Assembly Banner 2021

जून में होगा IIT के पूर्व छात्रों का शिखर सम्‍मेलन, J&K के उपराज्‍यपाल ने की घोषणा

आईआईटी के पूर्व विद्यार्थियों के फोरम द्वारा वर्चुअल  शिखर सम्‍मेलन का आयोजन 26 और 27 जून को किया जाएगा. (file)

आईआईटी के पूर्व विद्यार्थियों के फोरम द्वारा वर्चुअल शिखर सम्‍मेलन का आयोजन 26 और 27 जून को किया जाएगा. (file)

Global Virtual Technology Summit PI-WOT 2021: जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बताया है कि आईआईटी के पूर्व विद्यार्थियों के फोरम द्वारा वर्चुअल शिखर सम्‍मेलन का आयोजन 26 और 27 जून को किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 10:21 PM IST
  • Share this:
नयी दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा  (Lieutenant Governor Manoj Sinha) ने पैनआईआईटी  (PanIIT Alumni India)  के  वैश्विक आभासी प्रौद्योगिकी शिखर सम्मेलन 2021 (Global Virtual Technology Summit PI-WOT 2021)  के आयोजन की गुरुवार को घोषणा की. इस सम्मेलन का उद्देश्य भविष्य को परिभाषित करने और बदलने के लिए सभी इनोवेटर्स, विचारकों, पाथफाइंडर, शोधकर्ताओं और चेंजमेकर्स को एक साथ लाना है.

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) के पूर्व विद्यार्थियों के मंच पैनआईआईटी एलुमनी इंडिया द्वारा आयोजित किए जा रहे इस सम्मेलन को पैनआईआईटी-वर्ल्ड ऑफ टेक्नोलॉजी (पि-वोट) नाम दिया गया है. एक विज्ञप्ति में इसकी जानकारी दी गयी.

ये भी पढ़ें: अयोध्या: राम मंदिर के नीचे मिली सरयू की धारा, नींव निर्माण में नई परेशानी; IIT से मांगी मदद



विज्ञप्ति के अनुसार, इस सम्मेलन का आयोजन 26 और 27 जून 2021 को होगा. इसमें 15 हजार प्रतिभागियों के शामिल होने की उम्मीद की जा रही है. इसमें स्टार्टअप शोकेस को भी प्रस्तुत किया जायेगा. सम्मेलन में हैकॉथन का भी आयोजन किया जायेगा.
ये भी पढ़ें: QS World University Ranking : भारत के 12 इंस्टीट्यूट टॉप-100 में शामिल, यहां देखें रैंकिंग

विज्ञप्ति में कहा गया कि सम्मेलन के लिये पैनआईआईटी एलुमनी इंडिया की वेबसाइट पर नि:शुल्क पंजीयन कराया जा सकता है. पैनआईआईटी एलुमनी इंडिया के अध्यक्ष कृष्ण धर ने कहा, 'सम्मेलन का उद्देश्य प्रौद्योगिकी के विभिन्न क्षेत्रों में अवसरों और संभावनाओं के विकास में नयी सोच को पेश करना है.'

पैनआईआईटी ने अपने ग्लोबल वर्चुअल टेक्नोलॉजी समिट PI-WOT 2021 के लॉन्च की घोषणा करते हुए अपनी वेबसाइट पर बताया है कि इस सदी की शुरुआत से ही तकनीकी नवाचार प्रभावी रहे हैं. आम जीवन में इस टेक्‍नोलॉजी का हर पहलू पर असर पड़ा है. तकनीक के जरिए जीवन में निर्णायक परिवर्तन लाया जा सकता है, इसी इनोवेशन से हम अपना भविष्‍य भी सुधार सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज