BJP का मिशन बंगाल: गृहमंत्री अमित शाह बोले- 5 साल हमें मौका दीजिए बनाएंगे सोनार बांग्ला

शाह ने कहा,कम्यूनिस्ट शासन से त्रस्त होकर ममता बनर्जी के हाथों में बंगाल की कमान दी गई थी.
शाह ने कहा,कम्यूनिस्ट शासन से त्रस्त होकर ममता बनर्जी के हाथों में बंगाल की कमान दी गई थी.

Amit shah west bengal visit: बंगाल दौरे के दूसरे दिन शाह ने कहा, 'मैं कई बार दक्षिणेश्वर आया हूं और यहां से ऊर्जा प्राप्त कर वापस गया हूं. आज इस भूमि पर तुष्टिकरण की राजनीति चल रही है इससे बंगाल की महान परंपरा आहत हुई है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 7:29 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले राज्य में सियासी गतिविधियां बढ़ गई हैं. राज्य में बीजेपी को मजबूती प्रदान करने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) दो दिन के दौरे पर हैं. बंगाल दौरे के दूसरे दिन सबसे पहले शाह ने शुक्रवार सुबह दक्षिणेश्वर मंदिर में पूजा की. दक्षिणेश्वर मंदिर में पूजा करने के बाद शाह ने मटुआ समुदाय के सदस्य के घर पर खाना खाया. अलग-अलग समुदायों से मिलने के बाद शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया.  शाह ने कहा, 'टीएमसी सरकार और पश्चिम बंगाल के सीएम पिछले 10 वर्षों में उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाए हैं. वादे पूरे नहीं हुए हैं और उम्मीद सत्ताधारी दल के खिलाफ गुस्से में तब्दील हो गई है.

अमित शाह ने क्या कहा प्रेस कॉन्फ्रेंस में
- मैं बंगाल की जनता को आश्वस्त करने आया हूं कि आपने कांग्रेस को भी एक मौका दिया, कम्युनिस्टों को भी बार-बार मौके दिए और 2 मौके ममता जी को दिए. एक मौका मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा को दे दीजिए, हम 5 वर्ष के भीतर सोनार बांग्ला बनाने का वादा करते हैं.

- कम्युनिस्ट शासन से त्रस्त होकर ममता बनर्जी के हाथों में बंगाल की कमान दी गई थी. मगर आज मां, माटी और मानुष का नारा तुष्टिकरण, तानाशाही और टोलबाजी में परिवर्तित हो गया है.
- तृणमूल सरकार जनता की अपेक्षाओं को पूरा नहीं कर सकी है. बंगाल की जनता में एक अजीब प्रकार का वातावरण दिख रहा है. मैं जहां भी गया तो सैकड़ों लोग सकड़ों पर आए थे.



- गृहमंत्री ने पश्चिम बंगाल चुनावों पर इशारा करते हुए कहा, हमारा लक्ष्य स्पष्ट है कि बंगाल का विकास हो, देश की सीमाएं सुरक्षित हों, बंगाल के अंदर घुसपैठ रुके.

- राज्य की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, 'TMC और दीदी का एकमात्र लक्ष्य है कि अगले टर्म में भतीजे को मुख्यमंत्री बना देना है. अब बंगाल की जनता को तय करना है कि परिवारवाद चाहिए या विकासवाद चाहिए.'

मुख्यमंत्री ममता से पूछे कई गंभीर सवाल
अमित शाह ने कहा, मैं ममता जी से पूछना चाहता हूं कि उन्होंने राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो को 2018 के बाद से पश्चिम बंगाल के अपराध रिकॉर्ड क्यों नहीं भेजे? आप क्या छिपाने की कोशिश कर रहे हैं और क्यों? लोग राज्य की कानून-व्यवस्था की स्थिति के बारे में जानना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि साइक्लोन और कोरोना महामारी में भी भ्रष्टाचार करने से तृणमूल कांग्रेस पीछे नहीं हटी है. तुष्टिकरण से बंगाल की जनता के बहुत बड़े वर्ग के मन में सवाल खड़े हुए हैं. एक प्रकार से बंगाल में 3 कानून हैं. एक अपने भतीजे के लिए, एक अपने वोट बैंक के लिए और एक आम लोगों के लिए.

200 सीटों के साथ बीजेपी बनाएगी सरकार
ममता बनर्जी के गढ़ में बरसते हुए शाह ने कहा, 'मैं निश्चित रूप से कहता हूं कि आने चुनाव में बंगाल में हम 200 से ज्यादा सीटों के साथ बीजेपी की सरकार बनाने जा रहे हैं.'

बंगाल में चल रही है तुष्टिकरण की राजनीति
मंदिर में पूजा करने के बाद शाह ने कहा, 'मैं कई बार दक्षिणेश्वर आया हूं और यहां से ऊर्जा प्राप्त कर वापस गया हूं. आज इस भूमि पर तुष्टिकरण की राजनीति चल रही है इससे बंगाल की महान परंपरा आहत हुई है. मेरी मां काली से यही प्रार्थना है कि मोदी के नेतृत्व में ये देश फिर से एक बार दुनिया में गौरवमयी स्थान प्राप्त करे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज