लाइव टीवी

अंतरिक्ष में पुलाव-एग रोल और मूंग दाल का हलवा जैसे खानों का स्वाद चखेंगे गगनयान के यात्री

News18Hindi
Updated: January 7, 2020, 5:33 PM IST
अंतरिक्ष में पुलाव-एग रोल और मूंग दाल का हलवा जैसे खानों का स्वाद चखेंगे गगनयान के यात्री
अंतरिक्ष में अंतरिक्षयात्रियों को खाना गर्म करने केे लिए हीटर भी मिलेगा.

'गगनयान' (Gaganyaan) से अंतरिक्ष यात्रा पर जाने के लिए चार भारतीय ट्रेनिंग लेने जल्द ही रूस जाने वाले हैं. ट्रेनिंग के लिए चयनित भारतीय वायुसेना के इन टेस्टिंग पायलट्स (Space Explorers) के लिए खाने-पीने के सामान भी तैयार कर लिए गए हैं. पढ़ें ये रिपोर्ट:-

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2020, 5:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) अपने पहले मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन गगनयान (Mission Gaganyaan) को दिसंबर 2021 तक लॉन्च करने वाला है. 'गगनयान' से अंतरिक्ष यात्रा पर जाने के लिए चार भारतीय ट्रेनिंग लेने जल्द ही रूस जाने वाले हैं. ऐसे में दिलचस्प सवाल है कि ये यात्री स्पेस में क्या खाएंगे और क्या पियेंगे? रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन (DRDO) की मैसूर स्थित डिफेंस फूड रिसर्च लैब (DFRL) ने गगनयान के यात्रियों का मेन्यू शेयर किया है.

न्यूज़ एजेंसी ANI ने मैसूर स्थित डिफेंस फूड रिसर्च लैबरेटरी में बने खानों की फोटो जारी की है. इसके तहत गगनयान के यात्रियों को स्पेस में ठेठ देसी खाना मिलेगा. डिफेंस फूड रिसर्च लैब (DFRL) ने 'मिशन गगनयान' में जाने वाले यात्रियों के लिए 22 तरह का खाना तैयार किया है. यात्रियों को दाल फ्राई, वेज पुलाव, आलू पराठा, पालक पनीर, आलू मटर, उपमा, इडली, पोंगल, दलिया, वेज कट्‌ठी रोल, एग रोल, चिकन रोल, चिकन कोरमा और फ्रूट जूस परोसा जाएगा.

मेन्यू के मुताबिक, 'गगनयान' में सवार होकर अंतरिक्ष यात्रा पर जाने वाले यात्रियों को मूंगफली-गुड़ की चिक्की, सूजी और मूंग दाल का हलवा, आम, पापड़, बिस्किट, काजू, बादाम, अखरोट भी दिया जाएगा. मैसूर स्थित डिफेंस फूड रिसर्च लैबरेटरी ने विशेष वैज्ञानिक प्रक्रिया से ये खाना और ड्रिंक्स तैयार किए हैं.

मिलेंगे चाय-कॉफी के पाउडर

इसके अलावा चाय, कॉफी और फ्रूट जूस के पाउडर बनाए गए हैं. पानी और जूस के लिए खास तरह का पैकेट बनाया गया है, जो जीरो ग्रैविटी में भी सही रहेगा. अंतरिक्ष में ये न तो फटेगा और न ही सड़ेगा.

खाना गर्म करने के लिए मिलेगा हीटर
'गगनयान' में खाना गर्म करने के लिए हीटर की सुविधा भी मुहैया कराई जाएगी. स्पेस में पृथ्वी की गुरुत्वाकर्षण क्षमता खत्म हो जाती है, इसलिए गगनयान में खास तरह के बर्तन भी तैयार किए गए हैं. यात्रियों को इन्हीं बर्तनों में खाना परोसा जाएगा.कैसी होगी यात्रा?
मिशन गगनयान के तहत इसरो चार अंतरिक्षयात्रियों को पृथ्वी से 400 किमी. ऊपर स्पेस की सात दिन की यात्रा कराएगा. ये अंतरिक्षयात्री सात दिन तक पृथ्वी के लो-ऑर्बिट के चक्कर लगाएंगे. शुरुआत में गगनयान के लिए 25 पायलट्स चुने गए थे, शॉर्टलिस्ट के बाद इनकी संख्या 12 हो गई. अब इनमें से सिर्फ 4 ही रूस जाकर ट्रेनिंग लेंगे.

क्या है मिशन गगनयान?
दिसंबर 2021 को इसरो चार भारतीयों को अंतरिक्ष पर भेजेगा. इससे पहले दिसंबर 2020 और जुलाई 2021 में दो मानवरहित मिशन होंगे. दिसंबर 2021 में मानव मिशन भेजा जाएगा. इस पूरे मिशन की लागत 10 हजार करोड़ रुपये है.

यह भी पढ़ें...
एक उजाड़ अफ्रीकी देश जहां का राजा बना था एक भारतीय

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 7, 2020, 5:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर