लाइव टीवी
Elec-widget

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस : ट्विटर पर हैवानियत को सांप्रदायिक रंग देते दिखे लोग

News18Hindi
Updated: November 30, 2019, 4:16 PM IST
हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस : ट्विटर पर हैवानियत को सांप्रदायिक रंग देते दिखे लोग
हैदराबाद पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

हैदराबाद पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनकी पहचान मोहम्मद आरिफ, नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और शिवा के तौर पर हुई है. ऐसे में सोशल मीडिया पर कुछ समूह इस घटना को सांप्रदायिक रूप देने की कोशिश कर रहे हैं. घटना के एक दिन बाद ट्विटर पर #Balatkari_Mohammed_Nikala ट्रेंड होने लगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 4:16 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर (Veterniary Doctor) से दरिंदगी के बाद हत्या और फिर लाश को जलाने की घटना इन दिनों ट्विटर पर चर्चा का विषय बनी हुई है. ट्विटर पर कुछ लोग जहां महिला डॉक्टर को न्याय दिलाने के लिए कैंपेन चला रहे हैं. वहीं, एक समूह गैंगरेप और हत्या के इस मामले को सांप्रदायिक रूप देते हुए एक समुदाय विशेष को टारगेट करने की कोशिश भी कर रहा है. इस मामले में हैदराबाद पुलिस की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है.

दरअसल, हैदराबाद पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनकी पहचान मोहम्मद आरिफ, नवीन, चिंताकुंता केशावुलु और शिवा के तौर पर हुई है. ऐसे में सोशल मीडिया पर कुछ समूह गैंगरेप और हत्या की घटना को सांप्रदायिक रूप देने की कोशिश कर रहे हैं. घटना के एक दिन बाद ट्विटर पर #Balatkari_Mohammed_Nikala ट्रेंड करने लगा. क्योंकि आरोपियों में एक विशेष समुदाय से है. इसलिए लोग उस समुदाय को लेकर आपत्तिजनक कमेंट कर रहे हैं.

ट्विटर के अलावा फेसबुक और वॉट्सऐप पर इस आरोपी की खबरें शेयर की जा रही है. गौरतलब है कि हैदराबाद गैंगरेप और मर्डर केस को नेशनल टीवी चैनलों द्वारा अभी तक बड़े लेवल पर कवर नहीं किया जा रहा है. कुछ लोकल चैनल इसे प्रमुख तौर पर उठा रहे हैं. वहीं, सोशल मीडिया खासकर ट्विटर पर इस मामले को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश हो रही है.

सामने आई पुलिस की लापरवाही

पीड़िता के परिवार ने इस मामले में पुलिस के रुख पर भी सवाल खड़े किए हैं. परिवार के मुताबिक, शुरुआत में पुलिस ने रिपोर्ट लिखने में देरी की. उनका आरोप है कि पुलिस ने ये कहकर पल्ला झाड़ने की कोशिश की कि ये मामला उनके थाने का नहीं है.

hyderabad rape
पुलिस मामले को फास्ट ट्रैक ले जाने की तैयारी कर रही है.


पीड़िता की बहन का आरोप
Loading...

न्यूज़18 से बातचीत करते हुए पीड़िता की बहन ने कहा, 'मां के कहने पर मैं उसे देखने के लिए टोल प्लाजा पर गईं. वो वहां नहीं मिली. मैंने पुलिस को कॉल किया. इसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज देखी. टोल प्लाजा पर पहुंचते हुए उसे देखा गया, लेकिन बाद का फुटेज उसमें नहीं था. इस बीच पुलिस ने कहा कि ये उनके पुलिस स्टेशन का मामला नहीं है, वो इलाका किसी दूसरे थाने के अंदर आता है. वहां पहुंचते-पहुंचते रात के साढ़े तीन बज गए थे. मैं घर लौट आई और मेरे पापा दो सिपाहियों के साथ मेरी बहन की तलाश करते रहे. साढ़े पांच बजे वो वापस आ गए.'

क्या है पूरा मामला?
पुलिस के मुताबिक, चारों आरोपियों ने महिला डॉक्टर को टोल प्लाजा पर स्कूटी पार्क करते देखा था. तभी एक आरोपी शिवा ने उसकी स्कूटी की हवा निकाल दी. जब महिला डॉक्टर अपनी ड्यूटी पूरी कर घर के लिए निकली, तो उसने देखा कि स्कूटी पंक्चर है. रात काफी होने के कारण महिला डॉक्टर ने अपनी छोटी बहन को फोन किया और स्कूटी खराब होने के बारे में बताया. साथ ही बहन से ये भी कहा कि उन्हें कुछ ठीक महसूस नहीं हो रहा. डर लग रहा है.

परिवार के पुलिस में दिए बयान के मुताबिक, छोटी बहन ने महिला डॉक्टर को स्कूटी वहीं छोड़कर कैब से घर आने की सलाह दी थी. इस दौरान आरोपी चिंताकुंता केशावुलु और शिवा वहां मदद के लिए पहुंच गए. शिवा स्कूटी ठीक कराने के बहाने महिला डॉक्टर को कुछ दूर ले गया, जहां बाकी आरोपी ताक लगाए बैठे थे. जैसी ही महिला डॉक्टर वहां पहुंची, आरोपियों ने उसे बंधक बना लिया.




गैंगरेप से पहले जबरन पिलाई शराब
पुलिस जांच में पता चला है कि दरिंदगी से पहले आरोपियों ने खूब शराब पी. महिला डॉक्टर को भी जबरन शराब पिलाई. इसके बाद आरोपी मोहम्‍मद आरिफ ने महिला डॉक्टर का मुंह हाथ से बंद कर दिया, ताकि वो चीख न सके. इस दौरान चारों आरोपियों ने बारी बारी से महिला डॉक्टर से रेप किया. माना जा रहा है कि सांस नहीं ले पाने के कारण महिला डॉक्टर का दम घुट गया और मौत हो गई.

पुलिस के मुताबिक, वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी लाश को ट्रक में लादकर आगे ले गए. रास्ते में पेट्रोल पंप से पेट्रोल खरीदा. फिर फ्लाईओवर के नीचे सुनसान जगह पर लाश को पेट्रोल से जला दिया.


पुलिस ने गुमशुदगी की रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर के परिवार के लोगों को घटनास्थल पर बुलाया. अधजले स्कार्फ और गोल्ड पेंडेंट से डॉक्टर के शव की पहचान हुई. बहरहाल, चारों आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस इस केस को फास्ट ट्रैक में चलाए जाने की प्रक्रिया कर रही है. वहीं, परिवार ने दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की मांग की है.

ये भी पढ़ें: 

हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस: परिवार ने बयां किया दर्द, कहा- इस थाने से उस थाने भेजते रहे पुलिस वाले
आरोपियों ने खुद पंक्चर की थी डॉक्टर की स्कूटी, जबरन पिलाई शराब, फिर मुंह बंदकर किया गैंगरेप
हैदराबाद गैंगरेप मर्डर: पीड़‍िता की मां बोलीं- सबके सामने जिंदा जलाए जाएं दोषी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 3:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...