हॉस्टल में पानी हुआ कम, तो प्रिंसिपल ने जबरन कटवा दिए 150 छात्राओं के बाल

तेलंगाना (Telangana) में स्कूल की प्रिंसिपल के. करूणा ने कथित तौर पर हॉस्टल में दो नाईयों को बुलाया और वहां रहने वाली 150 छात्राओं के बाल जबरन कटवा दिए.

News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 1:45 PM IST
हॉस्टल में पानी हुआ कम, तो प्रिंसिपल ने जबरन कटवा दिए 150 छात्राओं के बाल
हॉस्टल में पानी हुआ कम तो प्रिंसिपल ने कटवा दिए 150 छात्राओं के बाल
News18Hindi
Updated: August 14, 2019, 1:45 PM IST
तेलंगाना (Telangana) के मेंडक जिले के एक स्कूल में हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है. यहां पानी की कमी के कारण प्रिंसिपल ने 150 छात्राओं के बाल जबरन कटवा दिए. यह घटना एक गुरुकुल स्कूल की है, जहां प्रिंसिपल के. अरुणा ने 150 छात्राओं को बाल कटाने को मजबूर किया. इसका खुलासा तब हुआ जब परिजन छात्राओं से मिलने हॉस्टल पहुंचे और उनके बाल कटे दिखे.

बताया जा रहा है कि हॉस्टल में नहाने के लिए पर्याप्त पानी नहीं था. इसलिए यह कदम उठाया गया. प्रिंसिपल के इस कदम के खिलाफ परिजनों ने स्कूल के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया. ये घटना दो दिन पहले की है.

छात्राओं के जबरन कटवाए बाल
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, स्कूल की प्रिंसिपल के. करूणा ने कथित तौर पर हॉस्टल में दो नाईयों को बुलाया और वहां रहने वाली 150 छात्राओं के बाल उनकी मर्जी के बिना जबरन कटवा दिए. इसकी वजह बाल धोने में ज्यादा पानी का इस्तेमाल होना बताया गया. इतना ही नहीं इसके लिए हर छात्रा से 25 रुपये भी लिए गए.

प्रिंसिपल ने बताई ये वजह
इस पूरी घटना के बाद अभिभावकों ने प्रिंसिपल के खिलाफ नारेबाजी की और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की. हालांकि, प्रिंसिपल अरुणा ने इन आरोपों को खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि साफ-सफाई के लिए छात्राओं के बाल कटवाए गए, क्योंकि कुछ छात्राएं Lice Infestation (जूं संक्रमण) और त्वचा संबंधी रोग से पीड़ित थीं.

जिला प्रशास ने जांच की शुरू
Loading...

करुणा ने सफाई दी कि छात्राओं की सहमति से ही बाल कटवाए गए और हॉस्टल में पानी की कमी भी इसका कारण है. वहीं, घटना सामने आने के बाद जिला प्रशासन और कल्याण विभाग ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें- इस्लामिक विद्वान का दावा, कश्मीर कभी भी पाकिस्तान का हिस्सा नहीं होगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 14, 2019, 12:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...