सीरो सर्वे का दावा-देश की 21 फीसदी आबादी कोविड-19 की चपेट में आई

भारत में कोविड-19 का खतरा अभी भी, सीरो सर्वे की चेतावनी : आईसीएमआर

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने कहा कि 17 दिसंबर से 8 जनवरी तक किए गए सर्वेक्षण में 21.5 प्रतिशत लोगों में कोविड-19 के जोखिम के सबूत मिले हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि 19 दिनों में 45 लाख लाभार्थियों को कोरोना वायरस वैक्सीन दिया जा चुका है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. सरकार ने गुरुवार को कहा कि तीसरे देशव्यापी सीरो सर्वेक्षण (Sero survey) से पता चला है कि जनसंख्या का एक बड़ा हिस्सा अभी भी कोविड-19 (Covid-19) की चपेट में है. इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने एक प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि 17 दिसंबर से 8 जनवरी तक किए गए सर्वेक्षण में शामिल हुए कुल लोगों में से 21.5 प्रतिशत लोगों में पहले हुए कोविड-19 वायरस के संक्रमण के लक्षण मिले हैं.

    नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल ने कहा कि हेल्थकेयर वर्कर्स को 13 फरवरी से कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी खुराक मिलना शुरू हो जाएगी. कोविड-19 के खिलाफ राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान का पहला चरण 16 जनवरी को शुरू हुआ था. हेल्थकेयर वर्कर्स को अब तक केवल पहली खुराक दी गई है.

    साइड इफेक्‍ट्स की घटनाएं बहुत कम
    केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने देश भर में साइड इफेक्‍ट्स की घटनाओं के बारे में कहा कि देश में टीकाकरण (एईएफआई) की निगरानी के बाद प्रतिकूल घटनाओं से निपटने के लिए पहले से तैयार और मजबूत व्‍यवस्‍था थी. भूषण ने कहा, "कोविड-19 टीकाकरण के मद्देनजर इसे और मजबूत किया गया है. हमारे पास अब तक 8,563 एईएफआई हैं जबकि हमने लाखों में टीकाकरण किया है. यह टीकाकरण कराने वाले लोगों का 0.18% है."

    18 दिनों में 40 लाख लोगों को वैक्‍सीन लगाकर सबसे तेज देश बना भारत
    स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि 19 दिनों में 45 लाख लाभार्थियों को कोरोना वायरस वैक्सीन दिया जा चुका है. भारत दुनिया का सबसे तेज देश बन गया, जिसने 40 लाख लोगों को कोविड-19 वैक्‍सीन मात्र 18 दिनों में लगाकर, यह उपलब्धि हासिल की.



    मंत्रालय ने कहा, "भारत ने 16 जनवरी को देशव्यापी COVID-19 टीकाकरण अभियान शुरू किया. हर दिन टीकाकरण करने वाले लाभार्थियों की संख्या में भी प्रगतिशील वृद्धि देखी गई है." 24 घंटे की अवधि में, 8,041 सत्रों में 3,10,604 लोगों को टीका लगाया गया था, अब तक 84,617 सत्र आयोजित किए गए हैं.  भारत का COVID-19 सक्रिय केस लोड 1.55 लाख (1,55,025) तक गिरा है और कुल संक्रमणों का सिर्फ 1.44 प्रतिशत शामिल है. पिछले कुछ हफ्तों में सक्रिय मामलों की संख्या में दिन-प्रतिदिन के बदलाव ने सक्रिय मामलों में लगातार गिरावट को दर्शाया है. आज भारत की पॉजिटिव रेट हर दिन 1.82 प्रतिशत है. मंत्रालय ने कहा, "भारत ने पिछले कुछ हफ्तों (19 दिनों) में दैनिक पॉजिटिव रेट को 2 प्रतिशत से नीचे बनाए रखा है." कुल ठीक हो चुके लोगों की संख्‍या 1,04,80,455 हो गई है.