Home /News /nation /

iit madras developed new technology effective in protecting air traffic control from attack

आईआईटी मद्रास ने विकसित की नई तकनीक, एयर ट्रैफिक कंट्रोल को हमले से बचाने में होगी कारगर

आईआईटी मद्रास ने हवाई यातायात नियंत्रण को लेकर विकसित की नई तकनीक (इमेज- इंटरनेट)

आईआईटी मद्रास ने हवाई यातायात नियंत्रण को लेकर विकसित की नई तकनीक (इमेज- इंटरनेट)

IIT Madras: लक्षित हमले के दौरान हवाई यातायात नियंत्रण और बिजली वितरण जैसे महत्वपूर्ण नेटवर्क में व्यवधान को कम करने के लिए आईआईटी मद्रास ने एक ‘एल्गोरिदम’-संचालित अनूठी युक्ति विकसित की है. शोधकर्ताओं की ओर से विकसित की गई इस युक्ति के तहत किसी संवेदनशील नेटवर्क को मजबूती प्रदान करने के लिए दिये गये नेटवर्क की विवेकपूर्ण तरीके से री-वायरिंग करते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) मद्रास के शोधकर्ताओं ने लक्षित हमले के दौरान हवाई यातायात नियंत्रण और बिजली वितरण जैसे महत्वपूर्ण नेटवर्क में व्यवधान को कम करने के लिए एक ‘एल्गोरिदम’-संचालित अनूठी युक्ति विकसित की है.

    अधिकारियों के अनुसार, ‘इंटरनेट ऑफ थिंग्स’ आधारित तकनीकों को व्यापक रूप से समाज में लागू किया जा रहा है, ऐसी स्थिति में इस प्रकार का नेटवर्क बनाना सर्वोच्च महत्व का है, जो इस तरह के हमलों के वक्त उपयोगी साबित हो सके. इस बारे में एक समीक्षा प्रसिद्ध अंतरराष्ट्रीय पत्रिका ‘फिजिका ए: स्टैटिस्टिकल मैकेनिक्स एंड इट्स एप्लीकेशन्स’ में प्रकाशित किया गया है.

    आईआईटी, मद्रास स्थित रॉबर्ट बॉश सेंटर फॉर डेटा साइंस एंड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के कोर सदस्य कार्तिक रमण ने बताया, ‘‘11 सितंबर 2001 के आतंकवादी हमले में केवल एक दिन में एक ही देश को निशाना बनाया गया था, जिसके परिणामस्वरूप संपूर्ण एयरलाइन उद्योग ठप हो गया था. इस तरह के खतरे यह बताते हैं कि आज की अत्यधिक परस्पर जुड़ी दुनिया में उच्च जोखिम भी मौजूद है, जहां एक प्रतिकूल घटना पूरे नेटवर्क में व्यवधान उत्पन्न कर सकती है.’’

    ऐसे सुरक्षा उपाय तैयार करना जरूरी

    उन्होंने कहा, ‘‘हवाई यातायात, सड़क यातायात, बिजली वितरण अवसंरचना और यहां तक कि सोशल मीडिया मंच सभी अत्यधिक जुड़े नेटवर्क के उदाहरण हैं और इसलिए ये लक्षित हमलों की दृष्टि से अत्यधिक संवेदनशील हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘विभिन्न प्रकार के तकनीकी नेटवर्क आधुनिक विश्व के बुनियादी ढांचे की रीढ़ हैं, और इन नेटवर्क को विफलताओं और लक्षित हमलों, दोनों से बचाने के लिए सुरक्षा उपाय तैयार करना बहुत आवश्यक है.’’

    यह भी पढ़ें: चीन के रनवे पर टेकऑफ के वक्त फिसला तिब्बत एयरलाइंस का प्लेन, सभी यात्री बचाए गए

    शोधकर्ताओं की ओर से विकसित की गई इस युक्ति के तहत किसी संवेदनशील नेटवर्क को मजबूती प्रदान करने के लिए दिये गये नेटवर्क की विवेकपूर्ण तरीके से री-वायरिंग करते हैं.

    रणनीति को एक एल्गोरिदम के माध्यम से कार्यान्वित किया जाता है, जो नेटवर्क में अतिरिक्त क्षमता बनाने का एक तरीका सुझाता है, ताकि यदि नेटवर्क के एक नोड (कई संस्थाओं से जुड़ी एक इकाई) पर हमला किया जाए, तो प्रभावित नोड के ‘ट्रैफिक’ को इस अतिरिक्त क्षमता के माध्यम से व्यवस्थित किया जा सकता है, ताकि नेटवर्क काम करता रहे.

    उल्लेखनीय है कि एल्गोरिदम गणितीय निर्देशों या नियमों का एक सेट होता है, जिससे किसी समस्या का समाधान करने में मदद मिलती है. आईआईटी, मद्रास द्वारा विकसित युक्ति का परीक्षण हवाई यातायात और बिजली वितरण के दो बुनियादी ढांचे नेटवर्क पर किया गया है.

    Tags: Airport Security, Airports, IIT Madras

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर