पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी गहरे कोमा में, लगातार वेंटिलेटर पर चल रहा इलाज- अस्पताल

पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी गहरे कोमा में, लगातार वेंटिलेटर पर चल रहा इलाज- अस्पताल
प्रणब मुखर्जी की हालत स्थिर है.

सैन्‍य अस्‍पताल के अनुसार प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) का फेफड़े के इंफेक्‍शन का इलाज हो रहा है. अस्‍पताल के मुताबिक वह हीमोडायनेमिकली स्थिर हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2020, 5:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमित होने के बाद ब्रेन सर्जरी होने और फेफड़ों के इंफेक्‍शन से जूझ रहे पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab mukherjee) का इलाज लगातार वेंटिलेटर पर हो रहा है. वह अभी भी गहरे कोमा में हैं. यह जानकारी दिल्‍ली स्थित आर्मी रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल ने उनके हेल्‍थ बुलेटिन में रविवार को दी है. अस्‍पताल के अनुसार प्रणब मुखर्जी का फेफड़े के इंफेक्‍शन का इलाज हो रहा है. अस्‍पताल के मुताबिक वह हीमोडायनेमिकली स्थिर हैं. स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम लगातार उनकी निगरानी कर रही है.

बता दें कि इससे पहले शनिवार को जारी हेल्‍थ बुलेटिन में आर्मी रिसर्च एंड रेफरल हॉस्पिटल के अधिकारियों ने बताया था कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के फेफड़ों में हुए संक्रमण का इलाज किया जा रहा है. डॉक्टरों ने बताया था कि प्रणब मुखर्जी के गुर्दे पहले से काफी अच्छे तरीके से काम कर रहे हैं. डॉक्टरों ने बताया था कि उनकी हालत 'हीमोडायनेमिकली स्टेबल' बनी हुई है. इसका मतलब ये है कि प्रणब मुखर्जी का दिल ठीक से काम कर रहा है और शरीर में रक्त का संचार भी सामान्य है.


प्रणब मुखर्जी ने 10 अगस्‍त को ट्वीट कर खुद के कोरोना संक्रमित होने की जानकारी दी थी. उन्‍होंने कहा था, ‘अन्य कारणों से अस्पताल गया था जहां पर आज कोविड-19 जांच में संक्रमित होने की पुष्टि हुई. मैं अनुरोध करता हूं कि जो लोग भी गत एक हफ्ते में मेरे संपर्क में आए हैं, वे खुद पृथक-वास में चले जाएं और कोविड-19 की जांच कराएं.’ प्रणब मुखर्जी 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज