लाइव टीवी

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर में सामने आई नई CCTV फुटेज, इसी के सहारे पुलिस ने पकड़े थे सारे आरोपी

News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 3:16 PM IST

हैदराबाद में वेटरनरी डॉक्टर दिशा गैंगरेप और मर्डर केस (Hyderabad Gang Rape) में एक नई सीसीटीवी फुटेज (CCTV) सामने आई है. दावा किया जा रहा है कि इसी सीसीटीवी फुटेज के सहारे पुलिस आरोपियों तक पहुंची थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 3:16 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना में हैदराबाद में वेटरनरी डॉक्टर दिशा (बदला हुआ नाम) के साथ गैंगरेप (Hyderabad Gang Rape) और फिर जलाकर मार डालने के मामले में एक नई सीसीटीवी फुटेज सामने आई है. दरअसल शमशाबाद टोल प्‍लाजा से 27 नवंबर की रात चार ट्रक ड्राइवर और क्‍लीनर ने वेटरनरी डॉक्टर को अगवा कर लिया था. इसके बाद उनके शव को टोल प्‍लाजा से काफी दूर ले जाकर पेट्रोल और डीजल डालकर आग के हवाले कर दिया. पुलिस ने 48 घंटे के भीतर आरोपियों को धर दबोचा. पुलिस को आरोपियों तक पहुंचने में तकनीकी सबूतों से काफी मदद मिली थी.

फुटेज में टोल प्‍लाजा से जाता नजर आ रहा है ट्रक
दावा किया जा रहा है कि इसी सीसीटीवी फुटेज के सहारे पुलिस आरोपियों तक पहुंची थी. हालांकि News18 हिन्दी इन दावों की सत्यता की स्वंतत्र रूप से पुष्टि नहीं करता. शमशाबाद टोल प्‍लाजा के इस सीसीटीवी फुटेज में एक ट्रक तेजी से दो लेन क्रॉस कर जाता हुआ दिख रहा है. दावा किया जा रहा है कि आरोपी गैंगरेप और हत्‍या के बाद दिशा के शव को इसी ट्रक में डालकर टोल प्‍लाजा से ले गए थे. इसके बाद उन्‍होंने पहले दिशा की स्‍कूटी को ठिकाने लगाया. फिर उनके शव को सुनसान इलाके में ले जाकर एक अंडरपास के नीचे पेट्रोल और डीजल डालकर आग के हवाले कर दिया था.

पुलिस ने कहा था, फुटेज के आधार पर पकड़े आरोपी

गैंगरेप के बाद मर्डर और फिर शव को जलाने के इस मामले में हैदराबाद की साइबराबाद थाना पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था. इनमें दो ट्रक के ड्राइवर और दो क्लीनर थे. आरोपी की पहचान मोहम्मद पाशा, नवीन, केशावुलु और शिवा के तौर पर हुई थी. पुलिस का कहना था कि आरोपियों ने पहले पीड़िता को किडनैप किया और फिर गैंग रेप (Gang Rape) किया. बाद में उसे मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने बताया था कि सभी आरोपियों को सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गिरफ्तार किया गया है. अब दावा किया जा रहा है कि यह वही सीसीटीवी फुटेज है, जिसके आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी.

6 दिसंबर को पुलिस मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपी
मामले में चारों आरोपी 6 दिसंबर की सुबह पुलिस मुठभेड़ में मारे गए. पुलिस कमिश्नर सीपी सज्जनार ने शुक्रवार को बताया कि रिमांड के चौथे दिन उन्हें बाहर लेकर जाया गया. उन्होंने कई सबूत दिए. आगे के सबूत इकट्ठा करने के लिए उन्‍हें फिर बाहर लेकर जाया गया. इसी दौरान उन्होंने पुलिस पर हमला बोल दिया. इसी दौरान आरोपी मोहम्मद आरिफ और केशावुलु ने हथियार छीन लिया. वे फायरिंग करते हुए भागने की फिराक में थे. चारों आरोपियों की मौत गोली लगने के कारण ही हुई है. इस दौरान एक सब-इंस्‍पेक्‍टर और कॉन्स्टेबल घायल हो गए थे.ये भी पढ़ें- तिहाड़ जेल में निर्भया के हत्यारों की फांसी देने का तख्त तैयार, हुआ ट्रायल!

संविधान के इन अनुच्छेदों का हवाला देकर क्यों हो रहा है नागरिकता बिल का विरोध

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 12:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर