होम /न्यूज /राष्ट्र /मैं घर पर हूं, CBI का लुकआउट नोटिस मुझे बदनाम करने की कोशिश: TMC विधायक

मैं घर पर हूं, CBI का लुकआउट नोटिस मुझे बदनाम करने की कोशिश: TMC विधायक

टीएमसी नेता माणिक भट्टाचार्य ने CBI के लुकआउट नोटिस को गलत बताया है.

टीएमसी नेता माणिक भट्टाचार्य ने CBI के लुकआउट नोटिस को गलत बताया है.

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में प्राथमिक विद्यालय शिक्षक भर्ती घोटाले (Teachers Recruitment Scam) में जांच के सिलसिले मे ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

शिक्षक भर्ती घोटाले में टीएमसी विधायक का नाम आया
CBI ने जारी किया लुक आउट नोटिस, MLA ने दी सफाई
कहीं भागा नहीं हूं, अपने घर में हूं: MLA माणिक भट्टाचार्य

कोलकाता.  पश्चिम बंगाल (West Bengal) में प्राथमिक विद्यालय शिक्षक भर्ती (Teachers Recruitment Scam) में कथित अनियमितताओं की जांच के सिलसिले में विधायक माणिक भट्टाचार्य के खिलाफ केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) द्वारा लुकआउट नोटिस जारी किए जाने के एक दिन बाद तृणमूल (TMC) नेता ने शुक्रवार को कहा कि वह शहर में अपने आवास में हैं और जांच एजेंसी के साथ सहयोग कर रहे हैं. राज्य प्राथमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष भट्टाचार्य ने कहा कि लुकआउट नोटिस उन्हें ‘बदनाम करने की कोाशिश’ है. उन्होंने एक बांग्ला समाचार चैनल से कहा, ‘मैं न तो बच कर भागा हूं और न ही कहीं गया हूं. मैं यादवपुर में अपने आवास में हूं. मैं नहीं जानता कि मेरे खिलाफ लुकआउट नोटिस क्यों जारी किया गया. मैंने जांच को लेकर सीबीआई के साथ हमेशा सहयोग किया है और मैं भविष्य में भी ऐसा ही करता रहूंगा.’

भट्टाचार्य ने कहा, ‘ऐसा लगता है कि मुझे बदनाम करने के लिए लुकआउट नोटिस जारी किया गया. मुझे नहीं पता कि संशय की यह स्थिति क्यों पैदा की जा रही है.’ सीबीआई ने एक अधिकारी ने बताया था कि जांच एजेंसी ने भट्टाचार्य के अपने आवास पर नहीं मिलने के बाद बृहस्पतिवार को उनके विरुद्ध लुकआउट नोटिस जारी किया था. नादिया जिले के पलाशीपाड़ा के विधायक भट्टाचार्य से पहले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूछताछ की थी. ईडी इस मामले में इस बात का पता लगा रहा है कि धन किन-किन हाथों/ रास्तों से गुजरा है.

घोटाले की छानबीन हो रही, ईडी और सीबीआई की जांच जारी 

एजेंसी ने इन अनियमितताओं के सिलसिले में इस माह के प्रारंभ में स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) के पूर्व सलाहकार डॉ. शांति प्रसाद सिन्हा और उनके पूर्व सचिव अशोक कुमार साहा को गिरफ्तार किया था. प्रवर्तन निदेशालय ने जुलाई में इस घोटाले में पैसों के लेन-देन का पता लगाने के लिए पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी और उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया था. सीबीआई ने इस घोटाले की जांच के सिलसिले में बुधवार को सिलीगुड़ी में उत्तर बंगाल विश्वविद्यालय के कुलपति सुवीरेश भट्टाचार्य के कार्यालय भी पर छापा मारा था.

Tags: Teachers Recruitment Scam, TMC, West bengal

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें