लाइव टीवी

कोरोना वायरस: वुहान में दवाएं पहुंचाने और फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए C-17 विमान भेजेगा भारत

भाषा
Updated: February 18, 2020, 11:15 PM IST
कोरोना वायरस: वुहान में दवाएं पहुंचाने और फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए C-17 विमान भेजेगा भारत
वायु सेना का सबसे बड़ा विमान सी-17 ग्लोबमास्टर चिकित्सा संबंधी सामान की बड़ी खेप चीन ले जाएगा और वुहान से और भारतीयों को वापस लाएगा. (File Photo)

एयर इंडिया (Air India) ने विमान भेजकर चीन से अब तक 640 भारतीयों को निकाला है. पिछले सप्ताह भारत ने घोषणा की थी कि वह चीन को दवाएं एवं अन्य चिकित्सा सामग्री भेजेगा.

  • भाषा
  • Last Updated: February 18, 2020, 11:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) कोरोना वायरस (Corona Virus) से प्रभावित चीन (China) के शहर वुहान (Wuhan) से और भारतीयों को निकालने तथा चीन को चिकित्सा सामग्री पहुंचाने के लिए 20 फरवरी को एक सी-17 सैन्य विमान वहां भेजेगा. सैन्य सूत्रों ने मंगलवार को पीटीआई को बताया कि वायु सेना (Indian Air force) का सबसे बड़ा विमान सी-17 ग्लोबमास्टर (C-17 Globemaster) चिकित्सा संबंधी सामान की बड़ी खेप चीन ले जाएगा और वुहान से और भारतीयों को वापस लाएगा.

विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) के अनुसार सरकार ने एयर इंडिया (Air India) के विमान भेजकर चीन से अब तक 640 भारतीयों को निकाला है. पिछले सप्ताह भारत ने घोषणा की थी कि वह चीन को दवाएं एवं अन्य चिकित्सा सामग्री भेजेगा.

चीन ने की भारत की तारीफ
इस बीच चीन के राजदूत सुन वीदोंग ने कोरोना वायरस से फैली महामारी से निपटने में चीन की मदद करने की पेशकश और एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए भारत की प्रशंसा की है. उन्होंने यह भी कहा कि हुबेई प्रांत में बचे भारतीयों में आज की स्थिति में संक्रमण का कोई मामला नहीं है तथा अधिकारी उनकी अच्छी तरह देखभाल कर रहे हैं.



India, Wuhan, Corona virus
भारत इससे पहले वुहान में फंसे 640 भारतीयों को निकाल चुका है. (File Photo)


चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने मंगलवार को बताया कि कोरोना वायरस से मृतक संख्या सोमवार को 1868 हो गयी वहीं इसके पुष्ट मामलों की संख्या 72,436 हो गयी है.

80 से 100 भारतीय अब भी फंसे
इससे पहले भारतीय अधिकारियों ने बताया था कि सबसे बुरी तरह प्रभावित वुहान और हुबेई प्रांत के अन्य इलाकों में अब भी 80 से 100 भारतीय फंसे हुए हैं और उनमें से कई भारत सरकार से उन्हें एयरलिफ्ट करने का अनुरोध कर रहे हैं.

इनमें वे 10 भारतीय भी शामिल हैं जो तेज बुखार की वजह से पिछली दो उड़ानों से भारत नहीं लौट पाए थे. उनकी सेहत में अब सुधार है और उनके इस तीसरी उड़ान से लौटने की उम्मीद है.

श्रीलंका, नेपाल और बांग्लादेश ने अपने-अपने नागरिकों को विमानों के जरिये निकाल लिया था जबकि 800 से 1000 पाकिस्तानी अब भी हुबेई में हैं.

Corona virus
कोरोना वायरस से अब तक 18 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है (File Photo)


18000 के पार हुई मरने वालों की संख्या
इस विषाणु से प्रभावित वुहान शहर में एक अस्पताल के प्रमुख की मौत हो गई और मृतक संख्या बढ़कर मंगलवार को 1,868 तक पहुंच गई. हुबेई प्रांत और इसकी राजधानी वुहान में इस विषाणु का प्रकोप जारी है. सोमवार को इस प्रांत में 93 और लोगों की इस विषाणु से मौत हो गई जबकि हेनान, हेबी और हनान प्रांतों में पांच मरीजों की मौत हो गई.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने मंगलवार को कहा कि इस बीमारी के चलते मरने वालों की संख्या सोमवार को बढ़कर 1,868 और प्रमाणित मामलों की संख्या बढ़कर 72,436 हो गई.

ये भी पढ़ें-
नहीं थम रही चीन में कोरोना वायरस से लोगों की मौत! 1868 लोग की गई जान

चीन में एक वरिष्ठ डॉक्टर की कोरोना वायरस से मौत, अबतक 1868 से अधिक लोग मरे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 11:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर