लाइव टीवी

सुप्रीम कोर्ट में बोले IAF अधिकारी- 1985 के बाद वायुसेना में शामिल नहीं हुआ कोई लड़ाकू विमान

भाषा
Updated: November 14, 2018, 9:57 PM IST
सुप्रीम कोर्ट में बोले IAF अधिकारी- 1985 के बाद वायुसेना में शामिल नहीं हुआ कोई लड़ाकू विमान
एयर मार्शल वी आर चौधरी और एयर मार्शल अनिल खोसला (दाहिनी ओर) -PTI

अटार्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने केन्द्र की ओर से जब बहस शुरू कीं तो पीठ ने कहा, ‘हम वायुसेना की जरूरतों पर गौर कर रहे हैं और राफेल विमानों पर वायुसेना अधिकारी से बात करना चाहते हैं. '

  • Share this:
एयर मार्शल वी आर चौधरी और वायुसेना के दो अन्य अधिकारी एयर वाइस मार्शल जे चालापति, एयर मार्शल अनिल खोसला , फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट की मदद के लिए बुधवार को उसके सामने पेश हुए. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की वाली पीठ के समक्ष वायु सेना के ये अधिकारी पेश हुए. पीठ ने इस मामले में उनकी मदद मांगी थी. अधिकारियों ने कोर्ट में बताया कि 1985 में सुखोई के बाद वायुसेना में कोई लड़ाकू विमान शामिल नहीं किया गया है.

अटार्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने बुधवार को दोपहर के भोज से पहले की पाली में केन्द्र की ओर से जब बहस शुरू कीं तो पीठ ने कहा, ‘हम वायुसेना की जरूरतों पर गौर कर रहे हैं और राफेल विमानों पर वायुसेना अधिकारी से बात करना चाहते हैं. हम इस मुद्दे पर वायुसेना के अधिकारी से सुनना चाहते हैं, रक्षा मंत्रालय के अधिकारी से नहीं.’

यह भी पढ़ें:  60 पूर्व नौकरशाहों का आरोप- नोटबंदी और राफेल डील की रिपोर्ट जानबूझकर टाल रहा CAG

पीठ ने अधिकारियों से वायुसेना में हाल में शामिल विमानों के बारे में पूछा. उन्होंने पीठ को बताया कि वायुसेना में सबसे बाद में सुखोई 30 विमानों को शामिल किया गया है. इन्हें 1985 में शामिल किया गया था. सुखोई 3.5 पीढ़ी का विमान है और वायुसेना के पास चौथी या पांचवीं पीढ़ी के विमान नहीं हैं. इस पर शीर्ष अदालत ने कहा कि इसका मतलब यह हुआ कि 1985 से बेड़े में विमानों को नहीं जोड़ा गया है. (भाषा इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें:  राफेल डील: सुप्रीम कोर्ट ने जांच की याचिका पर आदेश सुरक्षित रखा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2018, 9:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर