अपना शहर चुनें

States

हैदराबाद निकाय चुनाव: BJP ने झोंकी पूरी ताकत, आज योगी की रैली, अमित शाह-नड्डा भी करेंगे प्रचार

चुनाव प्रचार के आखिरी दिन यानी 29 नवंबर को अमित शाह (Amit Shah) हैदराबाद आ रहे हैं.
चुनाव प्रचार के आखिरी दिन यानी 29 नवंबर को अमित शाह (Amit Shah) हैदराबाद आ रहे हैं.

Hyderabad Municipal Election 2020: अमित शाह (Amit Shah) सिकंदराबाद इलाके में रोड शो करेंगे. साध्वी निरंजन ज्योति भी बीजेपी के लिए प्रचार करने हैदराबाद पहुंचेंगी. ये बेहद दिलचस्प होगा जब अमित शाह और योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी के गढ़ हैदराबाद में प्रचार के लिए उतरेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2020, 11:29 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. हैदराबाद नगर निगम का चुनाव (Hyderabad Municipal Election 2020) इस बार राष्ट्रीय राजनीति का केंद्र बनता दिखाई दे रहा है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने निकाय चुनाव में पूरी ताकत झोंक दी है. ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिल कॉर्पोरेशन (GHMC) चुनाव में बीजेपी पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व प्रचार करने हैदराबाद पहुंच रहा है. आज सबसे पहले सबसे पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) हैदराबाद जाएंगे. योगी यहां रोड शो और रैली करेंगे. वो मल्कज्गिरी और हैदराबाद संसदीय क्षेत्र में प्रचार करेंगे. इसके बाद 28 नवंबर को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा(JP Nadda) हैदराबाद पहुंचेंगे और नड्डा मल्कज्गिरी क्षेत्र में प्रचार करेंगे. चुनाव प्रचार के आखिरी दिन यानी 29 नवंबर को अमित शाह (Amit Shah) हैदराबाद आ रहे हैं.

अमित शाह सिकंदराबाद इलाके में रोड शो करेंगे. साध्वी निरंजन ज्योति भी बीजेपी के लिए प्रचार करने हैदराबाद पहुंचेंगी. ये बेहद दिलचस्प होगा जब अमित शाह और योगी आदित्यनाथ AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी के गढ़ हैदराबाद में प्रचार के लिए उतरेंगे. क्योंकि बीजेपी और औवैसी की पार्टी के नेताओं के बीच लगातार वार-पलटवार चल रहे हैं.

हैदराबाद के 150 वार्ड के लिए करीब 10 हजार पोलिंग सेंटर पर 1 दिसंबर को मतदान कराया जाएगा. जबकि चुनाव के नतीजे 4 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.




बीजेपी उठा रही रोहिंग्या मुसलमानों का मुद्दा
हैदराबाद चुनाव प्रचार में बीजेपी रोहिंग्या मुसलमानों का मुद्दा उठा रही है. ओवैसी की पार्टी के नेता भी जमकर पलटवार कर रहे हैं. ओवैसी तो सीधे गृहमंत्री अमित शाह को चुनौती दे चुके हैं. ओवैसी ने सोमवार को हैदराबाद में एक जनसभा को संबोधन के दौरान रोहिंग्या मुसलमानों (Rohingya Muslims) का मुद्दा उठाया. AIMIM चीफ ने पूछा कि अगर इलेक्टोरल लिस्ट (मतदाता सूची) में 30 हजार रोहिंग्या हैं, तो गृहमंत्री अमित शाह क्या कर रहे हैं? क्या यह देखना उनका काम नहीं है? इलेक्टोरल लिस्ट आखिर 30 से 40 हजार रोहिंग्या का नाम कैसे शामिल हो गया.

हैदराबाद निकाय चुनाव: वोटर लिस्ट में 30 हजार रोहिंग्या के दावे पर असदुद्दीन ओवैसी बोले- अमित शाह क्या कर रहे हैं?



'मोहम्मद अली जिन्ना' का भी हो चुका जिक्र
बीजेपी सांसद तेजस्वी सूर्या ने ओवैसी को जिन्ना का अवतार बता डाला, तो वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष बंदी संजय कुमार ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो ओल्ड सिटी इलाके में रहने वाले घुसपैठियों पर वह 'सर्जिकल स्ट्राइक' करेंगे.

ओवैसी बोले- प्रचार के लिए पीएम मोदी को भी आना चाहिए
बीजेपी के आक्रामक प्रचार को लेकर AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी से कहा कि इस ओल्ड सिटी में चुनावी अभियान के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर आना चाहिए. हैदराबाद ओवैसी का गढ़ माना जाता है और बीजेपी यहां से जीत हासिल करने को पूरा प्रयास कर रही है.

उन्होंने कहा, 'हम देखेंगे कि क्या होता है. आप दूसरों को क्यों ला रहे हैं, उन्हें लेकर आइए. यहां उनकी बैठक आयोजित करें और हम देखते हैं कि आप यहां कितनी सीटें जीतेंगे.

..तो इस तरह अख्तरुल इमान ने बिहार में भी असदुद्दीन ओवैसी की विचारधारा की शुरुआत की

अंतिम चुनाव में किसे मिली जीत?
अंतिम निकाय चुनाव में राज्य की सत्तारुढ़ TRS ने अपना कब्जा जमाया था. TRS को 99 सीटें मिली थीं. बीजेपी को 4 सीटें और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने 44 सीटें जीती थीं. कांग्रेस ने दो वार्डों पर कब्जा जमाया था, तो TDP को एक सीट मिली थी. (एजेंसी इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज