कुलभूषण जाधव मामला: ICJ में एक बार फिर भारत बनाम पाकिस्तान

पाकिस्तान का नकारात्मक रुख देख भारत ने 8 मई 2017 को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था और कहा था कि कॉन्सुलर एक्सेस ने देकर पाकिस्तान ने वियना संधि का उल्लंघन किया है.

News18Hindi
Updated: February 12, 2019, 11:40 PM IST
कुलभूषण जाधव मामला: ICJ में एक बार फिर भारत बनाम पाकिस्तान
कुलभूषण जाधव (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: February 12, 2019, 11:40 PM IST
(शैलेंद्र वांगु)
कुलभूषण जाधव मामले पर भारत और पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में अगले सप्ताह फिर आमने-सामने होंगे. जाधव को इंसाफ दिलाने के लिए भारत इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) में बड़ी लड़ाई लड़ने को तैयार है. 18 फरवरी से संयुक्त राष्ट्र की अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में 4 दिनों तक मामले की सुनवाई होगी.

सुनवाई की शुरुआत भारत के पक्ष से होगी, वहीं पाकिस्तान अगले दिन यानी 19 फरवरी को अपना पक्ष रखेगा. 20 फरवरी को दूसरे राउंड में पाकिस्तान द्वारा रखे गए पक्ष पर भारत जवाब देगा. वहीं पाक को यह मौका 21 फरवरी को मिलेगा. कुलभूषण जाधव भारतीय नागरिक है, पाक की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई ने जाधव का अपहरण ईरान से किया था. बाद में पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने उन्हें जासूस बताकर मौत की सज़ा सुनाई थी.

25 मार्च 2016 से भारत लगातार जाधव की कॉन्सुलर एक्सेस की मांग कर रहा है. 2016 में ही पाक में भारतीय उच्चायोग को जाधव की गिरफ्तारी की जानकारी मिली थी. लेकिन आजतक पाकिस्तान ने जाधव का कॉन्सुलर एक्सेस नहीं दिया. कॉन्सुलर एक्सेस न देने के पीछे पाकिस्तान जाधव के जासूस होने का हवाला देता है.

पाकिस्तान का नकारात्मक रुख देख भारत ने 8 मई 2017 को अंतरराष्ट्रीय कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था और कहा था कि कॉन्सुलर एक्सेस ने देकर पाकिस्तान ने वियना संधि का उल्लंघन किया है. जिसके तहत एक-दूसरे के गिरफ्तार नागरिकों को कॉन्सुलर एक्सेस देना ज़रूरी है. कोर्ट ने 18 मई 2017 को जाधव की फांसी पर रोक लगा दी थी और कहा था कि मामले की सुनवाई पूरी न होने तक पाक जाधव को फांसी न दे.



ये भी पढ़ें: सऊदी, UAE और चीन, एक साल में कितनों का कर्जदार पाकिस्तान?

25 दिसंबर 2017 में पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी को जाधव से मिलने की इजाज़त दी थी. लेकिन, इस मुलाकात का तमाशा बना दिया था. मुलाकात के दौरान जाधव की पत्नी का मंगलसूत्र भी उतरवाया गया था.
Loading...

ये भी पढ़ें: पाकिस्‍तान जाएंगे सऊदी प्रिंस, पांच ट्रक भरकर सामान भेजा, दो बड़ी होटलें पूरी बुक

कुलभूषण मामले में कब क्या हुआ?

25th मार्च 2016: भारत को जाधव की हिरासत की जानकारी मिली
10 अप्रैल 2017: पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने जाधव को मौत की सज़ा सुनाई
8 मई 2017: भारत ने आईसीजे का दरवाज़ा खटखटाया
15 मई 2017: मामले में सुनवाई हुई
18 मई 2017: आईसीजे ने फांसी पर रोक लगाई
25 दिसंबर 2017: जाधव की मां और पत्नी ने पाक जाकर जाधव से मुलाकात की
28 दिसंबर 2017: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस मुलाकात की जानकारी संसद को दी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...