Assembly Banner 2021

UAE में भारत के सुखोई SU-30MKI ने लगाई दहाड़, अमेरिका-फ्रांस के साथ दिखाया दम

UAE में भारत के सुखोई SU-30MKI ने दिखाया अपना दम. (फोटो साभार-ANI)

UAE में भारत के सुखोई SU-30MKI ने दिखाया अपना दम. (फोटो साभार-ANI)

भारतीय वायुसेना के अधिकार के मुताबिक, संयुक्त अरब अमीरात में हुए इस हवाई युद्धाभ्यास में भारतीय वायुसेना के दो सी-17 विमान ने भी हिस्सा लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2021, 11:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत और अरब देशों के बीच बढ़ते रक्षा संबंधों में एक नया पड़ाव जुड़ गया है. शनिवार को भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) ने यूएई में बहुराष्ट्रीय सैन्य अभ्यास डेजर्ट फ्लैग में हिस्सा लिया. यूएई में संयुक्त अरब अमीरात, अमेरिका, फ्रांस, सऊदी अरब के साथ भारतीय वायुसेना ने युद्धाभ्यास किया. इन 6 देशों के अलावा जॉर्डन, ग्रीस, कतर, मिस्र और दक्षिण कोरिया ने इस युद्धाभ्यास में पर्यवेक्षक बलों के रूप में हिस्सा लिया.

इस सैन्य अभ्यास में भारतीय वायुसेना के एसयू-30-एमकेआई युद्धक विमान ने पहली बार हिस्सा लिया. भारतीय वायुसेना के अधिकारी के मुताबिक, संयुक्त अरब अमीरात में हुए इस हवाई युद्धाभ्यास में भारतीय वायुसेना के दो सी-17 विमान ने भी हिस्सा लिया. वायुसेना ने हाल ही में जोधपुर में फ्रांस के साथ सैन्य अभ्यास किया था. ‘Desert Knight 2021’ के तहत फ्रांस और भारत के राफेल विमानों ने एक साथ सैन्य अभ्यास किया था.

अरब देशों के साथ बढ़ रहा सहयोग
भारत और अरब देशों के बीच हालिया समय में सहयोग बढ़ता जा रहा है. सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे दोनों देशों के बीच सैन्य गठबंधन मजबूत करने के लिए सऊदी अरब और यूएई का दौरा किया था.
इस युद्धाभ्यास को यूएई के अल धाफ्रा एयरबेस पर आयोजित किया गया. यह वही एयरबेस है, जहां फ्रांस से भारत आते समय राफेल विमानों की पहली खेप ने थोड़े समय तक आराम किया था.



ये भी पढ़ेंः- भारत-बांग्लादेश के बीच 5 समझौते, PM मोदी ने शेख हसीना को सौंपी 109 एंबुलेंस, 12 लाख कोरोना वैक्सीन

ऐसे में सामरिक रूप से बेहद अहम अदन की खाड़ी के नजदीक स्थित इस एयरबेस से ऑपरेट करने से भारत की सामरिक ताकत और सभी सहयोगी देशों के साथ दोस्ती भी मजबूत हो रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज