लाइव टीवी

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर: पुलिस ने बताया आरोपियों ने इस घिनौनी वारदात को कैसे दिया अंजाम

ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 30, 2019, 8:45 AM IST
हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर: पुलिस ने बताया आरोपियों ने इस घिनौनी वारदात को कैसे दिया अंजाम
पुलिस कमिश्‍नर सज्‍जनार ने बताया कि हैदराबाद में वेटेनरी डॉक्‍टर के साथ गैंगरेप व हत्‍या के मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) ने बताया कि वेटेनरी डॉक्‍टर की गैंगरेप (gangrape) के बाद हत्‍या (Murder) की वारदात को आरोपियों ने योजना बनाकर अंजाम दिया था. एक आरोपी ने टायर की हवा निकाली. फिर स्‍कूटी सही करने के बहाने महिला डॉक्टर को दबोचा और नजदीकी कंपाउंड में लेकर गैंगरेप और हत्‍या की. पुलिस ने मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

  • Share this:
हैदराबाद. महिला सरकारी डॉक्‍टर के साथ गैंगरेप (Gang Rape) और हत्‍या (Murder) करने के बाद जलाने के मामले में हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) ने चार लोगों को गिफ्तार कर लिया है. आरोपियों में दो लॉरी ड्राइवर और एक क्‍लीनर है. आरोपियों की पहचान मोहम्‍मद आरिफ, नवीन, केशावुलु और शिवा के तौर पर हुई है. पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने पहले 25 साल की वेटेनरी डॉक्टर प्रीति रेड्डी (बदला हुआ नाम) को किडनैप किया. इसके बाद गैंगरेप कर उसकी हत्‍या कर दी. बाद में शव को आग के हवाले कर दिया. डॉ. प्रीति की मां ने दोषियों को सबके सामने जिंदा जलाने की मांग की है. साथ ही परिजनों का कहना है कि अगर पुलिस उन्‍हें एक से दूसरे थाने नहीं दौड़ती तो उसे बचाया जा सकता था. राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने हैदराबाद पुलिस से कार्रवाई रिपोर्ट तलब की है. वहीं, केंद्रीय गृह राज्‍यमंत्री जी. कृष्‍णा रेड्डी शनिवार को महिला डॉक्‍टर के परिजनों से मिलने के लिए तेलंगाना जाएंगे.

आरोपियों ने 26 नवंबर को टोल प्‍लाजा पर लाकर खड़ा किया था ट्रक
पुलिस कमिश्‍नर सज्‍जनार ने बताया कि आरोपियों ने साजिश रचकर वारदात को अंजाम दिया. डॉ. प्रीति के परिजनों ने 28 नवंबर की अलसुबह 3.10 बजे शमशाबाद थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. शिकायत के मुताबिक, डॉ. प्रीति 27 नवंबर की शाम 5.50 बजे शमशाबाद के अपने घर से गचीबावली के ओलिवा क्‍लीनिक गई थीं. जांच में पता चला है कि ट्रक ड्राइवर मोहम्‍मद आरिफ क्‍लीनर शिवा और दो अन्‍य लोगों के साथ 26 नवंबर को तोंदुपल्‍ली टोल प्‍लाजा पहुंचा था. उसने माल लदा ट्रक वहीं लाकर खड़ा कर दिया था.

डॉ. प्रीति को स्‍कूटी खड़ी करते देखा, एक आरोपी ने निकाल दी थी हवा

चारों आरोपियों ने शाम 6 बजे डॉ. प्रीति को अपनी स्‍कूटी टोल प्‍लाजा पर खड़ी करते हुए देखा. इसके बाद चारों ने शराब पीते हुए वारदात को अंजाम देने की योजना बनाई. इसके बाद नवीन ने उसकी स्‍कूटी के पिछले टायर की हवा निकाल दी. जब डॉ. प्रीति रात 9.18 बजे ओलिवा क्‍लीनिक से लौटीं तो उन्‍हें लगा कि टायर पंक्‍चर हो गया है. इसी दौरान आरिफ अपने ट्रक से उतरा और डॉ. प्रीति से कहा कि उसका क्‍लीनर शिवा इसे ठीक कर देगा. डॉ. प्रीति इसके लिए तैयार हो गई. इसी बीच उन्‍होंने अपनी बहन को फोन कर टायर पंक्‍चर होने के साथ ही आरोपी का हुलिया बता दिया. उन्‍होंने बहन को बताया कि उन्‍हें बहुत डर लग रहा है. उनकी बहन ने उन्‍हें टोल प्‍लाजा पर जाकर इंतजार करने को कहा.

पुलिस कमिश्‍नर सज्‍जनार ने बताया कि आरोपियों ने वारदात को किस तरह से अंजाम दिया.


स्‍कूटी ठीक कराने के बहाने दबोचा और नजदीक ले जाकर किया गैंगरेप-हत्‍या
Loading...

