हैदराबाद गैंगरेप: एनकाउंटर में मारे गए चारों आरोपियों का फिर से हुआ पोस्टमार्टम, घर वालों को दिया गया शव

हैदराबाद गैंगरेप: एनकाउंटर में मारे गए चारों आरोपियों का फिर से हुआ पोस्टमार्टम, घर वालों को दिया गया शव
एनकाउंटर घटनास्थल की फाइल फोटो

एम्स ने हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर के सामूहिक बलात्कार और हत्या (Hyderabad Gang Rape) के चारों आरोपियों के शवों का दूसरी बार पोस्टमार्टम करने के लिए तीन फॉरेंसिक डॉक्टरों का दल गठित किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 25, 2019, 8:17 AM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप (Hyderabad Gang Rape) और फिर जला कर हत्या करने के आरोपियों के शवों का सोमवार को दिल्ली स्थित एम्स के डॉक्टरों ने फिर से पोस्टमार्टम किया. एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि पोस्टमार्टम पूरा होने के बाद शवों को उनके परिवार के सदस्यों को सौंप दिया गया. सरकारी गांधी अस्पताल के अधीक्षक डॉ. पी श्रवण कुमार ने बताया कि अस्पताल में एक अलग कक्ष की व्यवस्था की गई थी, ताकि वहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के चिकित्सक पोस्टमार्टम कर सकें. पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई गई. तेलंगाना हाईकोर्ट ने शनिवार को चारों आरोपियों के शवों का फिर से पोस्टमार्टम कराए जाने का आदेश दिया था. ये चारों आरोपी छह दिसंबर को पुलिस के साथ एक कथित मुठभेड़ (Hyderabad Encounter) में मारे गए थे.

आरोपियों के शवों का पहला पोस्टमार्टम छह दिसंबर को ही महबूबनगर के सरकारी अस्पताल में किया गया था, जहां से बाद में इन शवों को गांधी अस्पताल में लाया गया था. कुमार ने कहा कि पोस्टमार्टम पूरा हो चुका है. फॉरेंसिक विशेषज्ञ अपनी रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में हाईकोर्ट को दिया. उन्होंने कहा कि शिनाख्त प्रक्रिया पूरी होने के बाद शवों को परिजन को सौंप दिया गया. दो-दो शव लेकर दो एंबुलेंस आरोपियों के नारायणपेट जिले स्थित पैतृक गांव रवाना हुई.

दूसरी बार पोस्टमार्टम शुरू करने से पहले एम्स के चिकित्सकों के दल ने मृतकों को परिजन से बातचीत की और उनके बयान दर्ज किए. उन्होंने कहा कि दल के सदस्य पहले मृतकों के परिजन से बात करना चाहते थे. इसी के अनुरूप हमने दल के साथ परिजन की मुलाकात की व्यवस्था की. दल ने उनका बयान दर्ज किया.



छोटा वीडियो कैमरा और कंप्यूटर भी दिया



कुमार ने कहा कि एम्स से आए दल के अनुरोध पर उन्हें एक हैंडीकैम (छोटा वीडियो कैमरा) और एक कंप्यूटर भी उपलब्ध कराया गया. पुलिस ने अस्पताल के आस-पास सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए थे. इन चारों आरोपियों को 29 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था. इन पर पशुचिकित्सक से कथित तौर पर बलात्कार कर उसे जलाने का आरोप था.

इस वारदात के बाद देश भर में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हुए थे. पुलिस ने एक कथित मुठभेड़ में चारों आरोपियों को मार गिराया था. यह मुठभेड़ चट्टनपल्ली इलाके में तब हुई जब जांच के दौरान पुलिस चारों आरोपियों को मौका-ए-वारदात पर लेकर गई थी. उसी दौरान आरोपियों ने कथित तौर पर पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया था.

यह भी पढ़ें:  #BreakingSilence: फटे कपड़ों और बहते खून के साथ मैं आधी रात सड़क पर बैठी थी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading