दलित की बारात पर किया था पथराव, 43 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज़

दलित की बारात पर किया था पथराव, 43 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज़
प्रतीकात्मक तस्वीर

घोड़ी की मौत के बाद पुलिस मे उच्च जाति के 43 लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 429 के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

  • Share this:
गुजरात में कुछ समय पहले एक दूल्हे की बारात पर उच्च जाति के लोगों ने पथराव कर दिया था. अरावली जिले के मोदासा तहसील के खाम्बीसार गांव में हुई थी. बारात पर हुए इस पथराव में दूल्हे की घोड़ी को भी काफी चोट लगी थी जिससे वह घायल हो गया था, अब उस घोड़ी की मौत हो गई है. घोड़ी की मौत के बाद पुलिस मे उच्च जाति के 43 लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 429 (पशु क्रूरता) के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

बारात में घोड़ी पर किया पथराव

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक पुलिस ने बताया कि 12 मई को दलित समुदाय से आने वाले जयेश राठौर की शादी थी. रीति-रिवाज के मुताबिक बारात के लिए घोड़ी का भी इंतजाम किया गया था. बताया जा रहा है कि गांव में किसी दलित के घोड़ी मांगने का ये पहला मामला था. जिसके बाद ऊंची जाति के लोगों ने बारात पर पथराव कर दिया जिसमें घोड़े को भी चोटें आईं.



पाटीदार समुदाय से हैं सभी आरोपी
पीड़ितों की मानें तो आरोपियों ने बारात को रोकने के लिए बीच रास्ते में हवन करना शुरू कर दिया. जब बारात वहां से गुजरने लगी तो उन लोगों ने पत्थर फेंकने शुरू कर दिये. पुलिस ने इस मामले में आईपीसी के अलावा एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया था. पूरे मामले में 16 महिलाओं और 27 पुरुषों को आरोपी बनाया है. सभी आरोपी पाटीदार समुदाय से ताल्लुक रखते हैं.

एफआईआर को झूठा बता रहे हैं आरोपी 

दूल्हे जयेश राठौर के वकील ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि आरोपियों की जमानत याचिका दाखिल की थी जिसे अदालत ने खारिज कर दिया है. यही नहीं आरोपी एफआईआर को भी झूठा बता रहे हैं. वकील ने कहा कि पुलिस सुरक्षा में बारात निकलने के बाद भी बारात पर हमला किया गया. जिससे घोड़ी घायल हो गई और अब उसकी मौत हो गई. जिसके बाद उनकी जमानत खारिज हो गई.

वकील के मुताबिक इस मामले के आरोपी अभी त क फरार हैं. वे जहां भी हैं वहीं से जमानत लेने की कोशिशों में लगे हैं.

मुर्गे की बांग से परेशान हुई पड़ोसन, शिकायत करने पहुंची थाने

गर्लफ्रेंड्स से किया वादा निभाने के लिए AMU के 4 पूर्व छात्रों ने लीक करा दिया MBA का एंट्रेंस पेपर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज