घर-घर जाकर हो टीकाकरण, तभी कोरोना की तीसरी लहर से होगा बचाव, IMA अध्‍यक्ष का सुझाव

कोरोना वैक्‍सीन का टीकाकरण बढ़ाने का सुझाव दे रहे हैं विशेषज्ञ. (File pic)

Coronavirus in India: डॉ. जीए जयालाल का कहना है कि अगर हम मास वैक्‍सीनेशन या बड़ी आबादी के टीकाकरण की ओर नहीं बढ़ेंगे तो कोरोना की आगामी तीसरी लहर में हम सुरक्षित नहीं रहेंगे.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. भारत में कोरोना संक्रमण (Coronavirus in India) की दूसरी लहर का कहर जारी है. हालांकि अब कोरोना संक्रमण (Covid 19) के नए मामलों में कमी देखने को मिली है, लेकिन अधिक संख्‍या में मौतों का सिलसिला लगातार जारी है. इस बीच विशेषज्ञों की ओर से कोरोना की तीसरी लहर (Corona Third Wave) को लेकर भी सचेत किया जा रहा है. ऐसे में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के अध्‍यक्ष डॉ. जीए जयालाल ने इस तीसरी लहर से बचने के लिए कुछ अहम सुझाव दिए हैं.

    डॉ. जीए जयालाल का कहना है कि आगे बढ़ने का एक ही रास्‍ता है, वो है टीकाकरण. अगर हम मास वैक्‍सीनेशन या बड़ी आबादी के टीकाकरण की ओर नहीं बढ़ेंगे तो कोरोना की आगामी तीसरी लहर में हम सुरक्षित नहीं रहेंगे. मास वैक्‍सीनेशन को किया जाना चाहिए. केंद्र सरकार को अधिकतम वैक्‍सीन खरीदनी चाहिए और लोगों तक पहुंचानी चाहिए. यहां तक कि सरकार को घर-घर टीकाकरण की सुविधा भी शुरू करनी चाहिए. देश में अब तक 18 करोड़ से अधिक लोगों का टीकाकरण हो चुका है.

    बता दें कि भारत में एक दिन में कोविड-19 से 4,529 और लोगों की मौत के बाद देश में संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 2,83,248 हो गई. स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, एक दिन में कोविड-19 के 2,67,334 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,54,96,330 हो गई.

    आंकड़ों के अनुसार, उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कमी आई है और अभी देश में 32,26,719 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 12.66 प्रतिशत है. अभी तक कुल 2,19,86,363 लोग संक्रमण मुक्त भी हो चुके हैं और मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 86.23 प्रतिशत है. वहीं, कोविड-19 से मृत्यु दर 1.11 प्रतिशत है.

    भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार, देश में अभी तक कुल 32,03,01,177 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है. इनमें से 20,08,296 नमूनों की जांच मंगलवार को की गई.