लाइव टीवी

हैदराबाद में फिर सामने आया रेप का मामला, ऑटो ड्राइवर ने लड़की से किया बलात्‍कार

News18Hindi
Updated: December 14, 2019, 12:02 AM IST
हैदराबाद में फिर सामने आया रेप का मामला, ऑटो ड्राइवर ने लड़की से किया बलात्‍कार
आंध्र प्रदेश की सरकार ने रेप से जुड़े मामले पर नया कानून पास किया है. इसमें मामलों का निपटारा 21 दिन में करने का नियम है. दोषी को फांसी की सजा भी दी जाएगी.

हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) के अनुसार, इस बार एक 18 साल की लड़की से एक ऑटो ड्राइवर (Auto driver) ने रेप किया. ये घटना 8 दिसंबर की रात की है. ऑटो ड्राइवर ने रेप को तब अंजाम दिया, जब लड़की अपनी 10 साल की छोटी बहन के साथ दादी के घर जा रही थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 14, 2019, 12:02 AM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) की राजधानी हैदराबाद (Hyderabad) में एक बार फिर से एक रेप का मामला सामने आया है. पुलिस के अनुसार, इस बार एक 18 साल की लड़की से एक ऑटो ड्राइवर (Auto driver) ने रेप किया. ये घटना 8 दिसंबर की रात की है. ऑटो ड्राइवर ने रेप को तब अंजाम दिया, जब लड़की अपनी 10 साल की छोटी बहन के साथ दादी के घर जा रही थी. इसी दौरान वह रास्‍ता भूल गई तो इस आरोपी के भाई ने उन दोनों को देखा. आरोपी का भाई भी ऑटो रिक्‍शा चलाता है. जब दोनों बहनों को लेकर अपने घर पहुंचा तो उसकी मां ने उसे डांटा और अपने छोटे बेटे को उन दोनों को घर छोड़ आने के लिए भेजा.

लेकिन वह ड्राइवर उसे घर न ले जाकर नामपल्‍ली इलाके में एक लॉज में ले गया. वहां जब लड़की की छोटी बहन सो गई तब उसने उसके साथ रेप किया और इसके बाद फलकनुमा रेलवे स्‍टेशन पर उन दोनों को छोड़कर फरार हो गया. इसके बाद पीड़िता ने अपने परिजनों को फोन किया. इसके बाद पीड़िता के परिजनों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने दोनों भाइयों के खिलाफ केस दर्ज कर, उनकी तलाश शुरू कर दी है. लेकिन दोनों अभी फरार हैं.

बता दें कि हैदराबाद में कुछ दिनों पहले एक महिला वेटेनरी डॉक्‍टर के साथ हुए गैंगरेप की घटना हुई थी. इस घटना के बाद पकड़े गए चारों आरोपी एक एनकाउंटर में ढेर कर दिए गए. इसके बाद इस एनकाउंटर पर सवाल उठ रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने अब इस एनकाउंटर की जांच के आदेश दे दिए हैं.

आंध्र प्रदेश विधानसभा ने बनाया नया नियम

आंध्र प्रदेश विधानसभा (Andhra Pradesh Legislative Assembly) ने शुक्रवार को आंध्र प्रदेश दिशा विधेयक पारित कर दिया जिसमें महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़े मामलों का निपटारा 21 दिन के भीतर करने का नियम है और इसमें दोषी को फांसी की सजा भी दी जाएगी. इस प्रस्तावित नए कानून का नाम ‘आंध्र प्रदेश दिशा अधिनियम आपराधिक कानून (आंध्र प्रदेश संशोधन) अधिनियम, 2019 रखा गया है. हाल ही में पड़ोसी राज्य तेलंगाना में एक पशु चिकित्सक से बलात्कार के बाद उसकी हत्या का मामला सामने आया था और यह विधेयक पीड़िता को दी गई श्रद्धांजलि है. गृह राज्य मंत्री एम सुचरिता ने यह विधेयक विधानसभा में पेश किया जिसे सत्तारूढ़ पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने ‘क्रांतिकारी’ बताया.

ये भी पढ़ें:

केंद्र ने स्पष्ट किया- राज्य चाहे जो कह लें, लागू करना ही पड़ेगा नागरिकता कानूननागरिकता कानून पर बवाल: अमेरिका ने जारी की एडवाइजरी, भारत से कहा-अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा करें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 11:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर