अरुण जेटली की श्रद्धांजलि सभा में भावुक हुए PM मोदी, कहा- ऐसा पल किसी के जीवन में न आए

News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 10:57 PM IST
अरुण जेटली की श्रद्धांजलि सभा में भावुक हुए PM मोदी, कहा- ऐसा पल किसी के जीवन में न आए
भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) की ओर से मंगलवार को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitely) की याद में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया.

भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) की ओर से मंगलवार को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitely) की याद में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2019, 10:57 PM IST
  • Share this:
भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) की ओर से मंगलवार को पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitely) की याद में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया. दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित की गई इस सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi), गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah), रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Ministry Rajnath Singh) , वरिष्ठ भाजपा नेता लाल कृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani) समेत भाजपा के कई बड़े नेता मौजूद रहे. इस सभा में टीएमसी के दिनेश त्रिवेदी, कांग्रेस से अभिषेक मनु सिंघवी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार समेत कई नेता पहुंचे.

पीएम मोदी ने अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि कभी सोचा नहीं था कि कभी ऐसा भी दिन आएगा कि मुझे मेरे दोस्त को श्रद्धांजलि देने के लिए आना पड़ेगा. इतने लंबे कालखंड तक अभिन्न मित्रता और फिर भी मैं उनके अंतिम दर्शन नहीं कर पाया, मेरे मन में इसका बोझ हमेशा बना रहेगा. पीएम ने कहा वे सर्वमित्र थे, वे सर्वप्रिय थे और वे अपनी प्रतिभा, पुरुषार्थ के कारण जिसको जहां भी उपयोगी हो सकते थे, वे हमेशा उपयोगी होते थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा पिछले दिनों अरुण जी के लिए जो लिखा गया है, उनके लिए जो कहा गया है और अभी भी अनेक महानुभावों ने जिस प्रकार से अपनी स्मृतियों को यहां ताजा किया है इस सबसे अनुभव कर सकते हैं कि उनका व्यक्तित्व कितना विशाल था, कितनी विविधताओं से भरा हुआ था.

'स्वास्थ्य की बात में समय नहीं खर्चते थे जेटली'

पीएम ने कहा कि वे लंबे समय तक बीमार थे, लेकिन आखिरी दिन तक अगर उनसे सामने से पूछा जाए तो भी, वे अपनी बात बताने में या अपने स्वास्थ्य के बारे में बताने में समय खर्च नहीं करते थे. उनका मन-मस्तिष्क हमेशा देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए रम गया था. यही उनकी ऊर्जा, उनका सामर्थ्य था.



हर बात की रखते थे जानकारी
Loading...

प्रधानमंत्री ने कहा कि अरुण जी का जीवन इतनी विविधताओं से भरा हुआ था कि दुनिया की किसी भी लेटेस्ट चीज की बात निकालिये, वो उसका पूरा कच्चा चिट्ठा खोल देते थे, उनके पास जानकारियों का भंडार था. पीएम ने कहा कि छात्र राजनीति की नर्सरी में पैदा हुआ पौधा हिंदुस्तान की राजनीति के विशाल फलक में एक वट वृक्ष बनकर उभर आए ये अपने आप में बहुत बड़ी बात है. प्रतिभा को एक निश्चित दिशा में ढाल करके उन्होंने हर काम में एक नई ऊर्जा और एक नई सोच दी.

पीएम मोदी ने कहा हम सबने कुछ न कुछ खोया है, अरुण जी की उत्तम स्मृतियों से प्रेरणा लेते हुए हम सभी कुछ न कुछ देश और समाज के लिए करने के एक भी अवसर को नहीं जाने देंगे.

पहली मुलाकात में जेटली के कायल हो गए थे रक्षामंत्री
इस सभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जो भी अरुण जी से मिलता था, स्वाभाविक रूप से उनका कायल हो जाता था. उनसे पहली मुलाकात में ही मैं उनकी योग्यता और कार्यक्षमता का कायल हो गया था.

अमित शाह बोले- ये मेरी निजी क्षति
गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अरुण जी के असमय चले जाने से देश, देश की संसद, भाजपा, उनके परिवार और मेरी निजी क्षति हुई है. ये जो रिक्तता उनके जाने से सार्वजनिक जीवन में बन गई हो, वो लंबे समय तक नहीं भर पाएगी. गृह मंत्री ने कहा श्री अरुण जी बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे, सार्वजनिक जीवन के कई क्षेत्रों में उनका दखल रहता था और वह समय-समय पर मार्गदर्शन भी करते थे. शाह ने कहा अपने बारे में सोचे बिना और अपनी पार्टी व विचारधारा के बारे में सोचते हुए कोई व्यक्ति कैसे अंतिम सांस तक काम कर सकता है, उसका अरुण जी उत्कृष्ट उदाहरण हैं.



अमित शाह ने कहा अरुण जी संसद के अंदर एक जागरूक सांसद, एक ओजस्वी वक्ता थे और देश के हित के मुद्दों को पार्टी लाइन से ऊपर उठाकर, कैसे देश के मुद्दे बना सकते हैं, ये बात अरुण जी ने सबके सामने रखी.

बड़े भाई की तरह रहे जेटली
गृह मंत्री मे कहा सार्वजनिक जीवन में पार्टी लाइन को क्रॉस करते हुए ढेर सारे लोगों से मित्रता के संबंध बनाना उनकी विशेषता थी. अपने से आयु में बड़े, हमउम्र और अपने से छोटे सभी पार्टी कार्यकर्ताओं को अपना मित्र बनाने की कला अरुण जी के पास थी. उन्होंने कहा मेरे जीवन में कठिन से कठिन समय जब आया, मैं दिल्ली आया तो मुझे कभी नहीं लगा कि मैं अपने प्रदेश से बाहर आया हूं. वो हमेशा एक बड़े भाई की तरह खड़े रहे, चट्टान के जैसे मेरे साथ खड़े रहे. चाहे पार्टी के अंदर बात करनी हो, चाहे कानूनी लड़ाई लड़नी हो.

नड्डा बोले- भाजपा का बहुत नुकसान हुआ
इस कार्यक्रम में भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा श्री अरुण जेटली जी के रूप में देश ने एक उच्चतम कोटि का नेता असमय खो दिया. उनकी कमी सिर्फ भाजपा को ही नहीं बल्कि राजनीतिक दृष्टि से हर किसी को खलती रहेगी. नड्डा ने कहा श्री अरुण जेटली जी के चले जाने से भाजपा को जो नुकसान हुआ है वो बयान नहीं किया जा सकता. उनका जीवन पार्टी के प्रति समर्पित था. छात्र जीवन में जब युवा अपने करियर को तलाशते हैं, तब वो आपातकाल के दौरान जेल गए. जेपी आंदोलन में उन्होंने कई युवाओं को प्रेरित किया

आपको बता दें पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का 23 अगस्त को लंबी बीमारी के बाद नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया था.

ये भी पढ़ें-
तमिलनाडु के शख्‍स ने PM मोदी को भेजा बेटी की शादी का निमंत्रण, मिला ये जवाब

केंद्रीय मंत्री ने कहा- धारा-370 और 35A को खत्म करना सबसे साहसिक कदम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 7:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...