलिजेंस ब्यूरो के निदेशक, सीआरपीएफ के डीजी और सचिव सहित दिल्ली से पूरे शीर्ष अधिकारियों के अमले के साथ जम्मू-कश्मीर पहुंचे हैं.

    अमित शाह की ओर से मंगलवार सुबह ट्वीट किया गया, ‘पुलवामा के कायराना आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के बहादुर जवानों को आज पुलवामा शहीद स्मारक पर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की. देश की रक्षा हेतु आपका समर्पण व सर्वोच्च बलिदान आतंकवाद के समूल नाश के हमारे संकल्प को और दृढ़ करता है. वीर बलिदानियों को कोटि-कोटि वंदन.’ इसके बाद शाह ने पौधारोपण भी किया. उन्होंने ट्विटर पर लिखा- ‘पुलवामा के शहीद स्मारक पर हमारे वीर बलिदानियों की स्मृति में पौधारोपण किया.’

    अर्धसैनिक बलों के जवानों के साथ बिताना चाहता था समय- शाह
    इससे पहले शाह सोमवार को कहा था कि वह अर्धसैनिक बलों के जवानों के साथ समय बिताना चाहते था. वह सोमवार रात सीआरपीएफ कैंप में ही रुके थे. इस बाबत एक ट्वीट में शाह ने लिखा-‘मैं अर्धसैनिक बलों के जवानों के साथ समय बिताना चाहता था, उनसे मिलकर उनके अनुभव और कठिनाइयों को जानना और जज़्बे को देखना चाहता था. इसलिए पुलवामा के लेथपोरा सीआरपीएफ कैम्प में अपने बहादुर जवानों के साथ भोजन किया व आज का रात्रि विश्राम भी कैम्प में जवानों के साथ करूंगा.’

    शाह ने सीआरपीएफ शिविर में सुरक्षा कर्मियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘मैं एक रात आप लोगों के साथ गुजारना चाहता हूं और आपकी समस्याओं को समझना चाहता हूं.’ उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश के उनके दौरे के दौरान यह सबसे अहम पड़ाव है. शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर में कानून व्यवस्था की स्थिति बहुत हद तक सुधरी है. उन्होंने कहा कि ‘उन्हें उम्मीद है कि वह अपने जीवनकाल में शांतिपूर्ण जम्मू कश्मीर देख सकेंगे जिसका सपना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देखा है.’

    CRPF कैंप में जवानों को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, ‘पथराव की घटनाएं तभी दिखाई देती हैं जब हम उन्हें देखना चाहते हैं. ऐसा भी समय था जब कश्मीर में पथराव आम बात थी. ऐसी घटनाएं बहुत हद तक कम हो गई हैं. लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि हम अभी संतुष्ट नहीं होना चाहिए.’

    उन्होंने कहा. ‘आतंकवाद के प्रति नरेंद्र मोदी सरकार की बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करने की नीति है. हम बर्दाश्त नहीं कर सकते. यह मानवता के विरुद्ध है. मानवता के प्रति जघन्य अपराध से जुड़े लोगों से कश्मीर के लोगों को बचाना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए.’ गृह मंत्री ने अगस्त 2019 में अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान निरस्त होने के बाद खूनखराबा नहीं होने देने के लिए सीआरपीएफ और अन्य सुरक्षा बलों के प्रति आभार व्यक्त किया. (भाषा इनपुट के साथ)

    Tags: Amit shah, Jammu kashmir, Pulwama attack, Pulwama Terror Attack

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर