CPM नेता रामचंद्रन पिल्लई बोले, 'हां मैं था स्वयंसेवक, जाता था शाखा में, इस वजह से छोड़ा संघ'

CPM नेता रामचंद्रन पिल्लई बोले, 'हां मैं था स्वयंसेवक, जाता था शाखा में, इस वजह से छोड़ा संघ'
फोटो साभारः Facebook

सीपीएम (CPM) के सबसे वरिष्ठ पोलित ब्यूरो सदस्य एस रामचंद्रन पिल्लई (S Ramachandran Pillai), जिन्हें लोग SRP के नाम से जानते हैं उन्होंने स्वीकार किया है कि वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सदस्य हुआ करते थे और RSS की शाखाओं में भी जाया करते थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 1:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सीपीएम (CPM) के सबसे वरिष्ठ पोलित ब्यूरो सदस्य एस रामचंद्रन पिल्लई (S Ramachandran Pillai), जिन्हें लोग SRP के नाम से जानते हैं उन्होंने स्वीकार किया है कि वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सदस्य हुआ करते थे और RSS की शाखाओं में भी जाया करते थे.

एक स्थानीय न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए रामचंद्रन पिल्लई ने कहा कि वह 15 वर्ष की आयु तक स्वयंसेवक थे और शाखाओं में भी हिस्सा लेने के लिए जाया करते थे. जब वह 18 साल के हुए तो कम्युनिस्ट पार्टी में शामिल हो गए. उन्होंने कहा कि मैंने ये कदम इसलिए उठाया, क्योंकि मुझे अंतरराष्ट्रवाद से ज्यादा राष्ट्रवाद पसंद था.

आरएसएस प्रचारक हुआ करते थे पिल्लईः सूत्र
ऑर्गेनाइजर ने सूत्रों के हवाले से छापा है कि केरल के सीपीएम नेता एस रामचंद्रन पिल्लई एक आरएसएस प्रचारक हुआ करते थे और अनुभवी आरएसएस प्रचारक पी. माधवन के साथ उनके संबंध काफी अच्छे हुआ करते थे. उस वक्त सभी स्वयंसेवक पी. माधवन को माधवजी कहकर बुलाते थे.
जन्मभूमि के वरिष्ठ संपादक ने सीपीएम के राज्य सचिव बालाकृष्णन के एक बयान के जवाब में लेख लिखा था जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि राज्य के विपक्ष के नेता और कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के थे. लेख ने अब राज्य में एक राजनीतिक विवाद शुरू कर दिया है.



तस्करी मामले के बाद बढ़ा विवाद
दरअसल केरल में सोने की तस्करी घोटाला सामने आने के बाद सीपीएम और विपक्षी दलों के बीच विवाद काफी बढ़ गया है. इस घोटाले में केरल के मुख्यमंत्री विजयन का कार्यालय भी कथित रूप से शामिल था. हालांकि मुख्यमंत्री विजयन ने इन आरोपों का खंडन किया है, लेकिन इस पूरे मामले की नैतिक जिम्मेदारी लेने की मांग पर कुछ नहीं कहा है. उन्होंने भी प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर मामले में केंद्रीय एजेंसियों द्वारा जांच की मांग की है और कहा है कि राज्य सरकार जांच में पूरा सहयोग देगी. बताया जा रहा है कि सीबीआई की एक टीम ने मामले में प्रारंभिक जांच शुरू भी कर दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading