Assembly Banner 2021

पश्चिम बंगाल चुनाव के लिए BJP का घोषणा पत्र जारी, पहली कैबिनेट में CAA लागू करने का वादा

गृह मंत्री अमित शाह ने जारी किया भाजपा का घोषणा पत्र

गृह मंत्री अमित शाह ने जारी किया भाजपा का घोषणा पत्र

BJP Manifesto for West Bengal Assembly Elections: बीजेपी ने घोषणापत्र जारी करने से पहले राज्‍य में बड़ा अभियान चलाया था और लोगों से राय मांगी थी कि वह राज्‍य में किस तरह का बदलाव चाहते हैं. बीजेपी की राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने खुद इस अभियान की शुरुआत की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 4:41 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों (West Bengal Assembly Elections) के लिए भारतीय जनता पार्टी का घोषणा पत्र (BJP Manifesto) जारी कर दिया है. इस मौके पर बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष, कैलाश विजयवर्गीय, बाबुल सुप्रियो, दिनेश त्रिवेदी समेत कई भाजपा नेता मौजूद रहे. घोषणा पत्र जारी करने के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि भाजपा की सरकारें बनने के बाद ही सरकारें संकल्प पत्र पर चलने लगी हैं. शाह ने कहा कि हमारे लिए यह संकल्प पत्र बहुत महत्वपूर्ण है, यह सोनार बांग्ला का संकल्प पत्र है.

अमित शाह ने कहा कि संकल्प पत्र में सिर्फ घोषणाएं नहीं हैं, बल्कि ये संकल्प है दुनिया के सबसे बड़े दल का, ये संकल्प है देश में 16 से ज्यादा राज्यों में जिसकी सरकार है उस पार्टी का, ये संकल्प है जिसकी पूर्ण बहुमत से लगातार दो बार बनी सरकार का. शाह ने कहा कि इस घोषणा पत्र का मूल उद्देश्य सोनार बांग्ला है. शताब्दियों तक बंगाल ने कई मोर्चों पर भारत का प्रतिनिधित्व किया. बंगाल हर सेक्टर में आगे रहता था.

भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में महिलाओं किसानों, अनुसूचित जातियों, जनजातियों, मछुआरों को लेकर खास वादे किए गए हैं. इसके साथ ही पश्चिम बंगाल के किसानों के लिए किसान सम्मान निधि की बकाया राशि दिए जाने का वादा भी भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में किया है.



Youtube Video

पढ़ें भाजपा के घोषणा पत्र की खास बातें-

  • महिलाओं को नौकरी में 33 प्रतिशत आरक्षण

  • किसानों को किसान सम्मान निधि का बकाया 18 हजार रुपये, उसके बाद केंद्र के 6000 रुपये सालाना में राज्य के 4000 रुपये जोड़कर 10 हजार रुपये

  • पहली कैबिनेट बैठक में बंगाल के हर गरीब को आयुष्मान भारत योजना का लाभ

  • मछुआरों को सालाना 6 हजार रुपये

  • घुसपैठ पर पूरी तरह लगेगी लगाम

  • हर त्योहार बेरोक-टोक मनाया जाएगा, कोर्ट की मंजूरी की जरूरत नहीं होगी

  • पहली कैबिनेट में लागू किया जाएगा नागरिकता संशोधन एक्ट

  • ओबीसी आरक्षण में कई समुदायों को जोड़ा जाएगा

  • सभी महिलाओं के लिए केजी से पीजी तक की मुफ्त पढ़ाई

  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट में महिलाओं के लिए निशुल्क यात्रा

  • भूमिहीन किसान को सालाना 4000 रुपये

  • तीन नए एम्स बनाए जाएंगे

  • हर परिवार में कम से कम एक सदस्य को रोजगार

  • सातवां वेतन आयोग लागू किया जाएगा

  • मुख्यमंत्री कार्यालय के अंतर्गत एंटी करप्शन हेल्पलाइन

  • हर परिवार को शौचालय और साफ पीने का पानी

  • नोबल प्राइज की तर्ज पर टैगोर प्राइज और ऑस्कर की तर्ज पर सत्यजीत रे प्राइज

  • 11 हजार करोड़ का सोनार बांग्ला फंड

  • गरीब और अनुसूचित जाति की बालिकाओं के लिए विशेष छात्रवृत्ति

  • विधवा पेंशन एक हजार रुपये से बढ़ाकर तीन हजार रुपये

  • फसल के सही दाम के लिए पांच हजार करोड़ का इंटरवेंशन फंड बनाया जाएगा

  • कृषक सुरक्षा इंफ्रास्ट्रक्चर फंड बनाया जाएगा

  • किसान क्रेडिट कार्ड अपडेट कर रूपे कार्ड दिया जाएगा

  • नौकाओं का 100 प्रतिशत मशीनीकरण किया जाएगा

  • अमूल के साथ मिलकर बांग्ला श्वेत क्रांति की शुरुआत की जाएगी. राज्य के 5 जोन में पांच मेगा यूनिट बनाई जाएगी.

  • आशा कार्यकर्ताओं का मानदेय बढ़ाया जाएगा

  • मेडिकल सीटों को दोगुना बनाने का प्रयास किया जाएगा

  • वन नेशन वन हेल्थ कार्ड बनाया जाएगा

  • शिक्षित रोजगारों के लिए प्रत्येक ब्लॉक में नेताजी सुभाष चंद्र बोस बीपीओ की शुरुआत की जाएगी.

  • आईआईटी, आईआईएम की तर्ज पर 5 विश्वविद्यालयों की स्थापना

  • भर्तियों के लिए कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट की शुरुआत

  • हर साल खेलो बांग्ला महाकुंभ

  • अम्फान, बुलबुल आदि साइक्लोन के राहत कार्यों में घोटाले की जांच होगी.

  • सामुदायिक हिंसा और राजनीतिक हिंसा समेत तमाम अपराधों पर नकेल कसने के लिए समुचित तंत्र

  • सभी राजनीतिक हिंसा के पीड़ितों के परिवारों को 25 लाख रुपये मुआवजा.

  • दुर्गापूजा को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति दिलाने के प्रयास किए जाएंगे.


बीजेपी ने घोषणापत्र जारी करने से पहले राज्‍य में बड़ा अभियान चलाया था और लोगों से राय मांगी थी कि वह राज्‍य में किस तरह का बदलाव चाहते हैं. बीजेपी की राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने खुद इस अभियान की शुरुआत की थी. इसके लिए करीब दो करोड़ से ज्यादा लोगों से फोन और वेबसाइट के जरिए भी सुझाव लिए गए थे. बीजेपी ने राज्‍य के लोगों की मांग को देखते हुए ही अपना चुनावी घोषणापत्र तैयार किया है.

बता दें कि बंगाल में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव होने है. पहले चरण के चुनाव के लिए 27 मार्च को मतदान होगा. इस बार बंगाल चुनाव में बीजेपी और टीएमसी के बीच कड़ी टक्‍कर देखने को मिल रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज