5 दिन तक गुजरात में भारी बारिश का अलर्ट, जानें आपके राज्य में क्या होगा मौसम का हाल

शुक्रवार को भी वडोदरा में बारिश होती रही और इलाकों में लोगों को जलभराव का सामना करना पड़ा.

News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 6:06 PM IST
5 दिन तक गुजरात में भारी बारिश का अलर्ट, जानें आपके राज्य में क्या होगा मौसम का हाल
शुक्रवार को भी वडोदरा में बारिश होती रही और इलाकों में लोगों को जलभराव का सामना करना पड़ा. (PTI Photo)
News18Hindi
Updated: August 2, 2019, 6:06 PM IST
गुजरात में बारिश थमने का नाम नहीं ले रही है. यहां के वडोदरा, अमहदाबाद समेत कई शहरों में मूसलाधार बारिश जारी है. अहमदाबाद मौसम विभाग के निदेशक जयंत सरकार ने कहा कि अगले 5 दिनों में गुजरात में भारी बारिश होगी.

जयंत सरकार ने कहा कि शुरुआती दो दिनों में भारी बारिश होगी और तीसरे दिन बहुत भारी बारिश और चौथे और पांचवें दिन कम बारिश होने की संभावना है. बता दें लगातार हो रही बारिश के चलते वडोदरा में कई स्कूल 1 अगस्त तक के लिए बंद कर दिए गए थे. वहीं जिले का हवाई अड्डा भी बंद कर दिया गया था.

शुक्रवार को भी वडोदरा में बारिश होती रही और कई इलाकों में लोगों को जलभराव का सामना करना पड़ा. एनडीआरएफ और राज्य आपदा बल की टीमें प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई हैं.

वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार सुबह मौसम गर्म रहा और न्यूनतम तापमान मौसम के औसत से एक डिग्री सेल्सियस अधिक दर्ज किया गया. मौसम विभाग के मुताबिक, सुबह साढ़े आठ बजे आर्द्रता का स्तर 80 प्रतिशत दर्ज किया गया. मौसमविदों ने कहा, 'आमतौर पर बादल छाये रहेंगे. दिन में हल्की बारिश होने का अनुमान है.' उन्होंने कहा कि अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस के करीब बने रहने का अनुमान है. गुरुवार को न्यूनतम तापमान 27.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम तापमन 36.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

यह भी पढ़ें:  अजमेर: भारी बारिश के 24 घंटे बाद भी हालात नहीं हुए सामान्य

शुक्रवार को भी वडोदरा में बारिश होती रही और कई इलाकों में लोगों को जलभराव का सामना करना पड़ा. (PTI Photo)


राजस्थान के दो जिलों में असामान्य बारिश
Loading...

इसके साथ राजस्थान के 33 में से 10 जिलों में अब तक सामान्य से ज्यादा बारिश और दो जिलों में असामान्य बारिश दर्ज की गई है. जल संसाधन विभाग के अनुसार, 14 जिलों सहित पूरे राज्य में सामान्य बारिश बारिश दर्ज की गई.

सात जिलों में सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई वहीं राज्य के किसी भी जिले में बहुत कम बारिश नहीं हुई. विभाग के अनुसार एक जून से एक अगस्त तक राज्य में 287.21 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई जो कि सामान्य बारिश 254.98 मिलीमीटर के मुकाबले ज्यादा है.

झुंझुनूं और सीकर में असामान्य बारिश (60 प्रतिशत से अधिक) जबकि अजमेर, भीलवाड़ा, बूंदी, चूरू, जयपुर, कोटा, नागौर, प्रतापगढ़, राजसमंद और सवाईमाधोपुर में सामान्य से ज्यादा बारिश दर्ज की गई. मौसम विभाग के अनुसार आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के पूर्वी इलाकों के एक- दो स्थानों पर मूसलाधार बारिश और कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है.

यह भी पढ़ें:   ताबड़तोड़ बारिश ने महज दस दिन में बदल डाली प्रदेश की सूरत

गुजरात के ज्यादातर शहरों में भारी बारिश के बाद यही हालत है. (PTI Photo)


मुंबई में हो सकती है भारी बारिश
दूसरी ओर मौसम विभाग ने मुंबई में शनिवार देर रात और रविवार को भारी बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है. भारतीय मौसम विभाग के मुंबई कार्यालय में मौसमविज्ञान के उप महानिदेशक केएस होसालिकर ने ट्वीट किया, 'खाड़ी के ऊपर बन रहे कम दबाव के क्षेत्र की वजह से शनिवार रात और रविवार को मुंबई में भारी बारिश की संभावना है. इसके मद्देनजर पश्चिमी तट सहित इलाके में अलर्ट जारी किया गया है.'

मौसम विभाग की वेबसाइट के मुताबिक मौसम विभाग के सांताक्रूज केंद्र पर शुक्रवार को सुबह साढ़े आठ बजे समाप्त हुए 24 घंटे के दौरान 43.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. इसी अवधि में दक्षिण मुंबई के कोलाबा स्थित मौसम केंद्र पर 21.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई.

यह भी पढ़ें:  मुंबई के चांदिवली में दीवार गिरी, एक की मौत

(PTI Photo)


अगस्त और सितंबर में सामान्य रहने की उम्मीद
इससे पहले भारतीय मौसम विभाग ने गुरुवार को चार महीने के बारिश के मौसम के दूसरे भाग के पूर्वानुमान में कहा कि मानसून अगस्त और सितंबर में सामान्य रहने की उम्मीद है. गणना के रूप में, दो महीने की समयावधि में बारिश कुल मिलाकर देशभर में दीर्घावधि औसत (एलपीए) की सौ प्रतिशत रहने की संभावना है जिसमें आठ प्रतिशत अधिक या कम की आदर्श गलती हो सकती है.

अगस्त में बारिश एलपीए की 99 प्रतिशत रहने की संभावना है जिसमें नौ प्रतिशत अधिक या कम की गलती हो सकती है. विभाग ने कहा कि पूर्वानुमान कहता है कि दक्षिण पश्चिम मानसून सत्र के दूसरे भाग के दौरान देशभर में बारिश सामान्य (एलपीए का 94-106 प्रतिशत) रहने की संभावना है.

सामान्य मानसून का पूर्वानुमान
अप्रैल में, मौसम विभाग ने सामान्य मानसून का पूर्वानुमान लगाया था. आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि उत्तरी बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से अगले दो सप्ताह अच्छी बारिश होने की संभावना है.

भारत में आधिकारिक रूप से बारिश का मौसम जून से सितंबर तक का होता है. 31 जुलाई तक देश में कुल बारिश की कमी माइनस नौ प्रतिशत रही. 30 जून को कमी 33 प्रतिशत थी. आगामी दो महीने अच्छी बारिश की संभावना इसलिए है क्योंकि ‘अल नीनो’ सामान्य चरण में पहुंच गया है.

यह भी पढ़ें: गृहमंत्री की सलाह- बारिश नहीं हो रही है, करें भगवान की पूजा
First published: August 2, 2019, 5:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...