लाइव टीवी
Elec-widget

इनकम टैक्स की छापेमारी में 3,300 करोड़ रुपये के हवाला रैकेट का खुलासा, बड़े कॉरपोरेट घराने शामिल

भाषा
Updated: November 11, 2019, 9:52 PM IST
इनकम टैक्स की छापेमारी में 3,300 करोड़ रुपये के हवाला रैकेट का खुलासा, बड़े कॉरपोरेट घराने शामिल
आयकर विभाग ने 3,300 करोड़ रुपये के गैरकानूनी हवाला धंधे में लगे गिरोह का भांडाफोड़ किया है (फोटो- REUTERS)

गिरोह का जाल दिल्ली (Delhi), मुंबई (Mumbai) और हैदराबाद जैसे शहरों में फैला हुआ था. इसमें कई बड़े व्‍यापारियों का नाम भी शामिल है. हालांकि किसी के नाम का खुलासा नहीं किया गया है.

  • Share this:
नयी दिल्ली. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने सोमवार को दावा किया कि आयकर विभाग (Income Tax) ने 3,300 करोड़ रुपये के गैरकानूनी हवाला धंधे (Illegal Hawala Business) में लगे गिरोह का भांडाफोड़ किया है.

गिरोह का जाल दिल्ली (Delhi), मुंबई (Mumbai) और हैदराबाद जैसे शहरों में फैला हुआ था. इसका बुनियादी संरचना क्षेत्र (Infrastructure Sector) में कारोबार करने वाले कई शीर्ष कॉरपोरेट घरानों (Top Corporate Houses) से संबंध है.

42 परिसरों में छापेमारी के बाद हुआ इस बड़े खेल का खुलासा
सीबीडीटी ने एक बयान में कहा कि कर चोरी के इस बड़े खेल को उजागर करने के लिए दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, इरोड, पुणे (Pune), आगरा और गोवा में 42 परिसरों पर इस महीने के पहले सप्ताह में छापेमारी की गयी.

उसने कहा कि इन छापेमारी से बुनियादी संरचना के शीर्ष कॉरपोरेट घरानों द्वारा फर्जी अनुबंधों तथा बिलों के जरिये कर चोरी के बड़े रैकेट (Racket) का पता चला. हालांकि सीबीडीटी ने उन निकायों का नाम नहीं बताया, जिनके परिसरों पर छापेमारी की गयी.

सार्वजनिक बुनियादी सेवाओं पर खर्च की जानी थी यह रकम
सीबीडीटी (CBDT) ने कहा, 'सार्वजनिक बुनियादी संरचनाओं पर खर्च की जाने वाली राशि का एंट्री ऑपरेटरों, लॉबी करने वालों तथा हवाला डीलरों (Hawala Dealers) के जरिये हेर-फेर किया गया.'
Loading...

बयान में कहा गया कि पैसों का हेर-फेर करने में संलिप्त कंपनियां मुख्य तौर पर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और मुंबई (NCR and Mumbai) में स्थित हैं. इस तरह की एक अन्य कंपनी की तलाशी इस साल अप्रैल में ली गयी थी.

आंध्र प्रदेश के एक नामी गिरामी व्यक्ति को किया गया 150 करोड़ का भुगतान
सीबीडीटी ने कहा, 'जिन परियोजनाओं की राशि का हेर-फेर किया गया वे प्रमुख बुनियादी संरचना तथा आर्थिक तौर पिछड़ी श्रेणी (Economically Backward Class) से जुड़ी परियोजनाएं हैं. छापेमारी में आंध्र प्रदेश के एक नामी गिरामी व्यक्ति को 150 करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान करने के भी सबूत मिले हैं.'

उसने कहा, 'इप छापेमारी (Raid) में 4.19 करोड़ रुपये की अघोषित नकदी तथा 3.20 करोड़ रुपये के आभूषण भी बरामद किये गये.'

यह भी पढ़ें: मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर का खराब प्रदर्शन, सितंबर में घटा औद्योगिक उत्‍पादन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 9:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com