दिल्ली हिंसा में शहीद हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की पत्नी को गृह मंत्री अमित शाह ने लिखा पत्र, जताया दुख

गृह मंत्री अमित शाह (File Photo)

उत्तर पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर भड़की हिंसा में हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौत हो गई थी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर भड़की हिंसा में मारे गए दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की पत्नी को पत्र लिखकर दुख प्रकट किया है. गृह मंत्री ने लिखा है कि मैं आपके पति की असामयिक मृत्यु पर दुख और गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. 42 वर्ष के हेड कांस्टेबल रतन लाल सहायक पुलिस आयुक्त, गोकुलपुरी के कार्यालय से जुड़े हुए थे.



    गृह मंत्री ने लिखा, "आपके बहादुर पति समर्पित पुलिसकर्मी थे जिन्होंने कठिन चुनौतियों का सामना किया. सच्चे सिपाही की तरह उन्होंने इस देश की सेवा के लिए सर्वोच्च कुर्बानी दी. मैं ईश्वर से आपको इस दुख और असमय क्षति को सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना करता हूं." शाह ने कहा कि इस दुख की घड़ी में पूरा देश आपके परिवार के साथ है.

    परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटियां, एक बेटा
    पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शन के दौरान पुलिस कर्मियों पर किये गए पथराव में वह घायल हो गए थे. उन्होंने बताया कि रतन लाल मूल रूप से राजस्थान के सीकर के रहने वाले थे और 1998 में दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल के पद पर भर्ती हुए थे. उनके परिवार में पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है. तीनों बच्चे अभी पढ़ाई कर रहे हैं. रतन लाल की मां संतरा देवी और भाई दिनेश गांव में परिवार के साथ रहते हैं. उनके एक भाई बेंगलुरु में रहते हैं.

    बता दें इस हिंसा में घायल हुए एक शख्स की मंगलवार को मौत हो गई है. इसे मिलाकर कल से अब तक कुल 10 लोगों की मौत हो चुकी है.

    इससे पहले इस मामले में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को दिल्ली की स्थिति पर मुख्य राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि सभी राजनीतिक पार्टियां दलगत राजनीति से ऊपर उठें और जनता के बीच भय और अफवाहों के माहौल को दूर करें.

    11 FIR दर्ज
    वहीं दिल्ली पुलिस के डीसीपी एमएस रंधावा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन में हिंसा के मामले में 11 एफआईआर दर्ज की गई हैं और कई लोगों को हिरासत में लिया गया है. दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में लगभग एक हजार पुलिसकर्मियों की सशस्त्र बटालियन तैनात की जा रही है और अंतरराज्यीय सीमाओं पर करीब से नजर रखी जा रही है.

    ये भी पढ़ें :-

    दिल्‍ली हिंसा: अमित शाह बोले- सभी दल मिलकर भय, अफवाहों के माहौल को दूर करें

    Delhi Violence: दावा, बच्चों के लिए खाने-पीने का सामान लेने गया था फुरकान

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.