मजदूरों पर 'अन्याय': अमित शाह की चिट्ठी के बाद ममता बनर्जी ने दी 8 ट्रेनों को दी मंजूरी

मजदूरों पर 'अन्याय': अमित शाह की चिट्ठी के बाद ममता बनर्जी ने दी 8 ट्रेनों को दी मंजूरी
गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah)

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को चिट्ठी लिखी इसके बाद ममता सरकार ने 8 ट्रेनों को मंजूरी दी.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल (West Bengal)  सरकार ने शनिवार को आलोचना का सामना करने के बाद कोरोनोवायरस लॉकडाउन (Coronavirus lockdown) के कारण राज्य में लौटने की इच्छा रखने वाले प्रवासी श्रमिकों को वापस लाने के लिए आठ विशेष ट्रेनों को चलाने की अनुमति दी.  सरकार ने यह फैसला गृह मंत्री अमित शाह की चिट्ठी के बाद लिया जिसमें उन्होंने 'मजदूरों के साथ हो रहे अन्याय' की बात कही थी. बता दें प्रवासी मजदूरों को उनके राज्य में भेजने को लेकर देश भर में चल रही कवायद के बीच गृह मंत्री (Home Ministry) अमित शाह (Amit Shah) ने पश्चिम बंगालकी सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को चिट्ठी लिखी थी.

इसमें पूछा गया थाकि प्रवासियों को ट्रेन से घर वापस जाने में मदद क्यों नहीं की जा रही है. ममता को शाह की चिट्ठी में कहा गया है कि अन्य राज्यों की तरह बंगल में फंसे प्रवासी भी अपने घर वापस जाने की इच्छा रखते हैं. इससे मुझे दुख होता है कि पश्चिम बंगाल सरकार इस संबंध में सहयोग नहीं कर रही है. कहा गया कि पश्चिम बंगाल ट्रेन की आवाजाही के लिए अपेक्षित अनुमति नहीं दे रहा है.

ट्रेनों को पश्चिम बंगाल पहुंचने न देना प्रवासी मजदूरों के साथ अन्याय
देश के विभिन्न हिस्सों से अलग-अलग गंतव्य स्थानों तक प्रवासी मजदूरों को ले जाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनों का संदर्भ देते हुए, गृहमंत्री ने पत्र में कहा कि केंद्र ने दो लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने की सुविधा प्रदान की है.



शाह की चिट्ठी में कहा गया था कि ट्रेनों को पश्चिम बंगाल पहुंचने न देना प्रवासी मजदूरों के साथ अन्याय है, इससे उनके लिए और मुश्किलें पैदा होंगी. बनर्जी को लिखे अपने पत्र में शाह ने कहा, 'पश्चिम बंगाल सरकार प्रवासियों के साथ गाड़ियों को राज्य में पहुंचने की अनुमति नहीं दे रही है. यह बंगाल में प्रवासी मजदूरों के साथ अन्याय है. इससे उनके लिए और कठिनाई पैदा होगी.'



शाह की चिट्ठी पर टीएमसी ने दिया यह जवाब
वहीं तृणमूल कांग्रेस के अभिषेक बनर्जी ने पश्चिम बंगाल सरकार पर प्रवासियों को लेकर आने वाली ट्रेनों को न आने देने का आरोप लगाने वाले पत्र को लेकर गृह मंत्री अमित शाह से कहा कि वह या तो आरोप साबित करें या माफी मांगें. टीएमसी के अभिषेक बनर्जी ने शाह के पत्र पर पलटवार करते हुए कहा कि गृह मंत्री अमित शाह हफ्तों तक चुप्पी साधे रखने के बाद केवल झूठ से लोगों को गुमराह करने के लिए बोलते हैं.

बता दें केंद्र सरकार की घोषणा के बाद देश के अलग-अलग हिस्सों से रेल सेवा शुरू कर दी गई है जिसमें प्रवासी श्रमिक सवार होकर अपने-अपने राज्य आ रहे हैं लेकिन पश्चिम बंगाल के हालात से गृह मंत्रालय संतुष्ट नहीं है क्योंकि ट्रेनें शुरू करने के बाद वहां अभी ट्रेनों को नहीं घुसने दिया जा रहा है.

दरअसल प्रवासी श्रमिकों की दिक्कतों को देखते हुए सरकार ने जो रेल सेवा शुरू की थी उसके बाद इसकी समीक्षा की गई, सिलसिलेवार तरीके से हर राज्य की परिस्थिति का आकलन किया गया जिसके बाद पाया गया कि पश्चिम बंगाल में यह स्थिति उपजी है.

यह भी पढ़ें:- कोरोना के इलाज में आजमाई जाएगी फैविपिराविर और हर्बल दवाएं, क्लिनिकल ट्रायल को मंजूरी
First published: May 9, 2020, 9:56 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading