Home /News /nation /

human trafficking married woman from odisha sold in rajasthan two held

शादी के लिए सौदेबाजी! ओडिशा की विवाहित महिला को राजस्थान में बेचा, ऐसे दिया मानव तस्करी को अंजाम

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

Human Trafficking: ओडिशा पुलिस (Human Trafficking in Odisha) ने राजस्थान में कथित तौर पर बेची गई एक विवाहित महिला महिला को बचाया है, जिसे डेढ़ लाख रुपए में राजस्थान में शादी के लिए बेच दिया गया था.  झारसुगुड़ा के एसपी विकास चंद्र दास ने कहा कि महिला को मध्य प्रदेश के नीमच जिले के रामपुर गांव से बचाया गया है और महिला समेत दो आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

भुवनेश्वर: ओडिशा पुलिस (Human Trafficking in Odisha) ने राजस्थान में कथित तौर पर बेची गई एक विवाहित महिला का रेस्क्यू किया है. झारसुगुड़ा जिले की पुलिस ने इस महिला को बचाया है, जिसे डेढ़ लाख रुपए में राजस्थान में बेच दिया गया था. झारसुगुड़ा के एसपी विकास चंद्र दास ने कहा कि महिला को मध्य प्रदेश के नीमच जिले के रामपुर गांव से बचाया गया है.

एसपी विकास चंद्र ने कहा कि, 7 अप्रैल को हमें एक शिकायत मिली थी कि विवाहित महिला को झारसुगुडा से कथित तौर पर एक महिला और उसके दो सहयोगियों द्वारा राजस्थान ले जाया गया था. इसके बाद में उसकी इच्छा के विरुद्ध मनोज प्रजापति नाम के एक व्यक्ति से उसकी शादी कर दी गई.

एचटी की रिपोर्ट के अनुसार, झारसुगुडा जिले में इस महिला का कथित तौर पर उसके पति से झगड़ा हो गया था. इसके बाद जब सुप्रिया प्रजापति नाम की एक महिला ने उसे अपने साथ राजस्थान जाने के लिए मजबूर किया. इस बात की सूचना 7 अप्रैल को झारसुगुड़ा के 3 व्यक्ति हृषिकेश सेठी, किरण सेठी और दानिशी को गिरफ्तार किया. 13 अप्रैल को सुप्रिया उर्फ ​​रजनी और मनोज प्रजापति को गिरफ्तार किया गया.

झारखंड में विकराल है मानव तस्करी की समस्या, रोकने के लिए इच्छाशक्ति का अभाव

आरोपी मनोज प्रजापति ने बताया कि, मैंने महिला से शादी की थी और इसके लिए ₹1.5 लाख का भुगतान किया था. मुझे नहीं पता था कि वह पहले से शादीशुदा थी और उसका एक बच्चा भी है.

बता दें कि ओडिशा, झारखंड और पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों मे मानव तस्करी की बड़ी समस्या है.
राजधानी दिल्ली जैसे शहरों में कई अवैध प्लेसमेंट एजेंसियां इन अपराधों को अंजाम देती है.. ये एजेंसियां रोजगार मुहैया कराने के नाम पर ज्यादातर मासूम लड़कियों की तस्करी में कानूनी खामियों का फायदा उठाती हैं. इन लड़कियों के लिए प्रतिदिन 12-14 घंटे काम करना एक नियमित अभ्यास है. कई शारीरिक और यौन शोषण की भी शिकायत करती हैं. कुछ पीड़ितों को बंधुआ मजदूरी और जबरन विवाह के उद्देश्य से हरियाणा और पंजाब ले जाया जाता है.

Tags: Human Trafficking Case, Odisha news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर