Home /News /nation /

IIT-BHU भी टाइम्स हायर रैंकिंग में नहीं लेगा हिस्सा, किया बॉयकाट

IIT-BHU भी टाइम्स हायर रैंकिंग में नहीं लेगा हिस्सा, किया बॉयकाट

पिछले साल की रेटिंग चौंकाने वाली थी. किसी भी इंडियन इंस्टिट्यूट को टॉप 200 में जगह नहीं मिली. आईआईटी रोपड़ (IIT Ropar), आईआईटी इंदौर (IIT Indore) जैसे संस्थान जो कि पिछले लिस्ट में टॉप रैंकर्स थे, उनके इसमें फिर से हिस्सा लेने की उम्मीद है.

पिछले साल की रेटिंग चौंकाने वाली थी. किसी भी इंडियन इंस्टिट्यूट को टॉप 200 में जगह नहीं मिली. आईआईटी रोपड़ (IIT Ropar), आईआईटी इंदौर (IIT Indore) जैसे संस्थान जो कि पिछले लिस्ट में टॉप रैंकर्स थे, उनके इसमें फिर से हिस्सा लेने की उम्मीद है.

पिछले साल की रेटिंग चौंकाने वाली थी. किसी भी इंडियन इंस्टिट्यूट को टॉप 200 में जगह नहीं मिली. आईआईटी रोपड़ (IIT Ropar), आईआईटी इंदौर (IIT Indore) जैसे संस्थान जो कि पिछले लिस्ट में टॉप रैंकर्स थे, उनके इसमें फिर से हिस्सा लेने की उम्मीद है.

अधिक पढ़ें ...
    देश के सात आईआईटी (IIT) के नक्शे कदम पर चलते हुए आईआईटी बीएचयू (IIT BHU) ने भी सोमवार को कहा कि यह भी टाइम्स के हायर एजुकेशन रैंकिंग (Times Higher Education Ranking) में भाग नहीं लेगा. इससे पहले आईआईटी मंडी (IIT Mandi) ने भी इसमें भाग न लेने की बात कही थी लेकिन साथ ही यह भी कहा कि उसने इससे पहले भी टाइम्स हायर रैंकिंग और क्यूएस रैंकिंग (QS Ranking) में भाग नहीं लिया था.

    इसका सीधा सा मतलब है कि भारत के कम से कम 9 बेहतरीन संस्थान टाइम्स हायर एजुकेशन रैंकिंग में हिस्सा नहीं लेंगे. हालांकि, आईआईटी रोपड़ (IIT Ropar), आईआईटी इंदौर (IIT Indore) जैसे संस्थान जो कि पिछले लिस्ट में टॉप रैंकर्स थे, उनके इसमें फिर से हिस्सा लेने की उम्मीद है.

    IIT BHU के डायरेक्टर प्रोफेसर प्रमोद कुमार जैन ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि टाइम्स हायर एजुकेशन रैंकिंग को लेकर पहले भी सवाल उठते रहे हैं. यह मुद्दा लंबे समय से चर्चा में रहा है. इसीलिए हमने भी कुछ और आईआईटी की तरह इसमें हिस्सा न लेने के बारे में फैसला लिया है.

    इससे पहले जिन सात आईआईटी ने रैंकिंग में हिस्सा लेने से मना किया था उनका कहना था कि अगर टाइम्स हायर एजुकेशन अपनी रैंकिंग प्रक्रिया में मापदंडों और पारदर्शिता के बारे में इन संस्थानों को सही से समझा पाता है, तो वे अपने फैसले पर अगले साल के लिए पुनर्विचार करेंगे. इन संस्थानों में आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी दिल्ली, आईआईटी गुवाहाटी, आईआईटी कानपुर, आईआईटी खड़गपुर, आईआईटी मद्रास और आईआईटी रुड़की शामिल हैं. गौरतलब है कि टाइम्स हायर एजुकेशन दुनियाभर के प्रमुख उच्च शिक्षण संस्थानों की रैंकिंग करता है.

    बता दें कि पिछले साल की रेटिंग चौंकाने वाली थी. किसी भी इंडियन इंस्टिट्यूट को टॉप 200 में जगह नहीं मिली. वहीं 2008 में स्थापित आईआईटी रोपड़ ने इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी), बेंगलुरु के आसपास जगह बनाई. उनको दुनिया की टॉप 301-350 यूनिवर्सिटियों में जगह मिली थी. आईआईटी इंदौर को 351-400 यूनिवर्सिटियों में टॉप रैंक मिली. आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी दिल्ली और आईआईटी खड़गपुर को निचली रैंकिंग 401-500 मिली थी.

    Tags: Career Guidance, IIT, IIT Exam, Job and career

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर