UAPA बिल पर अमित शाह ने दिग्विजय सिंह को दिया करारा जवाब, NIA पर कही ये बात

गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में UAPA संशोधन बिल में चर्चा के दौरान कहा कि एनआईए के तीन मामलों में ही सजा नहीं हो सकी है

News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 4:05 PM IST
UAPA बिल पर अमित शाह ने दिग्विजय सिंह को दिया करारा जवाब, NIA पर कही ये बात
UAPA बिल पर गृहमंत्री ने दिग्विजय सिंह को दिया जवाब, NIA पर कही ये बात
News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 4:05 PM IST
UAPA (गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) विधेयक) संशोधन बिल पर शुक्रवार को राज्यसभा में चर्चा की गई. चर्चा के दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने विपक्ष के उन सभी सवालों का जवाब दिया, जिसको लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर हमला कर रहा था. चर्चा के दौरान अमित शाह ने कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह के उन सवालों का भी जवाब दिया जिसमें उन्होंने NIA पर केस साबित ना करने का आरोप लगाया था.

गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में UAPA संशोधन बिल में चर्चा के दौरान कहा कि एनआईए के तीन मामलों में ही सजा नहीं हो सकी है. इस दौरान अमित शाह ने उन मामलों का जिक्र भी किया. गृहमंत्री ने बताया कि समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट मामले में एनआईए ने कुछ लोगों को पकड़ा था लेकिन चुनाव पास आ जाने के कारण कांग्रेस की सरकार ने उन सभी लोगों को छोड़ दिया. यही नहीं कुछ विशेष लोगों को नकली मामला बनाकर पकड़ा गया था.

अमित शाह ने दिग्विजय सिंह को जवाब देते हुए कहा कि आप कोर्ट का फैसला पढ़िए, जिन लोगों को आज छोड़ा गया है, उसकी वजह ये रही कि NIA उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं ला पाई. गृहमंत्री ने कहा ये मामला कांग्रेस सरकार के समय का है इसलिए आप हमारे ऊपर आरोप नहीं लगा सकते हैं. उन्होंने बताया कि इस मामले में चार्जशीट यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान दायर की गई थी. शाह ने कहा कि यूपीए सरकार को बताना चाहिए कि आखिर अगर ये लोग निर्दोष थे तो फिर जिन्होंने बम धमाका किया उन्हें क्यों छोड़ा गया था. उसके पीछे क्या कारण था.

इसके साथ ही गृहमंत्री अमित शाह ने मालेगांव ब्लास्ट और मक्का मस्जिद मामले का भी उदाहरण दिया.

गृह मंत्री ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि उस वक्त आतंकवाद को एक धर्म से जोड़ा गया और चुनाव में फायदा लेने की कोशिश की गई.

यह भी पढ़ें- जानें क्या है UAPA संशोधन बिल की खास बातें

UAPA बिल राज्यसभा में पास, संगठन के साथ अब शख्स भी घोषित हो सकेगा आतंकी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 2, 2019, 1:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...