भारत में दोबारा कोरोना संक्रमण होने की अवधि 100 दिन, अब तक मिले 3 केस: ICMR

देश में लोगों को दोबारा भी हो रहा कोरोना संक्रमण.
देश में लोगों को दोबारा भी हो रहा कोरोना संक्रमण.

ICMR के मुताबिक डब्‍ल्‍यूएचओ के उपलब्‍ध डाटा से यह जानकारी मिली है कि दुनियाभर में दोबारा कोरोना संक्रमण (Coronavirus) होने के केस करीब 24 के आसपास हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 10:24 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) से दोबारा संक्रमित होने के अब तक तीन मामले दर्ज किए गए हैं. इनमें से दो मुंबई और एक अहमदाबाद में सामने आए हैं. इसके साथ ही भारत में किसी भी व्‍यक्ति में दोबारा कोरोना वायरस संक्रमण की पहचान होने में लगने वाली अवधि 100 दिन है. यह जानकारी भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने दी है.

बलराम भार्गव ने कहा कि आईसीएमआर ने भारत में दोबारा कोरोना संक्रमण होने पर उसकी पहचान की मियाद 100 दिन तय करने का फैसला किया है. यहां तक कि अभी तक विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की ही ओर से कोई अवधि तय नहीं की गई है. एंटीबॉटी की उम्र करीब चार महीने मानी जाती है. उन्होंने कहा, 'दोबारा संक्रमण का पहला केस हांगकांग के मामले में आया. उसी प्रकार कुछ मामलों का उल्लेख भारत में हुआ है.'

भार्गव ने बताया कि डब्‍ल्‍यूएचओ के उपलब्‍ध डाटा से यह जानकारी मिली है कि दुनियाभर में दोबारा कोरोना होने के केस करीब 24 के आसपास हैं. हम आईसीएमआर के डाटा बेस में देख रहे हैं. इससे दोबारा संक्रमण से ग्रसित होने वालों की पहचान कर उन लोगों से फोन के जरिये संपर्क साधा जा रहा है.

वहीं स्‍वास्‍थ्‍य सचिव राजेश भूषण का कहना है कि कोरोना वायरस के कारण देश में अब तक 35 फीसदी मौतें 45 से 60 साल के बीच के लोगों की हुई हैं. ऐसे में ये उम्र समूह सबसे अधिक खतरे में है. वहीं देश में अब लगातार कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में गिरावट दर्ज की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज