असम में बोले अमित शाह- राज्य में घुसपैठिये कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल के वोटबैंक पर रोक लगाएगी बीजेपी

इस साल असम में विधान सभा चुनाव (Assam Assembly Election) होने वाले हैं और इस कारण अमित शाह का यह दौरा काफी अहम माना जा रहा है.

Amit shah Rally in Assam: असम में रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा, 'कांग्रेस सरकार को और बदरुद्दीन अजमल को मैं पूछना चाहता हूं कि वर्षों तक यहां इनकी सरकार रही. आपने असम के लिए क्या किया?'

  • Share this:
    कोकराझार. असम में इस साल अप्रैल-मई माह में प्रस्तावित विधानसभा चुनावों (Assam Assembly Elections) से पहले राज्य में राजनीतिक सरगर्मियां बढ़ गई हैं. विधानसभा चुनावों से पहले असम के दौर पर पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने असम के नलबाड़ी में जनसभा को संबोधित किया. अमित शाह ने कहा, 'असम में कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल घुसपैठियों के लिए सारे दरवाजे खोल देगी, क्योंकि ये उनकी वोटबैंक है. घुसपैठ को बीजेपी की सरकार ही रोक सकती है.' शाह ने कहा, जो वर्षों तक यहां शासन में रहें हैं, मैं उनको पूछना चाहता हूं कि आपने असम की संस्कृति के लिए क्या किया? वोट बटोरने के अलावा इन लोगों ने कुछ नहीं किया.

    गृह मंत्री ने कहा असम में NDA सरकार ने श्रीमान शंकरदेव को चिर स्मरणीय बनाने के लिए कदम उठाया है. कांग्रेस कई बार भाजपा पर साम्प्रदायिक होने का आरोप लगाती है, वहीं कांग्रेस केरल में मुस्लिम लीग के साथ है और असम में बदरुद्दीन अजमल के साथ गठबंधन किया है. कांग्रेस असम को किस दिशा में ले जाएगी? अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस अंग्रेजों की नीति पर चलती रही. फूट डालो और राज करो. कभी असमी-गैरअसमी, अभी आदिवासी-गैर आदिवासी, कभी बोडो-गैरबोडो. यहां लोगों को लड़ाते-लड़ाते वर्षों तक असम को रक्त रंजित किया. 10 हजार से ज्यादा युवाओं का खून बहा.



    कांग्रेस सरकार से पूछे सवाल?
    शाह ने कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल से सवाल पूछा कि कांग्रेस सरकार और बदरुद्दीन अजमल की यहां वर्षों तक सरकार रही. उन्होंने असम के लिए क्या किया? 13वें वित्त आयोग में राज्य को सिर्फ 79 हजार करोड़ रुपये दिए गए. 14वें वित्त आयोग में भाजपा सरकार ने 1.55 लाख करोड़ रुपये राज्य को दिए. असम में विकास की बयार चल रही है. नए रास्ते, अस्पताल, कॉलेज बन रहे हैं, उद्योग लग रहे हैं. आने वाले दिनों में असम में बाड़ की समस्या का समाधान भी भाजपा की सरकार करेगी.

    नलबाड़ी से पहले शाह ने कोकराझार में बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल (BTC) की बैठक में शामिल हुए. बैठक के बाद कोकराझार में जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, 'आज इस ऐतिहासिक रैली में पूरे देश को कहना चाहता हूं कि मेरे राजनीतिक जीवन में मैंने बहुत रैलियां देखी, मगर आज इस रैली को संबोधित करते हुए मेरे मन को अपार शांति का अनुभव हो रहा है.'

    ये भी पढ़ेंः- असम चुनाव: कांग्रेस की तैयारियों में मदरसों का मुद्दा बना रोड़ा, जानें क्या है मामला

    अप्रैल-मई में हो सकते हैं विधानसभा चुनाव
    असम में विधानसभा चुनाव इस साल अप्रैल-मई में होने की संभावना है. इससे पहले असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल द्वारा गुवाहाटी पहुंचने पर अमित शाह का स्वागत किया गया था. गुवाहाटी पहुंचने के बाद, अमित शाह ने गुवाहाटी में केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवानों के लिए आयुष्मान स्वास्थ्य सेवा योजना का शुभारंभ किया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.