Corona Vaccine: देश के हर कोने में कैसे पहुंचेगी कोरोना की वैक्सीन, सरकार ने शुरू की प्लानिंग

Corona Vaccine: देश के हर कोने में कैसे पहुंचेगी कोरोना की वैक्सीन, सरकार ने शुरू की प्लानिंग
वैक्सीन को कैसे वितरित किया जाए, इस पर भी चर्चा शुरू हो गई है. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona Vaccine: सूत्रों ने दावा किया कि अब तक वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन को लेकर कम से कम दो बैठक हो चुकी हैं. आने वाले हफ्तों में इस पर और भी चर्चा होगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. इन दिनों पूरी दुनिया की निगाहें कोरोना वायरस की वैक्सीन (Corona Vaccine) पर टिकी हैं. इस वक्त दुनिया भर में 140 वैक्सीन पर काम चल रहा है. इसमें से 23 वैक्सीन ऐसी हैं, जिनके क्नीनिकल ट्रायल चल रहे हैं. उम्मीद की जा रही है इस साल के आखिर या फिर अगले साल की शुरुआत में दुनिया को ये वैक्सीन मिल जाएगी. भारत जैसे 130 करोड़ आबादी वाले देश में वैक्सीन को हर आदमी तक पहुंचाना भी आसाना नहीं होगा. लिहाजा सरकार ने कोरोना की वैक्सीन को देश के हर कोने में पहुंचाने के लिए अभी से प्लानिंग करनी शुरू कर दी है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सरकार अलग-अलग स्तर पर अलग-अलग एजेंसियों से बातचीत कर रही है.

वैक्सीन को लेकर बैठक
अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, भारतीय अधिकारियों ने लॉजिस्टिक्स से लेकर वैक्सीन के सप्लाई पर चर्चा शुरू कर दी है. विज्ञान और प्रौद्योगिकी के कई मंत्रालय और अधिकारी इन चर्चाओं में शामिल हुए. इन्हें उम्मीद है कि अगले साल की शुरुआत से पहले कोई न कोई वैक्सीन जरूर आ जाएगी. अखबार ने सरकारी सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि अब तक वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन को लेकर कम से कम दो बैठक हो चुकी है. आने वाले हफ्तों में इस पर और भी चर्चा होगी.

कोल्ड स्टोरेज बनाने की तैयारी
एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि वैक्सीन को लेकर फिलहाल इंटरनल विचार-विमर्श शुरू हो गया है ताकि हम पूरी तरह से तैयार हों. दरअसल ये सारी कवायद आखिरी मौके पर किसी भी परेशानी से बचने के लिए है. मीटिंग में जिन चीज़ों पर मुख्त तौर पर बातचीत हो रही है वो है उत्तर पूर्वी भारत जैसे दूरदराज के क्षेत्रों में वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन का काम. उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर कोल्ड स्टोरेज सुविधाएं तैयार करने का प्लान तैयार कर रही है.




इन मुद्दों पर हो रही है चर्चा
वैक्सीन को कैसे वितरित किया जाए, इस पर भी चर्चा शुरू हो गई है. क्या ये सिर्फ सरकारी अस्पतालों के जरिए से दिया जाना चाहिए या फिर प्राइवेट अस्पतालों को भी शामिल किया जाना चाहिए. सरकारी अधिकारी इस मुद्दे पर भी चर्चा कर रहे हैं कि वैक्सीन की डोज़ पहले किसको दी जाएगी? फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर या फिर देश के बुजुर्गों को.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading