Home /News /nation /

कश्मीर में अलगाववादी आए बैकफुट पर, रोजाना हड़ताल का फैसला लिया वापस

कश्मीर में अलगाववादी आए बैकफुट पर, रोजाना हड़ताल का फैसला लिया वापस

कश्मीर में हिंसा को हवा दे रहे अलगाववादी संगठनों के रुख में नए साल पर नरमी आ गई है। पिछले साल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से लगातार हड़ताल का आह्वान करने वाले अलगाववादियों ने अब सिर्फ जुमा यानि शुक्रवार को हड़ताल पर रहने को कहा है।

कश्मीर में हिंसा को हवा दे रहे अलगाववादी संगठनों के रुख में नए साल पर नरमी आ गई है। पिछले साल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से लगातार हड़ताल का आह्वान करने वाले अलगाववादियों ने अब सिर्फ जुमा यानि शुक्रवार को हड़ताल पर रहने को कहा है।

कश्मीर में हिंसा को हवा दे रहे अलगाववादी संगठनों के रुख में नए साल पर नरमी आ गई है। पिछले साल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से लगातार हड़ताल का आह्वान करने वाले अलगाववादियों ने अब सिर्फ जुमा यानि शुक्रवार को हड़ताल पर रहने को कहा है।

अधिक पढ़ें ...
    श्रीनगरकश्मीर में हिंसा को हवा दे रहे अलगाववादी संगठनों के रुख में नए साल पर नरमी आ गई है। पिछले साल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद से लगातार हड़ताल का आह्वान करने वाले अलगाववादियों ने अब सिर्फ जुमा यानि शुक्रवार को हड़ताल पर रहने को कहा है। नोटबंदी के बाद से कश्मीर में लगातार विरोध-प्रदर्शनों का सिलसिला कम हो रहा है।

    चरमपंथी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी ने कल देर रात जारी विरोध कार्यक्रम का ब्यौरा देते हुए कश्मीरियों से अब सिर्फ जुमा पर हड़ताल करने को कहा है। वहीं नरमपंथी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के प्रमुख मीरवाइज उमर फारुक और जेकेएलएफ प्रमुख यासिन मलिक ने गणतंत्र दिवस पर ‘काला दिवस’ मनाने का भी आह्वान किया।

    पिछले साल जुलाई में हिजबुल मुजाहिद्दीन कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के विरोध में घाटी में हिंसा भड़कने के बाद से ये अलगाववादी नेता नियमित तौर पर विरोध कार्यक्रम जारी करते रहे हैं। नवंबर से इनका विरोध प्रदर्शन थमा और इन नेताओं ने विरोध को प्रति सप्ताह शुक्रवार और शनिवार तक सीमित कर दिया था।

    गौरतलब है कि नोटबंदी का फैसला भी नवंबर में ही लिया गया था। उसके बाद से ही कश्मीर में प्रदर्शनों का सिलसिला लगातार कम होता जा रहा था। अब आखिरकार अलगाववादियों ने अपना समर्थन कम होता देख बैकफुट पर जाते हुए प्रदर्शन को सिर्फ शुक्रवार तक सीमित कर दिया।

    Tags: Hurriyat conference

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर