Assembly Banner 2021

Delhi Violence : पुलिस ने 15000 पेज की चार्जशीट दाखिल की, ताहिर हुसैन समेत 15 लोग आरोपी

पुलिस ने 15000 से ज्यादा पन्नों की चार्जशीट दायर की है.  (फाइल फोटो)

पुलिस ने 15000 से ज्यादा पन्नों की चार्जशीट दायर की है. (फाइल फोटो)

इस मामले में पुलिस (Delhi Police) ने सफूरा जरगर (Safoora Zargar) और ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) सहित कुल 15 लोगों को आरोपी बनाया है. इस चाजर्शीट में पुलिस ने ये खुलासा किया है कि कैसे पूरी दिल्ली को हिंसा की आग में धकेलने की प्लानिंग की गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2020, 8:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल (Special Cell) ने दिल्ली दंगा (Delhi violence) मामले में अनलॉफुल एक्टिविटी प्रिवेंशन एक्ट यानी यूएपीए के तहत आज कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी. इस मामले में पुलिस ने सफूरा जरगर और ताहिर हुसैन सहित कुल 15 लोगों को आरोपी बनाया है. इस चार्जशीट में पुलिस ने ये खुलासा किया है कि कैसे पूरी दिल्ली को हिंसा की आग में धकेलने की प्लानिंग की गई थी. 15 हजार से ज्यादा पन्नों की चार्जशीट में पुलिस ने बताया है कि CAA-एनआरसी के खिलाफ देश भर में जो प्रोटेस्ट चल रहा था उस प्रोटेस्ट को खूनी रंग देने के लिए एक बड़ी साजिश थी. इस साजिश का हिस्सा कई बड़े लोग भी हैं.

दाखिल की गई चार्जशीट अपने आप में एक रिकॉर्ड
स्पेशल सेल के सूत्रों का कहना है कि अभी जो चार्जशीट दाखिल की गई वो अपने आप में एक रिकॉर्ड है. क्योंकि इतने पन्नों की चार्जशीट कभी दाखिल नहीं हुई. यह अलग बात है कि पहली चार्जशीट के बाद भी साजिश से जुड़े खुलासे होते रहेंगे, उसके लिए सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल होगी. दिल्ली हिंसा के मामले की जांच के लिए स्पेशल सेल ने 6 मार्च को एक एफआईआर दर्ज की थी. उसी के तहत ये चार्जशीट दाखिल की गई है. इस केस की जांच के चलते स्पेशल सेल 20 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है, जिनमें शरजील इमाम, देवांगना, सफूरा जरगर, नताशा, इशरत जहां, सफा उर रहमान, फातिमा, मीरन हैदर शामिल हैं.

Youtube Video

उमर खालिद का नाम अभी शामिल नहीं किया गया


लेकिन इन सब में उमर खालिद की गिरफ्तारी सबसे अहम मानी जा रही है, क्योंकि जेएनयू का ये पूर्व छात्र अभी तक की पूरी साजिश में अहम कड़ी बनकर उभरा है. जो ना सिर्फ अलग अलग मंचों से भड़काऊ भाषण दे रहा था, बल्कि दिल्ली में सीएए एनआरसी विरोधी धरना प्रदर्शन आयोजित करने वाले जामिया कोआर्डिनेशन कमेटी, पिंजरा तोड़ ग्रुप व अन्य संगठनों के संपर्क में भी लगातार बना हुआ था. हालांकि इस चार्जशीट में उमर खालिद का नाम अभी शामिल नहीं किया गया है. उसके लिए इसमें supplimantry चार्जशीट दाखिल की जाएगी.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक जांच में ऐसी कई सनसनीखेज जानकारियां भी सामने आई हैं, जिनका बिना सबूत अभी खुलासा करना ठीक नहीं होगा, उन्हीं सबूतों को जुटाने के लिए उमर खालिद से भी गहन पूछताछ जारी है. दिल्ली में सीएए के नाम पर भारत सरकार विरोधी धरना प्रदर्शन और फिर दंगे फसाद के पीछे बहुत गहरी साजिश थी.

दिल्ली हिंसा में अब तक
कुल 751 एफआईआर दर्ज हुई हैं.
250 चार्जशीट दाखिल की गई हैं.
53 लोगों की मौत हुई है.
कुल 571 हिंदू आरोपी हैं.
जबकि 582 मुस्लिम आरोपी हैं.
घायलों की कुल संख्या 581 है.
दंगों में 108 पुलिसवाले भी घायल हुए.
आईबी अधिकारी समेत दो पुलिसवालों की मौत हुई थी.

इन्हें बनाया गया है आरोपी
स्पेशल सेल की सबसे बड़ी जांच में जिन 15 लोगों को फिलहाल यूएपीए के तहत आरोपी बनाया गया है उनके नाम हैं, अब्दुल खालिद सैफ़ी, ताहिर हुसैन, इशरत जहां, मीरान हैदर, गुलिशा, सफूरा जरगर, शफ़ा उर रहमान, आसिफ इक़बाल तन्हा, शादाब अहमद, नताशा नरवाल, देवांगना कलिता, तस्लीम अहमद, सलीम मालिक, सलीम खान और अतहर खान.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज