विधायक पद से इस्तीफा देने के कुछ घंटे बाद राजीव बनर्जी ने TMC को कहा अलविदा

राजीब बनर्जी टीएमसी में कद्दावर नेता रहे हैं. (फाइल फोटो)

राजीब बनर्जी टीएमसी में कद्दावर नेता रहे हैं. (फाइल फोटो)

राज्य सरकार में वन मंत्री रहे राजीव बनर्जी (Rajib Banerjee) ने शुक्रवार को विधायक पद से इस्तीफा देने के कुछ घंटे बाद टीएमसी को भी अलविदा कह दिया. उन्होंने पार्टी से अपना इस्तीफा सीएम ममता बनर्जी को भेज दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 9:15 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. राज्य सरकार में वन मंत्री रहे राजीव बनर्जी (Rajib Banerjee) ने शुक्रवार को विधायक पद से इस्तीफा देने के कुछ घंटे बाद टीएमसी को भी अलविदा कह दिया. उन्होंने पार्टी से अपना इस्तीफा सीएम ममता बनर्जी को भेज दिया है.

एक हफ्ते पहले मंत्री पद से दिया था इस्तीफा

इससे पहले बीते शुक्रवार को, राजीव बनर्जी ने ममता बनर्जी के मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने दावा किया था कि वो 2018 के बाद से ही पार्टी छोड़ने का मन बना चुके थे जब उन्हें राज्य सिंचाई विभाग से किसी भी परामर्श के बिना हटा दिया गया था. राजभवन के सामने मीडिया के सामने अपने फैसले की घोषणा करते हुए बनर्जी ने कहा, 'मैंने कभी नहीं सोचा था कि एक दिन मुझे यह फैसला लेना पड़ेगा. मैं बहुत आहत हुआ था जब ममता बनर्जी ने मुझे बिना किसी परामर्श के सिंचाई विभाग से हटा दिया था.'

Youtube Video

ममता बनर्जी से जताई थी नाराजगी

आंखों में आंसू भर कर बनर्जी ने कहा था, 'मुख्यमंत्री को अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल करने का पूरा अधिकार है लेकिन मैं उनसे बुनियादी शिष्टाचार की उम्मीद कर रहा था. निर्णय लेने से पहले उन्‍हें मुझे सूचित करना चाहिए था. मैं विभाग की सेवा करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ दे रहा था, इसके बावजूद फेरबदल के बारे में मुझे जानकारी नहीं दी गई.'

गौरतलब है कि बीते महीनों के दौरान कई कद्दावर नेताओं ने तृणमूल छोड़कर बीजेपी का दामन थामा है. इन नेताओं में शुभेंदु अधिकारी सबसे प्रभावशाली नेता बताए जाते हैं. शुभेंदु अधिकारी के प्रभाव को चैलेंज करने के लिए ममता बनर्जी नंदीग्राम से चुनाव लड़ने की रणनीतिक घोषणा भी कर चुकी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज