Assembly Banner 2021

कोरोना वैक्सीनेशन में 18 साल से अधिक के सभी लोगों को शामिल करें, IMA की पीएम मोदी से अपील

नई दिल्ली में कोरोना वायरस की वजह से मरे एक व्यक्ति को स्वास्थ्य कर्मी शवदाहगृह लेकर जाते हुए. (Reuters/24 June 2020)

नई दिल्ली में कोरोना वायरस की वजह से मरे एक व्यक्ति को स्वास्थ्य कर्मी शवदाहगृह लेकर जाते हुए. (Reuters/24 June 2020)

Coronavirus Vaccination in India: आईएमए ने कहा है कि महामारी की दूसरी लहर रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गई है. उसने कहा कि सभी चिकित्सकों के पास टीके की उपलब्धता का टीकाकरण अभियान पर सकारात्मक प्रभाव होगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश भर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर देश भर के उन सभी लोगों को टीकाकरण में शामिल करने का सुझाव दिया है जिनकी उम्र 18 वर्ष से अधिक है. देश में पिछले तीन दिन से प्रत्येक दिन कोरोना वायरस संक्रमण के 90 हजार से अधिक नये मामले सामने आये हैं. देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,26,86,049 पर पहुंच गयी है. एक दिन पहले देश में संक्रमण के 1,03,558 नये मामले सामने आये.

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा, ‘‘मौजूदा समय में हम 45 साल से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण कर रहे हैं. संक्रमण की दूसरी लहर में तेजी से हो रहे प्रसार को देखते हुए हमारा सुझाव है कि टीकाकरण अभियान की रणनीति को तत्काल प्रभाव से युद्ध स्तर पर बढ़ाया जाये.’’ चिकित्सकों के संगठन ने कहा, ‘‘कोविड-19 टीकाकरण अभियान के संबंध में हमारा सुझाव है कि 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीकाकारण की अनुमति दी जाये और कोविड टीकाकरण की सुविधा हर व्यक्ति के लिये मुफ्त एवं निकटतम संभावित स्थान पर उपलब्ध होना चाहिये.’’

Youtube Video




आईएमए ने यह भी सुझाव दिया है कि निजी क्षेत्र के क्लीनिकों को निजी अस्पतालों के साथ सक्रिय रूप से टीकाकरण अभियान में शामिल किया जाना चाहिये. संगठन के सुझाव में कहा गया है कि सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश एवं जन वितरण प्रणाली के तहत सामान प्राप्त करने के लिये टीकाकरण प्रमाण पत्र अनिवार्य किया जाना चाहिये.

आईएमए ने कहा है कि महामारी की दूसरी लहर रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गयी है. उसने कहा कि सभी चिकित्सकों के पास टीके की उपलब्धता का टीकाकरण अभियान पर सकारात्मक प्रभाव होगा. संगठन ने बड़े पैमाने पर टीकाकरण को लागू करने तथा विश्वास बहाली के लिये सार्वजनिक एवं निजी भागीदारी के साथ जिला स्तर पर टीकाकरण कार्यबल के गठन का सुझाव दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज