लाइव टीवी

गृह मंत्रालय ने एनआईए को सौंपी डीएसपी दविंदर सिंह मामले की जांच! एजेंसी को नोटिफिकेशन का इंतजार

News18Hindi
Updated: January 14, 2020, 5:33 PM IST
गृह मंत्रालय ने एनआईए को सौंपी डीएसपी दविंदर सिंह मामले की जांच! एजेंसी को नोटिफिकेशन का इंतजार
गृह मंत्रालय ने डीएसपी दविंदर सिंह मामले की जांच एनआईए को सौंप दी है.

राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में हिजबुल मुजाहिद्दीन (Hizbul Mujahideen) आतंकियों के साथ गिरफ्तार किए गए डीएसपी दविंदर सिंह (DSP Davinder Singh) के मामले की जांच सौंपे जाने को लेकर गृह मंत्रालय (Home Ministry) का नोटिफिकेशन अब तक उसे नहीं मिल पाया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2020, 5:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्रीय गृह मंत्रालय (MHA) ने जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में हिजबुल मुजाहिद्दीन (Hizbul Mujahideen) के आतंकियों के साथ गिरफ्तार किए गए डीएसपी दविंदर सिंह (DSP Davinder Singh) के मामले की जांच राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को सौंप दी है. हालांकि, एनआईए का कहना है कि उसे अब तक जांच सौंपे जाने को लेकर गृह मंत्रालय की ओर से जारी नोटिफिकेशन (Notification) अब तक नहीं मिला है. एजेंसी इस नोटिफिकेशन का इंतजार कर रही है. हालांकि, एनआईए का कहना है कि गृह मंत्रालय किसी भी समय नोटिफिकेशन जारी कर सकता है.

भारी बर्फबारी के कारण काजीगुंड नहीं पहुंच पा रही एनआईए टीम
एनआईए से जुड़े सूत्रों ने कहा कि दविंदर सिंह फिलहाल काजीगुंड (Qazigund) में हैं, जो जम्‍मू और श्रीनगर के बीच में है. फिलहाल श्रीनगर पहुंचने का रास्‍ता भारी बर्फबारी के कारण बंद है. जम्‍मू की ओर से भी भारी भूस्‍खलन के कारण एहतियात बरतते हुए आवागमन बंद है. इसलिए एनआईए टीम काजीगुंड तक नहीं पहुंच पा रही है. बता दें कि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने शनिवार को कुलगाम में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों के साथ डीएसपी दविंदर सिंह को गिरफ्तार किया. आरोप है कि दविंदर सिंह ने आतंकियों (Terrorists) को सुरक्षित घाटी से बाहर पहुंचाने के लिए सौदा किया था. उन्होंने आतंकियों को अपने घर में पनाह भी दे रखी थी. पुलिस और इंटेलिजेंस एजेंसी उनसे पूछताछ कर रही हैं.

हिजबुल आतंकियों के साथ गिरफ्तार किए गए थे डीएसपी सिंह

दविंदर सिंह हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों को सादे कपड़े में शनिवार सुबह करीब 10 बजे घर से लेकर निकले थे. पुलिस ने श्रीनगर से लगभग 60 किमी दूर उनकी कार को रोका था. अधिकारियों ने बताया कि गड़बड़ी कर फंस जाने के बाद दविंदर सिंह पुलिसवालों के सवालों का गोलमोल जवाब दे रहे थे. इसके बाद उन्हें आतंकियों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया. बाद में उनके घर की तलाशी भी ली गई. इसके बाद उन्‍हें सस्‍पेंड कर दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि शुरुआत में तो दविंदर सिंह ने लगातार दावा किया कि वह बड़े आतंकवादी को पकड़ने के लिए आतंकवादियों का विश्वास जीतने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने के कारण वह अपनी बात साबित नहीं कर सके.

संसद हमले के दोषी अफजल गुरु ने भी लगाए थे कई आरोप
यह पहला मौका नहीं है, जब दविंदर सिंह गलत कारणों से सुर्खियों में आए हैं. संसद हमले के दोषी अफजल गुरु की 2013 में लिखी गई एक चिट्ठी में दविंदर सिंह पर कई आरोप लगाए गए थे. हालांकि, आरोपों की जांच की गई और सबूत के साथ उसकी पुष्टि नहीं हो पाई. बहरहाल, दविंदर सिंह की गिरफ्तारी से जम्मू-कश्मीर पुलिस (Jammu-Kashmir Police) की छवि पर असर हो सकता है. हालांकि, पूर्व पुलिस महानिदेशक कुलदीप खोड़ा ने अपने वरिष्ठ अधिकारी को गिरफ्तार करने में एक बार भी संकोच नहीं करने के लिए पुलिस बल की सराहना की.ये भी पढ़ें:

NCP नेता नवाब मलिक के भाई की गुंडागर्दी, मजदूरों को पीटने का वीडियो आया सामने

खालिस्‍तानी आतंकवाद को जिंदा करने के लिए भारत में हथियार भेज रहा पाकिस्‍तान

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 5:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर