Home /News /nation /

IGI Airport पर बोर्ड‍िंग पास स्कैन‍िंग में नहीं लगेगा वक्‍त, DMRC की तर्ज पर शुरू हुई ये सुव‍िधा

IGI Airport पर बोर्ड‍िंग पास स्कैन‍िंग में नहीं लगेगा वक्‍त, DMRC की तर्ज पर शुरू हुई ये सुव‍िधा

द‍िल्‍ली मेट्रो की तर्ज पर अब इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अब बोर्ड‍िंग पास जांच कराने में ज्‍यादा वक्‍त नहीं लगेगा. (File photo)

द‍िल्‍ली मेट्रो की तर्ज पर अब इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अब बोर्ड‍िंग पास जांच कराने में ज्‍यादा वक्‍त नहीं लगेगा. (File photo)

IGI Airport: इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर यात्रियों के बोर्डिंग पास स्कैन‍िंग में होने वाली देरी को दूर करने के ल‍िए कॉन्टेक्ट लैस ई-बोर्डिंग पास स्कैनिंग की शुरुआत की गई है. इस तरह के फ्लैप गेट (Flap Gate) द‍िल्‍ली मेट्रो की ओर से पहले ही लगाए हुए हैं. फिलहाल आईजीआई (IGI) के टर्मिनल-2 और टर्मिनल-3 पर इन फ्लैप गेटों के अलावा ई-क्योस्क भी लगाए जा रहे हैं. जल्द ही यह सिस्टम टर्मिनल-1 पर भी काम करना शुरू कर देगा.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. द‍िल्‍ली मेट्रो (Delhi Airport) की तर्ज पर अब इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Indira Gandhi International Airport) पर अब बोर्ड‍िंग पास जांच कराने में ज्‍यादा वक्‍त नहीं लगेगा. द‍िल्‍ली एयरपोर्ट ऑपरेटर कंपनी डायल (DIAL) की ओर से यात्रियों के बोर्डिंग पास स्कैन‍िंग में होने वाली देरी को दूर करने के ल‍िए कॉन्टेक्ट लैस ई-बोर्डिंग पास स्कैनिंग की शुरुआत की गई है. इस तरह के फ्लैप गेट (Flap Gate) द‍िल्‍ली मेट्रो की ओर से पहले ही लगाए हुए हैं.

    जानकारी के मुताब‍िक इस तरह के फ्लैप गेट (Flap Gate) लगने के बाद अब यात्री इन गेट से बोर्डिंग पास स्कैन करने के बाद ही यात्री टर्मिनल बिल्डिंग के अंदर सीआईएसएफ (CISF) चेकप्वाइंट पर जांच के लिए जा रहे हैं. फिलहाल आईजीआई (IGI) के टर्मिनल-2 और टर्मिनल-3 पर इन फ्लैप गेटों के अलावा ई-क्योस्क भी लगाए जा रहे हैं.

    इन सभी की मदद से यात्रियों के बोर्डिंग पास को स्कैन (Boarding Pass Scanning) करने में कोई देरी नहीं होगी. वहीं इस तरह की सुवि‍धाओं को बढ़ाते हुए जल्द ही यह सिस्टम टर्मिनल-1 पर भी काम करना शुरू कर देगा.

    ये भी पढ़ें: Omicron Variant: IGI Airport पर ओम‍िक्रॉन की रोकथाम को बनाया फुलप्रूफ प्‍लान, RTPCR जांच को बनाए इतनी बड़ी संख्या में काउंटर्स 

    बोर्डिंग पास स्कैनिंग की प्रक्रिया पूरी तरह से हो जाएगी डिजिटल
    डायल अध‍िकार‍ियों का कहना है कि इन सभी के लगने से बोर्डिंग पास स्कैनिंग की प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटल हो जाएगी. इससे यात्रियों के बोर्डिंग पास की जांच में देरी नहीं होगी. हालांकि बैकअप के तौर पर मैनुअल इंतजाम भी रखा जाएगा. आमतौर पर अब बोर्डिंग पास स्कैनिंग के लिए फ्लैप गेट और ई-क्योस्क से ही इंट्री दी जाएगी. यहां यात्री की तमाम डिटेल जांच होने के बाद फ्लैप गेट यात्री को हवाई जहाज में बैठने के लिए ग्रीन सिग्नल देगा.

    Tags: Delhi airport, Delhi news, DIAL, IGI airport, International Airport

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर