हैदराबाद एनकाउंटर: पुलिस बोली-मारे गए 4 में से 2 आरोपियों ने 9 महिलाओं को रेप के बाद जलाया था

हैदराबाद एनकाउंटर: पुलिस बोली-मारे गए 4 में से 2 आरोपियों ने 9 महिलाओं को रेप के बाद जलाया था
हैदराबाद एनकाउंटर के बाद से इस पर सवाल उठ रहे हैं. इसकी जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने आयोग गठित किया है. फाइल फोटो. पीटीआई

पुलिस का कहना है कि इस एनकाउंटर (Hyderabad Encounter) में मारे गए चार आरोपियों में से दो ने पहले भी 9 महिलाओं से बलात्कार किया था. इतना नहीं उन्होंने उन्हें भी दुष्कर्म के बाद जलाकर मार दिया था. पिछले दिनों गैंगरेप के चार आरोपियों को हैदराबाद के बाहर एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 18, 2019, 9:30 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. हैदराबाद (Hyderabad) में महिला वेटेनरी डॉक्टर से गैंगरेप (Hyderabad Gang rape) के बाद हुए एनकाउंटर मामले में पुलिस ने एक चौंकाने वाला दावा किया है. पुलिस का कहना है कि इस एनकाउंटर (Hyderabad Encounter) में मारे गए चार आरोपियों में से दो ने पहले भी 9 महिलाओं से बलात्कार किया था. इतना नहीं उन्होंने उन्हें भी दुष्कर्म के बाद जलाकर मार दिया था. पिछले दिनों गैंगरेप के चार आरोपियों को हैदराबाद के बाहर एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया था.

साइबराबाद (Cyberabad)  पुलिस कर्नाटक में छानबीन कर रही है. वह इन्हीं केस की कड़ियां जोड़ रही है. पुलिस के अनुसार, इन अपराधियों ने कर्नाटक हैदराबाद बॉर्डर एरिया में इसी तरह के अपराध को अंजाम दिया. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस का दावा है कि जब हमने इन चारों आरोपियों को हिरासत में लिया तो इनसे पूछताछ में इन्होंने इस बात को स्वीकार किया. पुलिस के अनुसार, हमें कर्नाटक हैदराबाद बॉर्डर एरिया में बलात्कार और हत्या के करीब 15 मामलों में इनके शामिल होन का शक था. जब हमने इनसे सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने 9 बलात्कार और हत्या के मामले कबूले. इन आरोपियों में मोहम्मद अरीपु, जे नवीन, जे शिवा और चेन्नाकेसवुलु थे.

छह दिसंबर को भागने की कोशिश में ढेर हुए आरोपी
पुलिस के अनुसार, हम हर केस की जांच कर रहे हैं और एक टीम बताई गई जगहों पर भेज रहे हैं. पुलिस का ये दावा तब सामने आया है, जब सरकार ने 6 दिसंबर को हुए एनकाउंटर की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है. बता दें कि 27 नवंबर को चारों आरोपियों ने एक वेटरनरी डॉक्टर को दुष्कर्म के बाद जलाकर मार डाला था. आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद 6 दिसंबर को जब पुलिस सभी को घटनास्थल पर सीन रीक्रिएट करने के लिए ले गई तो उन्होंने वहां से भागने की कोशिश की. इसके बाद पुलिस ने आरोपियों का वहीं एनकाउंटर कर दिया था.



हाइवे पर महिलाओं और ट्रांसजेंडर के यौनशोषण की बात कबूली


सुप्रीम कोर्ट ने इस एनकाउंटर की जांच के लिए तीन सदस्यीय आयोग बनाया है. इसमें रिटायर्ड जज वीएस सिरपुरकर इस आयोग का नेतृत्व कर रहे हैं. मंगलवार को तेलंगाना पुलिस ने दावा किया कि आरिफ छह अपराधों में शामिल था, जबकि चेन्नाकेसावुलु ने तीन महिलाओं को दुष्कर्म के बाद जलाकर मारा था. पुलिस के अनुसार, इन दोनों ने हैदराबाद कर्नाटक बॉर्डर एरिया में संगारेडी, रंगारेडी और महबूबनगर में इन बर्बर घटनाओं को अंजाम दिया. पुलिस के अनुसार इन दोनों ने पुलिस पूछताछ में स्वीकार किया कि इन्होंने हाईवे पर कई महिलाओं और ट्रांसजेंडर का यौन शोषण किया. इसमें महिला डॉक्टर की तरह उन्होंने 9 महिलाओं के साथ उन्होंने रेप करने के बाद उन्हें जला दिया.

यह भी पढ़ें...
कोटखाई रेप- मर्डर Exclusive: ये है शिमला की 'गुड़िया' के साथ हुई दरिंदगी की पूरी कहानी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading