होम /न्यूज /राष्ट्र /वैज्ञानिकों ने खोजा कमरे के तापमान पर पानी से हाइड्रोजन बनाने का तरीका: रिसर्च

वैज्ञानिकों ने खोजा कमरे के तापमान पर पानी से हाइड्रोजन बनाने का तरीका: रिसर्च

वैज्ञानिकों ने कमरे के तापमान पर पानी से हाइड्रोजन गैस उत्पन्न करने का एक नया तरीका खोजा है. (PHOTO- Alexander Limbach/Shutterstock)

वैज्ञानिकों ने कमरे के तापमान पर पानी से हाइड्रोजन गैस उत्पन्न करने का एक नया तरीका खोजा है. (PHOTO- Alexander Limbach/Shutterstock)

रिसर्च कर रहे वैज्ञानिकों का कहना है कि उन्होंने कमरे के तापमान पर पानी से हाइड्रोजन गैस उत्पन्न करने का एक नया तरीका ख ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

ये रिसर्च स्वच्छ और रिन्यूबल एनर्जी सोर्स की ओर एक बड़ा कदम हो सकता है.
प्राकृतिक गैस से जुड़ी प्रक्रिया से लगभग 95 प्रतिशत हाइड्रोजन का उत्पादन होता है.
हाइड्रोजन पर वर्षों से एक प्रकार के फ्यूल या एनर्जी सोर्स के रूप में रिसर्च किया जा रहा है.

नई दिल्ली. हाल ही में वैज्ञानिकों ने साइंस की दुनिया में एक चमत्कार किया है. रिसर्च कर रहे वैज्ञानिकों का कहना है कि उन्होंने कमरे के तापमान पर पानी से हाइड्रोजन गैस उत्पन्न करने का एक नया तरीका खोजा है जो स्वच्छ और रिन्यूबल एनर्जी सोर्स की ओर एक बड़ा कदम हो सकता है. हाइड्रोजन पर वर्षों से एक प्रकार के ईंधन या ऊर्जा स्रोत के रूप में रिसर्च किया जा रहा है. ब्रह्मांड में सबसे सरल और सबसे प्रचुर तत्व हाइड्रोजन है. केवल एक प्रोटॉन और एक इलेक्ट्रॉन इस परमाणु को बनाते हैं. Newsweek की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने कमरे के तापमान पर पानी से हाइड्रोजन गैस बनाने की एक नई विधि की खोज की है.

हाइड्रोजन और ऑक्सीजन परमाणुओं को एक प्रक्रिया में जोड़कर काम करता है जो पानी, बिजली और थोड़ी मात्रा में गर्मी पैदा करता है. अक्टूबर 2021 के अंत तक, हाइड्रोजन ईंधन सेल बिजली जनरेटर ने संयुक्त राज्य भर में लगभग 260 मेगावाट बिजली क्षमता का उत्पादन किया. तुलनात्मक रूप से, औसत पवन टरबाइन ने 2020 में लगभग 2.75 मेगावाट का उत्पादन किया था. जबकि हाइड्रोजन ब्रह्मांड में सबसे प्रचुर मात्रा में तत्व है, फिर भी हमें इसे ईंधन के तौर पर इस्तेमाल करने की आवश्यकता है. समस्या यह है कि यूएस ऑफिस ऑफ़ एनर्जी एफिशिएंसी एंड रिन्यूएबल एनर्जी के अनुसार, प्राकृतिक गैस से जुड़ी प्रक्रिया से लगभग 95 प्रतिशत हाइड्रोजन का उत्पादन होता है, और यह प्रक्रिया रिन्यूबल नहीं है. लेकिन आज ऐसा नहीं है.

बता दें कि स्वच्छ हाइड्रोजन ईंधन का उत्पादन करने के लिए कुशल और किफायती तरीके विकसित करने के लिए वैज्ञानिक वर्षों से एल्यूमीनियम की प्रतिक्रियाशीलता का अध्ययन कर रहे हैं. हाइड्रोज दुनिया में प्रचूर मात्रा में उपलब्ध है लेकिन इसे ईंधन के तौर पर इस्तेमाल करने की जरुरत है. लेकिन समस्या यह है कि नेचुरल गैस से जुड़े प्रोसेस से करीब 95 प्रतिशत हाइड्रोजन का उत्पादन होता है और यह प्रक्रिया रिन्यूबल नहीं है. हालांकि, इस विशेष समस्या का समाधान हो सकता है. कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, सांताक्रूज (यूसीएससी) के शोधकर्ताओं ने एक विशेष प्रकार का एल्यूमीनियम मिश्रित विकसित करके हाइड्रोजन का उत्पादन करने का एक तरीका खोजा है जो कमरे के तापमान पर पानी के साथ प्रतिक्रिया करता है.

Tags: Hydrogen, Research

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें