होम /न्यूज /राष्ट्र /गृह मंत्री अमित शाह का कांग्रेस पर आरोप-2014 से पहले पार्टी ने मेडिकल क्षेत्र में सुधार के नाम पर पैसा बनाया

गृह मंत्री अमित शाह का कांग्रेस पर आरोप-2014 से पहले पार्टी ने मेडिकल क्षेत्र में सुधार के नाम पर पैसा बनाया

गृहमंत्री अमित शाह ने गुजरात दौर के दौरान कांग्रेस पर निशाना साधा.(ANI)

गृहमंत्री अमित शाह ने गुजरात दौर के दौरान कांग्रेस पर निशाना साधा.(ANI)

गृहमंत्री शाह सोमवार से दो दिन के गुजरात दौरे पर हैं, जहां इस साल दिसंबर में चुनाव होने हैं. गांधीनगर जिले के कलोल में ...अधिक पढ़ें

अहमदाबाद. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आरोप लगाया कि 2014 से पहले कांग्रेस के सत्ता में रहने के दौरान पार्टी नेताओं ने स्वास्थ्य ढांचे में सुधार नहीं किया. बल्कि चिकित्सा शिक्षा सुविधाओं को उन्नत बनाने के नाम पर ‘पैसा बनाया’. गांधीनगर जिले के कलोल में मंगलवार को एक सभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2014 में सत्तासीन होने के बाद स्वास्थ्य क्षेत्र में परिदृश्य में बदलाव आया. उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत या पीएम-जेएवाई योजना के तहत 60 करोड़ गरीब नागरिकों को पांच लाख रुपये तक का निशुल्क उपचार मिल रहा है. इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने योजना के क्रियान्वयन के लिए जरूरी स्वास्थ्य ढांचे को खड़ा करने के लिहाज से 64,000 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं. इस योजना के तहत 600 जिलों के अस्पतालों में 35,000 नए बिस्तर बढ़ाए गए हैं.

दो दिन के गुजरात दौर पर हैं अमित शाह
शाह ने कहा कि देश में एकीकृत प्रयोगशालाओं और अनुसंधान केंद्रों की स्थापना के लिए 1,600 करोड़ रुपए का अलग बजटीय प्रावधान किया गया है. शाह सोमवार से दो दिन के गुजरात दौरे पर हैं जहां इस साल दिसंबर में चुनाव होने हैं. शाह ने आज दो अस्पतालों की आधारशिला भी रखी. 750 बिस्तरों के एक अस्पताल का संचालन एक ट्रस्ट करेगा और 150 बिस्तर का एक और अस्पताल कलोल में बनाया जाएगा जिसका संचालन कर्मचारी राज्य बीमा योजना के हाथ में होगा. गांधीनगर से लोकसभा सदस्य शाह ने कहा कि अगर अस्पतालों में डॉक्टर ही नहीं हों तो ऐसे बुनियादी ढांचे का क्या मतलब? कांग्रेस शासन में नेता चिकित्सा शिक्षा सुविधाओं में सुधार के नाम पर पैसा बनाने में व्यस्त थे. प्रधानमंत्री मोदी ने पद संभालने के बाद परिदृश्य को सुधारा.

गृहमंत्री ने कहा पिछले 8 सालों में कॉलेजों और मेडिकल सीटों की संख्या हुई दोगुनी
उन्होंने कहा कि देश में 2013-14 में निजी और सरकारी, दोनों क्षेत्रों में 387 मेडिकल कॉलेज चल रहे थे और प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों से यह संख्या 600 तक पहुंच गई है. उन्होंने आगे कहा कि एमबीबीएस सीटों की संख्या भी बढ़ी है. 2013-14 में 51,384 सीटें थीं जो अब बढ़कर 89,875 हो गई हैं. पीजी सीटें भी 31,185 से बढ़कर आज 60,202 हो गई हैं. इसका मतलब है कि पिछले आठ साल में कॉलेजों और मेडिकल सीटों की संख्या दोगुनी हो गई है. दस नए एम्स चल रहे हैं, वहीं 22 और शुरू होने वाले हैं. गृहमंत्री अपने संसदीय क्षेत्र के कुछ इलाकों में अनेक परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन भी करेंगे. शाम को वह गांधीनगर में अपने पैतृक शहर मानसा जाएंगे और नवरात्रि के दूसरे दिन बहुचार माता मंदिर में ‘आरती’ में हिस्सा लेंगे.

Tags: Amit shah bjp, Congress, Gujarat, Politics

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें