आज आधी रात के बाद चक्रवाती तूफान 'बुलबुल’ लेगा विकराल रूप, इन राज्‍यों में अलर्ट

आज आधी रात के बाद चक्रवाती तूफान 'बुलबुल’ लेगा विकराल रूप, इन राज्‍यों में अलर्ट
इसके साथ ही मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meteorological Department) ने भयंकर तेज हवाएं चलने की भी चेतावनी जारी की है. हवाओं की रफ्तार 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है, जो बढ़कर 135 किलोमीटर प्रति घंटे तक जा सकती है.

इसके साथ ही मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meteorological Department) ने भयंकर तेज हवाएं चलने की भी चेतावनी जारी की है. हवाओं की रफ्तार 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है, जो बढ़कर 135 किलोमीटर प्रति घंटे तक जा सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2019, 6:36 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) ने चक्रवाती तूफान बुलबुल (Cyclonic Storm Bulbul) को लेकर चेतावनी जारी की है. मौसम विभाग ने कहा है कि 9 और 10 नवंबर को ओडिशा, (Odisha) पश्चिम बंगाल (West Bengal), मिजोरम (Mizoram), त्रिपुरा (Tripura), असम (Assam) और मेघालय (Meghalaya) में भयंकर चक्रवाती तूफान बुलबुल के कारण भारी बारिश हो सकती है.

तूफान के 9 नवंबर की सुबह तक थोड़ा तेज होने की संभावना
मौसम विज्ञान विभाग ने बताया है कि बुलबुल नामक चक्रवाती तूफान के 9 नवंबर की सुबह तक थोड़ा तेज होने की संभावना है. इसके बाद कुछ और समय के लिए लगभग उत्तर की ओर बढ़ने की संभावना है और उसके बाद यह फिर से उत्तर-पूर्व की ओर वक्र हो सकता है.





135 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी चल सकती हैं हवाएं
9 नवंबर की मध्यरात्रि तक बुलबुल चक्रवाती तूफान के कारण 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम रफ्तार के साथ हवाएं चल सकती हैं. हवाएं 135 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी चल सकती हैं. इसके पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप, सुंदरबन डेल्टा, बांग्लादेश के खेपूपारा को पार करने की संभावना है.

11 नवंबर को भारी बारिश की संभावना
इससे पहले मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा था कि चक्रवाती तूफान बुलबुल की निगरानी की जा रही है और इसके तट से टकराने के संभावित स्थान का आकलन किया जा रहा है. मौसम विभाग पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों पूर्वी मिदनापुर, उत्तर 24 परगना और दक्षिण 24 परगना जिलों में नौ से 11 नवंबर तक भारी बारिश होने की संभावना जता चुका है.

50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवाओं की रफ्तार बढ़ती जाएगी
एक सरकारी अधिकारी ने बताया था कि संबंधित जिलों के अधिकारियों को स्थिति पर नजर रखने और आपात स्थिति से निपटने के लिए कार्य योजना तैयार करने को कहा गया था. मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय इलाकों में शुक्रवार शाम से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी और धीरे-धीरे हवा की यह गति बढ़ती चली जाएगी.

ये भी पढ़ें - 

सीमांत किसानों को हरियाणा दे सकता है 100 रु. प्रति क्विंटल की सहायता राशि

मरयम नवाज बोलीं, इलाज कराने के लिए लंदन जाएंगे नवाज शरीफ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading