लाइव टीवी

हैदराबाद गैंगरेप: दरिंदगी से एनकाउंटर तक के वो 9 दिन, जानें कब क्या हुआ?

News18Hindi
Updated: December 6, 2019, 10:47 AM IST
हैदराबाद गैंगरेप: दरिंदगी से एनकाउंटर तक के वो 9 दिन, जानें कब क्या हुआ?
गैंगरेप और हत्या के नौ दिन के बाद चारों आरोपियों का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया गया.

हैदराबाद (Hyderabad) में महिला वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप (Gangrape) के बाद हत्या के मामले के सभी चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है. पढ़ें इस मामले का पूरा टाइमलाइन.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2019, 10:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हैदराबाद (Hyderabad) में महिला वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप (Gangrape) के बाद हत्या और शव जलाने के मामले के सभी चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है. बताया जाता है कि पुलिस सभी आरोपियों को गुरुवार की देर रात घटनास्थल पर ले गई थी, जहां सभी आरोपियों से घटना को रिक्रिएट कराने की कोशिश थी. पुलिस ने बताया कि सभी आरोपी पुलिस को चकमा देकर भागने के फिराक में थे, तभी पुलिस ने सभी आरोपियों को मार गिराया. आइए जानते हैं पिछले 9 दिनों में कैसे चारों आरोपियों ने दरिंदगी की वारदात को अंजाम दिया और आज कैसे उनका एनकाउंटर हो गया.

28 नवंबर: सहायक पशु चिकित्सक (वेटनरी डॉक्टर) के तौर पर काम करने वाली 27 वर्षीय महिला का शादनगर में एक पुल के नीचे जला हुआ शव मिला. इस घटना से एक दिन पहले महिला की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी.

29 नवंबर: इस मामले के तूल पकड़ने के बाद 20 से 24 साल के बीच के चार लोगों को महिला डॉक्टर से  गैंगरेप और उसकी हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया. इन सभी आरोपियों को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया था.

29 नवंबर: पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया था कि मोहम्मद आरिफ, शिवा, नवीन और सी चेन्नकेशवुलु ने वारदात को अंजाम देने के बाद टोंडूपल्ली टोल प्लाजा पर शराब पी थी. आरोपियों ने बताया कि उन्होंने महिला को शराब पिलाई और उसके साथ गैंगरेप किया. बाद में महिला के ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा दी. पुलिस को इस मामले का सबसे पहला सुराग एक टायर मकैनिक से मिला.

30 नवबंर: तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने मामले की गंभीरता को देखते हुए फास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन की घोषणा की. इसी दिन राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम ने मृतक डॉक्टर के परिवार से मुलाकात की और पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए.

01 दिसंबर: तेलंगाना पुलिस महानिदेशक (DGP) ने इस पूरे मामले में पुलिस की कार्रवाई की समीक्षा की. इस मामले में तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया. साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार ने इस पूरे मामले में पुलिस की कार्रवाई पर नाराजगी जताई.

2 दिसंबर: तेलंगाना के हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप के बाद हत्या और शव जलाने का मामला संसद में भी जमकर हंगामा हुआ. सपा नेता जया बच्चन ने तो यहां तक कह दिया था कि 'बलात्कार के दोषियों के साथ किसी तरह की नरमी नहीं की जानी चाहिए, उन्हें सख्त सजा दी जानी चाहिए और उनके खिलाफ कार्रवाई सार्वजनिक तौर पर होनी चाहिए.'3 दिसंबर: दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कड़े कानून की मांग को लेकर अनशन पर बैठती हैं. आरोपियों को पुलिस ने चिंताकुंता चेन्नाकेशावुलू हैदराबाद की चेरलापल्ली जेल में बंद किया.

6 दिसंबर: तेलंगाना पुलिस सभी आरोपियों को गुरुवार की देर रात घटनास्थल पर ले गई थी, जहां सभी आरोपियों से घटना को रिक्रिएट कराने की कोशिश थी. पुलिस ने बताया कि सभी आरोपी पुलिस को चकमा देकर भागने के फिराक में थे, तभी पुलिस ने सभी आरोपियों को मार गिराया.

इसे भी पढ़ें :- हैदराबाद गैंगरेप: डॉक्टर को दरिंदगी के बाद जलाने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया

इसे भी पढ़ें :- हैदराबाद गैंगरेप: जानें कैसे पुलिस ने एनकाउंटर में चारों आरोपियों को मार गिराया?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 6, 2019, 10:31 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर