Home /News /nation /

हैदराबाद गैंगरेप मामला: हाईकोर्ट ने दिया आरोपियों के शव 13 दिसंबर तक सुरक्षित रखने का आदेश

हैदराबाद गैंगरेप मामला: हाईकोर्ट ने दिया आरोपियों के शव 13 दिसंबर तक सुरक्षित रखने का आदेश

हैदराबाद गैंगरेप केस के आरोपियों के एनकाउंटर में शामिल पुलिस वालों के खिलाफ FIR दर्ज करने का आदेश भी हाईकोर्ट ने दिया है (सांकेतिक तस्वीर, PTI)

हैदराबाद गैंगरेप केस के आरोपियों के एनकाउंटर में शामिल पुलिस वालों के खिलाफ FIR दर्ज करने का आदेश भी हाईकोर्ट ने दिया है (सांकेतिक तस्वीर, PTI)

हाईकोर्ट ने हैदराबाद गैंगरेप मामले (Hyderabad Gang Rape Case) में पुलिस एनकाउंटर में मारे गए चारों आरोपियों (Accused) के शवों को 13 दिसंबर तक संरक्षित रखने का आदेश दिया है.

    हैदराबाद. तेलंगाना उच्च न्यायालय (Telangana High Court) ने सोमवार को अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे हैदराबाद गैंगरेप मामले (Hyderabad Gang Rape Case) में पुलिस एनकाउंटर में मारे गए चारों आरोपियों (Accused) के शवों को 13 दिसंबर तक संरक्षित रखें.

    तेलंगाना हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश (Chief Justice of Telangana High Court) आर एस चौहान की अध्यक्षता वाली पीठ (Bench) ने इस संबंध में निर्देश दिये.

    शव 6 दिसंबर से ही महबूबनगर के सरकारी अस्पताल में रखे हुए हैं
    अदालत ने कहा कि अगर महबूबनगर के सरकारी अस्पताल में शवों को 13 दिसंबर तक सुरक्षित रखने की व्यवस्था न हो तो उन्हें हैदराबाद (Hyderabad) में सरकार द्वारा संचालित गांधी अस्पताल में स्थानांतरित किया जा सकता है.

    ये शव फिलहाल छह दिसंबर को हुई कथित मुठभेड़ के बाद महबूबनगर के सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम (Postmortem) के बाद से रखे हुए हैं.

    मुठभेड़ में शामिल पुलिस वालों पर अभी तक FIR दर्ज न होने पर हाईकोर्ट ने जताई हैरानी
    एक याचिका पर सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश ने हैरानी जताई कि क्या मुठभेड़ में शामिल पुलिसवालों के खिलाफ कोई एफआईआर (FIR) दर्ज की गई है. अदालत की राय थी कि उच्चतम न्यायालय के दिशानिर्देश के मुताबिक उन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की जरूरत होती है जो मुठभेड़ में शामिल होते हैं.

    महाधिवक्ता बी एस प्रसाद ने अदालत को बताया कि उच्चतम न्यायालय में इसी मुद्दे पर दो जनहित याचिकाएं (PIL) दायर की गई हैं और न्यायालय बुधवार को इन पर सुनवाई करेगा. इसके मद्देनजर उन्होंने इस मामले की सुनवाई बुधवार बाद तक स्थगित करने का अनुरोध किया.

    12 दिसंबर को इस मामले में होगी अगली सुनवाई
    इस पर अदालत ने मामले में सुनवाई की अगली तारीख 12 दिसंबर तय की. अदालत ने छह दिसंबर को राज्य सरकार (State Government) को इन शवों को नौ दिसंबर रात आठ बजे तक सुरक्षित रखने का निर्देश दिया था.

    कथित पुलिस मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपियों पर 25 वर्षीय पशु चिकित्सक से सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) कर उसकी हत्या करने का आरोप था.

    यह भी पढ़ें: क्यों बिहार के बक्सर जेल की रस्सी से ही दी जाती है देशभर में फांसी

    Tags: Gang Rape, High court, Hyderabad, Hyderabad Gang rape, Postmartem, Supreme Court, Telangana

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर