लाइव टीवी

लिफ्ट और दरवाजे के बीच फंसा 9 साल की बच्ची का पैर, शरीर चीरता हुआ चला गया एलिवेटर

News18Hindi
Updated: October 20, 2019, 9:39 AM IST
लिफ्ट और दरवाजे के बीच फंसा 9 साल की बच्ची का पैर, शरीर चीरता हुआ चला गया एलिवेटर
बच्ची को तुरंत हैदराबाज के एक अस्पताल में ले जाया गया.

इस घटना के कुछ दिन पहले ही बच्ची का परिवार इस अपार्टमेंट में शिफ्ट हुआ था. बच्ची के पिता उसे बचाने की मशक्कत करते रहे मगर हॉस्पिटल में इलाज के दौरान बच्ची को मृत घोषित कर दिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2019, 9:39 AM IST
  • Share this:
हैदराबाद. हैदराबाद (Hyderabad) की एक इमारत की लिफ्ट और उसके एलीवेटर के बीच संकरी जगह में फंसने से नौ साल की एक बच्ची की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि हस्तिनापुरम नॉर्थ एक्सटेंशन कॉलोनी (Hastinapuram North Extension) में अपने घर में दोपहर करीब 12.30 बजे लेसिया यादव तीसरी मंजिल तक लिफ्ट से जा रही थीं. उनका परिवार हाल ही में नए बने तीन मंजिला घर में शिफ्ट हुआ था.

बताया गया कि उनका पैर गलती से लिफ्ट के दरवाजों और डक्ट के बीच की संकरे खाई में फंस गया. इससे पहले कि वह अपना पैर बाहर निकाल पातीं, तीसरी मंजिल पर किसी ने बटन दबाया और जब उसकी बाहरी ग्रिल खुली थी, तब ही लिफ्ट ऊपर जाने लगी.

पुलिस ने कहा, 'परिणामस्वरूप, लसिया के शरीर का हिस्सा भी एलिवेटर और लिफ्ट के बीच कुचल गया.' उनके पिता चंद्रशेखर यादव ने तुरंत एम्बुलेंस बुलाई और लिफ्ट मेंटेनेंस स्टाफ को भी मौके पर भेजा. लेसिया को बचाने के लिए. वह लगभग लगभग दो घंटे तक मशक्कत करते रहे.

घटिया लिफ्ट को ठहराा जिम्मेदार

पुलिस ने कहा, 'लेसिया को तुरंत पास के अस्पताल में ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.' राज्य बाल अधिकार संघ के अध्यक्ष पी. अच्युता राव ने लेसिया की मौत पर दुख व्यक्त किया और सुरक्षा मानकों का पालन किए बिना इमारतों में इस्तेमाल किए जा रहे घटिया लिफ्ट को इसका जिम्मेदार ठहराया.

राव ने मांग की है कि नगरपालिका अधिकारियों को बिल्डरों की फिटनेस को प्रमाणित करने के बाद ही बिल्डरों को अनुमति देनी चाहिए.

यह भी पढ़ें:  हैदराबाद : किशोरी से बार-बार रेप करने वाले ऑटो ड्राइवर को उम्रकैद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 9:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...