कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से कई जगह हॉस्पिटल बेड फुल, 84 लाख के पार हुई संख्या

जम्मू के एक सरकारी अस्पताल में कोविड टेस्ट के लिए स्वैब कलेक्ट करता स्वास्थ्यकर्मी. (AP-Image)
जम्मू के एक सरकारी अस्पताल में कोविड टेस्ट के लिए स्वैब कलेक्ट करता स्वास्थ्यकर्मी. (AP-Image)

त्योहारी मौसम (Festive Season) के बीच देश में कई जगहों पर अस्पतालों में बेड फुल (ICU Bed Full) होने की खबरें भी आई हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब देश में कोरोना का रिकवरी रेट 92.32 प्रतिशत हो चुका है. देश में महामारी की वजह से 1,24,985 लोगों ने जान गंवाई है. हालांकि केस फैटलिटी रेट अब घटकर 1.49 ही रह गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 10:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बीते 24 घंटे के दौरान तकरीबन 47 हजार नए कोरोना मामलों (New Corona Cases) के साथ देश में कुल संक्रमितों की संख्या 84 के पार कर गई है. हालांकि अब तक 77.65 लाख लोग बीमारी से रिकवर भी हो चुके हैं. लेकिन त्योहारी मौसम के बीच देश में कई जगहों पर अस्पतालों में बेड फुल होने की खबरें भी आई हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब देश में कोरोना का रिकवरी रेट 92.32 प्रतिशत हो चुका है. देश में महामारी की वजह से 1,24,985 लोगों ने जान गंवाई है. हालांकि केस फैटलिटी रेट अब घटकर 1.49 ही रह गई है.

जयपुर के अस्पतालों में बेड की कमी
इस वक्त पूरे देश में कोरोना के एक्टिव केस करीब पांच लाख 20 हजार हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट कहती है कि देश में कुछ जगहें ऐसी भी हैं जो इस वक्त हॉस्पिटल बेड की कमी से जूझ रही हैं. रिपोर्ट कहती है कि राजस्थान की राजधानी जयपुर में लोगों को भर्ती होने के लिए अस्पतालों में बेड की कमी पड़ रही है. यहां तक कि प्राइवेट अस्पतालों में भी बेड फुल हैं.

सरकार द्वारा चलाए जा रहे कोविड समर्पित सबसे बड़े सरकारी सेंटर RUHS में सभी 75 वेंटिलेटर फुल हैं. शहर में 39 प्राइवेट और 7 सरकारी अस्पताल कोरोना का इलाज कर रहे हैं.




एकाएक बढ़े मामलों की वजह से दिल्ली में आईसीयू बेड की स्थिति बेहद बुरी
देश की राजधानी दिल्ली में बीते तीन दिनों से लगातार 6700 से ज्यादा कोरोना मामले सामने आ रहे हैं. राज्य में आईसीयू बेड्स की कमी महसूस की जा रही है. दो दिन पहले एक रिपोर्ट में समाचार एजेंसी आईएएनएस ने बताया था कि सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों कोविड संक्रमितों के लिए आईसीयू बेड की स्थिति बेहद बुरी है. इस वक्त दिल्ली में एक्टिव केसों की संख्या 38,729 है. अब तक राज्य में कुल 4 लाख 46 हजार मामले सामने आए हैं जबकि 3 लाख 71 हजार लोग रिकवर हो चुके हैं. महामारी से 6 हजार से ज्यादा लोगों ने जान गंवाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज