भारत में 'मानव बैरीकेड्स' ने कोरोना संक्रमण को नियंत्रित रखा : विशेषज्ञ

विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में मानव बैरीकेड्स काम आए हैं. (PTI)

विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण में मानव बैरीकेड्स काम आए हैं. ये ऐसे लोग हैं जिनमें इस रोग की प्रतिरोध करने वाली एंटीबॉडीज पहले से ही थीं. हालांकि यह कहना कि भारत कोरोना संक्रमण से मुक्‍त हो गया है, पूरी तरह गलत होगा. देश के दो राज्‍यों में संक्रमण अभी भी बढ़ा है. देश को कोरोना गाइडलाइन्‍स का पालन करते रहना होगा.

  • Share this:
    बेंगलुरू/मुंबई. महामारी विशेषज्ञों ने कहा है कि भारत में कोरोना संक्रमण को नियंत्रित रखने में मानव बैरीकेड्स ने अहम भूमिका निभाई है. इन लोगों में पहले से ही एंटीबॉडीज पाई गई हैं. कोरोना संक्रमण के गिरते ग्राफ के बीच हुए सर्वे के अनुसार भारत में करीब तीन करोड़ लोगों में पहले से ही इसकी एंटीबॉडीज हैं. कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि यह बीमारी जा चुकी है जबकि इसकी चपेट में देश के दो राज्‍य अभी भी फंसे हुए हैं. मिशीगन यूनिवर्सिटी की शोध टीम के सदस्‍य और महामारी के परिणामों के जानकार भ्रमर मुखर्जी ने कहा कि अब वायरस के लिए मानव ही गतिरोध बनेंगे और मार्च के अंत तक हम पाएंगे कि मामलों में गिरावट हो रही है.

    विशेषज्ञों ने कहा कि सितंबर में जहां प्रतिदिन एक लाख मामले सामने आ रहे थे, वे घटकर मात्र 10,000 तक पहुंच गए हैं. और भारत में संक्रमितों की संख्‍या 1 करोड़ 10 लाख के करीब बनी हुई है. जबकि कुछ समय पहले 2020 के अंत में ऐसा माना जा रहा था कि भारत में संक्रमितों की तेजी से बढ़ रही संख्‍या, अमेरिका को पीछे छोड़ देगी. अभी अमेरिका में संक्रमितों की संख्‍या 2 करोड़ 80 लाख के करीब हो गई है. भारत में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्‍या 1,56,000 के करीब है, जो इस श्रेणी में दुनिया में चौथे स्‍थान पर है.

    ये भी पढ़ें :   सबसे आगे: 70 लाख लोगों का टीकाकरण, जानें कैसे दुनिया में सबसे बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम चला रहा भारत

    Corona vaccine updates: कोरोना वैक्सीन को लेकर अफवाह फैलाने वालों पर होगी कानूनी कार्रवाई, केंद्र का आदेश

    वॉशिंगटन और दिल्‍ली की रिसर्च फर्म द सेंटर फॉर डीसीज डायनामिक्‍स, इकॉनोमिक्‍स एंड पॉलिसी के महामारी विज्ञान विशेषज्ञ रामानन लक्ष्‍मीनारायण कहते हैं कि भारत बहुत अधिक पीड़ा से गुजर चुका है, पीड़ा से गुजर जाने के कारण वह एक किनारे पर पहुंच गया है. मुझे भारत में सेकंड वेव के आसार नहीं दिखते, यदि ऐसा होता है तो यह मामूली ही होगा. हाल ही में हुए सरकारी सर्वे के अनुसार कोरोना-19 से 21.5 प्रतिशत भारतीय संक्रमित थे, इससे उन्‍हें प्रतिरक्षा भी मिली. जबकि 7,00,000 लोगों के टेस्‍ट करने वाली एक कंपनी ने बताया कि करीब 55 प्रतिशत भारतीय को संक्रमण पहले ही हो चुका था.

    कभी ऐसा नहीं माना जा सकता कि भारत कोरोना संक्रमण महामारी से उबर चुका है. भारत के कुल कोरोना संक्रमितों में से करीब 70 प्रतिशत एक्टिव मरीज दो राज्‍य केरल और महाराष्‍ट्र में मिले हैं. इसलिए सभी महामारी विज्ञानी भी भारत को कोरोना संक्रमण से मुक्‍त नहीं कह सकते. देश में कोरोना संक्रमण के कम होते मामलों के बावजूद भारत को कोविड-19 संबंधी सभी गाइडलाइन्‍स और नए वेरिएंट्स के सर्वे जारी रखने होंगे. इसके साथ ही वैक्‍सीन लगाने का काम तेजी से जारी रखना होगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.