डॉ. प्रीति टोल प्‍लाजा जाने का फैसला कर पातीं इससे पहले ही शिवा ने उन्‍हें बताया कि वह स्‍कूटी ठीक कराने के लिए दूसरी जगह ले जा रहा है. इस पर वह शिवा के साथ स्‍कूटी तक जाने लगी. मौका देखकर आरिफ, नवीन और केशावुलु ने डॉ. प्रीति को पकड़ लिया और जबरन नजदीकी कंपाउंड में ले गए. शिवा भी स्‍कूटी के साथ वहीं पहुंच गया. इसके बाद चारों ने डॉ. प्रीति का रेप किया. इसके बाद मोहम्‍मद आरिफ ने डॉ. प्रीति का मुंह और नाक बंद कर दिया. दम घुटने से उनकी मौत हो गई. इसके बाद आरिफ और केशावुलु ने उनका शव ट्रक में डाला. शिवा और नवीन स्‍कूटी को शादनगर ले गए. आरिफ और केशावुलु ट्रक को उनके साथ लेकर चलते रहे.

शव ट्रक में डालकर शहर में घूमते रहे आरोपी, अंडरपास के नीचे जलाया
स्‍कूटी को ठिकाने लगाने के बाद चारों ट्रक को घुमाकर उलटी दिशा में चटानपल्ली की ओर ले गए. इससे पहले आरोपी शिवा ने कोठूर के नजदीक एक पेट्रोल पंप से पेट्रोल लिया और आरिफ ने जेपी दरगाह चौराहे के पास ट्रक से एक बोतल में डीलजल निकाला. चटानपल्‍ली के रास्‍ते में उन्‍होंने एक अंदरपास पर ट्रक को रोका. इसके बाद डॉ. प्रीति के शव को कंबल में लपेटकर नीचे ले गए. इसके बाद पेट्रोल और डीजल डालकर शव को आग के हवाले कर दिया. इसके कुछ देर बाद दो आरोपी फिर अंडरपास के नीचे गए और देखा कि शव जला है या नहीं. फिर आरिफ ट्रक लेकर माल उतारने चला गया और बाकी तीनों आरामघर चौरस्‍था में ठहर गए.

'समय पर कार्रवाई करती पुलिस तो आज जिंदा होती मेरी बहन'
डॉ. प्रीति की बहन ने बताया कि उसने बात करते समय थोड़ी देर में फिर फोन करने की बात कहकर कॉल काटी थी. इसके बाद उसका फोन बंद हो गया. इसके बाद दो बार कॉल लगाई लेकिन उसका फोन बंद आ रहा था. फिर परिवार के लोगों ने टोल प्लाजा पहुंचकर उसकी तलाश की. जब वह नहीं मिली तो स्थानीय थाने में मिसिंग रिपोर्ट दर्ज कराई. उन्‍होंने कहा कि एक थाने से दूसरे थाने जाने में हमारा काफी समय बर्बाद हो गया. अगर पुलिस ने समय बर्बाद किए बिना कार्रवाई की होती तो मेरी बहन जिंदा होती. बाद में डॉ. प्रीति के परिवार के साथ कई सिपाही लगाए गए. सुबह 4 बजे तक तलाशी अभियान चलाया गया, लेकिन उसका पता नहीं चल पाया. बृहस्‍पतिवार की सुबह पुलिस को एक अंडरपास के नीचे अधजली लाश मिलने की सूचना मिली. इसके बाद परिजनों ने आकर डॉ. प्रीति की पहचान की.

राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने पुलिस से तलब की विस्‍तृत कार्रवाई रिपोर्ट
हैदराबाद के पुलिस कमिश्नर अंजनी कुमार के मुताबिक, अभी तक रेप की पुष्टि नहीं हुई है. घटना के बाद उन्होंने ट्वीट किया कि कोई भी व्‍यक्ति अगर डर महसूस कर रहा है तो तुरंत 100 नंबर पर कॉल करे. पुलिस पेट्रोल कार 6-8 मिनट में आप तक पहुंच जाएगी. हैदराबाद सिटी पुलिस के पास 122 पेट्रोल कार हैं जो आपके पास मदद के लिए आएंगी. हम आपके साथ हमेशा हैं. राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने कहा है कि मामले में दोषियों को सजा मिलने तक आराम से नहीं बैठा जाएगा. आयोग की चेयपर्सन रेखा शर्मा ने हैदराबाद पुलिस से विस्‍तृत कार्रवाई रिपोर्ट मांगी है. स्कूटी को शादनगर के कोत्तुरु से बरामद कर लिया गया है. स्कूटी की नंबर प्लेट उखाड़कर फेंक दिया गया था.

केंद्रीय गृह राज्‍यमंत्री जी. कृष्‍णा रेड्डी शनिवार को महिला डॉक्‍टर के परिजनों से मिलने के लिए तेलंगाना जाएंगे.

ये भी पढ़ें:

महिलाओं के लिए बदतर हालात, हर 6 मिनट में छेड़छाड़ और 16 मिनट में रेप की घटना

बीजेपी नेता ने कहा, बंगाल में नहीं चलेगी पूरे देश में सफल रही चुनावी रणनीति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 8:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...